Crime News
  • गांजा तस्करी करते उड़ीसा का अंतर्राज्यीय गांजा तस्कर चिरंजीवी नायक गिरफ्तार
     पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार सिंह के दिशा निर्देश पर रायपुर पुलिस द्वारा निजात अभियान के तहत नशे के विरूद्ध विशेष अभियान चलाया जा रहा है, जिसमें समस्त थाना एवं एण्टी क्राईम एण्ड साईबर यूनिट की टीम द्वारा लगातार कार्यवाही की जा रहीं है। नारकोटिक्स एक्ट पर प्रभावी कार्यवाही करने हेतु एण्टी क्राईम एण्ड साईबर यूनिट की विशेष टीम का गठन किया गया है साथ ही समस्त थाना प्रभारियों को नशे की सामाग्री बिक्री करने वालों एवं सप्लाई करने वालों पर कठोर कार्यवाही करने निर्देशित किया गया है।
     
    इसी तारतम्य में दिनांक 27.05.24 को एण्टी क्राईम एण्ड साईबर यूनिट की टीम को सूचना प्राप्त हुई कि थाना कोतवाली क्षेत्रांतर्गत पुजारी पार्क के सामने रोड़ पास चारपहिया वाहन सवार एक व्यक्ति अपने पास गांजा रखा है तथा बिक्री करने की फिराक में है। जिस पर वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देशन में एण्टी क्राईम एण्ड साईबर यूनिट तथा थाना कोतवाली पुलिस की संयुक्त टीम द्वारा उक्त स्थान पर जाकर मुखबीर द्वारा बताये चारपहिया वाहन की पतासाजी करते हुए वाहन को चिन्हांकित कर वाहन में सवार व्यक्ति को पकड़ा गया। पूछताछ में व्यक्ति ने अपना नाम चिरंजीवी नायक निवासी जिला कालाहाण्डी (उडीसा) का होना बताया। टीम के सदस्यों द्वारा उसके कार की तलाशी लेने पर कार में गांजा रखा होना पाया गया। जिस पर आरोपी को गिरफ्तार कर उसके कब्जे से 05 किलो 156 ग्राम गांजा तथा गांजा परिवहन में प्रयुक्त अमेज कार क्रमांक ओ डी/08/एल/6600 जुमला कीमती लगभग 5,50,000/- रूपये जप्त कर आरोपी के विरूद्ध थाना कोतवाली में अपराध क्रमांक 195/24 धारा 20बी नारकोटिक एक्ट का अपराध पंजीबद्ध कर कार्यवाही किया गया। 
     
    गिरफ्तार आरोपी - चिरंजीवी नायक पिता गजेन्द्र नायक उम्र 28 साल निवासी सालेपड़ा थाना केगांव जिला कालाहाण्डी (उड़ीसा)।
     
    कार्यवाही में निरीक्षक सुधांशु बघेल थाना प्रभारी कोतवाली, एण्टी क्राईम एण्ड साईबर यूनिट से प्रभारी परेश पाण्डेय, सउनि. जमील खान, प्र.आर. कृपासिंधु पटेल, संतोष दुबे, आर. दिलीप जांगड़े, राजेन्द्र तिवारी तथा थाना कोतवाली से सउनि. प्रवीण प्रधान, डिकेश्वर साहू एवं शैलेष नेताम की महत्वपूर्ण भूमिंका रहीं।
  • CRIME : पेट्रोल पंप के मैनेजर से दिनदहाड़े 14 लाख की लूट, आरोपियों की तलाश में जुटी पुलिस

    राजनांदगांव : सोमवार को नेशनल हाईवे स्थित चिचोला के नजदीक पेट्रोल पंप के एक मैनेजर के साथ लाखों रुपए की लूटपाट की वारदात सामने आई है, यहां  तीन अज्ञात बदमाशों ने मैनेजर से 14 लाख लूटकर फरार हो गए है, राष्ट्रीय राजमार्ग में दिनदहाड़े हुई इस लूट की वारदात के बाद पुलिस आसपास की सीसीटीवी फुटेज खंगाल रही है और आरोपियों की तलाश में में जुट गई है।

    इस संबंध में राजनांदगांव के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक राहुल देव शर्मा ने बताया कि प्रार्थी द्वारा मामले की रिपोर्ट की गई है, जिसकी जांच पड़ताल की जा रही है।

  • फर्जी सिम कार्ड व फर्जी बैंक अकाउंट का आरोपी गिरफ्तार...धोखाधडी करने में करते थे उपयोग
    मन्नू मानिकपुरी संवाददाता बिलासपुर सैकडो आई.एम.ई.आई. नम्बर व सैकडो मोबाईल नम्बर खंगालने के बाद पुलिस पहुॅची शातिर आरोपीयो तक। *नाम गिरफ्तार आरोपी:-* 01. अजय सिंह पिता रामसिंह उम्र 22 साल जाति राजपुत निवासी ग्राम छपारा लडानू थाना जसवंतगढ जिला डीडवाना कुचावन (राजस्थान)। 02. गजेन्द्र उर्फ गज्जु स्वामी पिता मघादास स्वामी उम्र 40 साल जाति निवासी ग्राम गुडपालिया पोस्ट छपारा थाना लांडनू जिला नागौर (राजस्थान)। मामले का विवरण इस प्रकार है कि प्रार्थी सुनील कुमार पिता महादेव उम्र 36 साल निवासी परिजात एक्सटेंशन नगर बिलासपुर (छ.ग.) को टेलीग्राम एप के माध्यम से क्वाईन स्वीच इनवेस्टमेंट मैनेजमेंट कंपनी (फर्जी कंपनी) का एच.आर. बनकर महिला द्वारा प्रार्थी बैंक मैनेजर को पार्ट टाईम जाॅब करने का आॅफर दिया गया जिसमें कुछ छोटे-छोटे टास्क पूरे करने पर प्रत्येक टास्क के 200 रू मिलना बताया बाद में गलत टास्क होना बताकर पीडित से पैसे जमा कराया पहले कम राशि जमा कराया गया फिर पैसे को वापस करने का झांसा देकर लगातर अधिक रकम जमा कराते गये इस तरह प्रार्थी से दिनांक 10.09.23 से 12.09.23 तक *कुल 15,04,850 रू की ठगी* कर धोखाधडी किये जाने कि लिखित आवेदन पत्र पेश करने पर उपरोक्त अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया। प्रार्थी के साथ धोखाधडी करने वाले व्यक्तियो की जानकारी एकत्र करने सायबर पोर्टल पर रिपोर्ट दर्ज कर कर अवलोकन किया गया संदिग्ध बैंक खातो को चिन्हांकित कर बैंक स्टेटमेट, आॅनलाईन ट्रांजेक्शन व ए.टी.एम. विड्राल आदि की समीक्षा उपरांत बैंक पंजीकृत मोबाईल नम्बर, काॅलिंग आई.एम.ई.आई. नम्बर काॅलिंग नम्बर आदि की समीक्षा की गई आरोपी राजस्थान के गुडपालिया व लडानू के आसपास के निवासी होने की जानकारी प्राप्त हुई। *डाॅ. संजीव शुक्ला (भा. पु.से.)पुलिस महानिरीक्षक बिलासपुर रेन्ज बिलासपुर एवं. रजनेश सिंह (भा.पु.से.) पुलिस अधीक्षक बिलासपुर द्वारा धोखाधडी व सायबर अपराधो की समीक्षा कर समस्त राजपत्रित अधिकारियो को विशेष निर्देश दिये गये थे जिस के पालन में एक विशेष टीम निरीक्षक अवनीश पासवान के निर्देशन मे राजस्थान, दिल्ली ओर रवाना की गई टीम द्वारा 01 सप्ताह तक राजस्थान में रहकर आरोपीयो का पता ठिकाना ज्ञात कर विवेचना प्रारम्भ की गई जो आरोपीगण अजय सिंह व गजेन्द्र स्वामी का आनेंलाईन ठगी का काम करने में संलिप्त होने की जानकारी प्राप्त हुई। स्थानीय पुलिस के सहयोग से आरोपी गज्जु उर्फ गजेन्द्र स्वामी व अजय सिंह को हिरासत में लेकर पुछताछ किया गया जो आॅनलाईन ठगी का काम करना स्वीकार किये ठगी के काम में उपयोग में आने वाले फर्जी सिम कार्ड व फर्जी बैंक खाते गाॅव के आसपास के मजदूरी करने वाले व्यक्तियो के नाम पर प्राप्त करना स्वीकार किये तथा *आनलाईन फ्राॅड का कार्य मनोज स्वामी जो विदेश दोहा की राजधानी कतर में रहकर लेबर ठेकेदारी कार्य के आड़ में आनलाइन फ्राड का काम करता है के सहयोग से उपरोक्त कार्य करना जाहिर किये जो विदेश मे कार्य करने वाले मजदूरो से कतर की मुद्रा रियाल प्राप्त कर मजदूरो के परिजनो को भारतीय मुद्रा जो आनलाईन फ्राॅड से प्राप्त हुई है संदिग्ध बैंक अकांउट से स्थानांतरित कर देता है की जानकारी भी प्राप्त हुई है*। मामले में प्रार्थी से प्राप्त रकम में से 5 लाख रु अजय सिंह और गज्जू के द्वारा अपने खाता से आहरित कर उपयोग किया गया एवं शेष राशि मनोज स्वामी द्वारा अन्य बैंक खातो में हस्तांतरित करवा दी गई, पुलिस टीम द्वारा अथक परिश्रम व सुझबुझ का परिचय देते हुये आरोपीगणो अजय सिंह और गज्जू स्वामी को गिरफ्तार किया गया है गिरफ्तार आरोपीयो से *05 लाख रू उनके बैंक अकाउंट में होल्ड कराया गया है*, साथ ही *1 लाख 27 हजार रू* प्रार्थी को माननीय न्यायालय के माध्यम से बैंक होल्ड अमांउट मंेे से वापस करा दिया गया है गिरफ्तार आरोपीयो से घटना में प्रयुक्त 02 नग एण्ड्रायड फोन मय सिम कार्ड जप्त किया गया है गिरफ्तार आरोपीयो को आज माननीय न्यायालय पेश किया जाता है। सम्पुर्ण कार्यवाही में निरीक्षक राजेश मिश्रा प्रभारी ए.सी.सी.यू. एवं रेंज सायबर थाना बिलासपुर निरीक्षक अवनीश पासवान, उप निरीक्षक अजय वारे, स.उ.नि. सुरेश पाठक, आरक्षक विजेन्द्र मरकाम, श्रीश तिवारी, मुकेश वर्मा का विशेष योगदान रहा। *-ः बिलासपुर पुलिस की अपील:-* सायबर ठग आये दिन नये नये तरीको के माधयम से आम जनता से धोखाधडी करने का प्रयास करते है - *कोई भी व्यक्ति अनजान नम्बर से अपने आप को पुलिस का अधिकारी, सी.बी.आई. अथवा ई.डी. का अधिकारी बताकर ठगी करने का प्रयास करते है ऐसे काॅल से सावधान रहे।* बिलासपुर पुलिस इस प्रकार के ठगी को रोकने के लिये थानो में आम जनता द्वारा दर्ज कराये गये रिपोर्ट में मोबाईल नम्बर एवं व्यक्तिगत जानकारी हाईड किया जा रहा है। * अनजान व्यक्ति जिसका नम्बर आपके मोबाईल पर सेव नही है उसके साथ कभी भी कोई निजी जानकारी, बैंकिग जानकारी, ओटीपी, आधार कार्ड, पैन कार्ड फोटो आदि शेयर न करे। * अनजान वेबसाईट एवं अनाधिकृत एप डाॅउनलोड या सर्च करने से बचे। *कम परिश्रम से अधिक लाभ कमाने अथवा रकम दुगना करने का झांसा देने वाले व्यक्तियों से सावधान रहे खुद को स्वयं होकर ठगो के पास न पहॅुचाये।* * स्वयं की पहचान छुपाकर सोशल मिडीया फेसबुक, इन्स्टाग्राम, व्हाट्सएप इत्यादि के माध्यम से ईंटिमेट (अश्लील लाईव चैंट) करने से बचे। * परीक्षा में अधिक अंको से पास करा देने की झांसा देने वाले व्यक्तियो खासकर +92 नम्बरो से आने वाले वाॅट्सअप काॅल से बचने का प्रयास करे। *साइबर फ्राॅड की घटना घटित होने पर निम्न प्रकार से त्वरित रिपोर्ट दर्ज करा सकते है:* - * तत्काल नजदीकी थाना में अपनी शिकायत दर्ज करें। *हेल्पलाईन नम्बर 1930* पर सम्पर्क कर सहायता प्राप्त कर सकते है। *https://cybercrime.gov.in* पर जाकर ऑनलाइन शिकायत दर्ज कर
  •  पुलिस अधीक्षक रायपुर संतोष सिंह द्वारा श्रीप्रयास संस्थान में नशा के विरुद्ध अभियान के तहत

    पुलिस परिवार द्वारा संचालित संस्था प्रयास एजुकेशन सोसायटी में रायपुर पुलिस के कप्तान वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक  संतोष सिंह सर का आगमन हुआ उन्होंने बोर्ड परीक्षाओं मे अच्छे परसेंट से पास होने वाले  प्रयास के बच्चो को सर्टिफिकेट देकर उन्हे सम्मानित किया साथ कबड्डी के नेशनल प्लेयर एवम निजात कार्यक्रम के तहत पुलिस के साथ कदम से कदम मिलाकर चलने वालो एवम सहयोग करने वालो को सम्मानित किया।।

    इस कार्यक्रम मे प्रमुख रूप से एएसपी पश्चिम डीआर पोर्ते सर  ,थाना प्रभारी  दुर्गेश रावते , एएसआई अतुलेश राय , एएसआई  जयनारायण यादव  , सुशील शुक्ला  ,  सुनील पाठक  , असवन साहू , सोनू रजक , आनंद शर्मा की प्रमुख भूमिका रही

  • अन्ना रेड्डी पैनल से आई.पी.एल. सट्टा संचालित करते 05 अंतर्राज्यीय सटोरिये दिल्ली से गिरफ्तार
    पुलिस महानिरीक्षक रायपुर रेंज रायपुर  अमरेश मिश्रा एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक महोदय  संतोष कुमार सिंह द्वारा रायपुर पुलिस के समस्त पुलिस राजपत्रित अधिकारियों, थाना प्रभारियों सहित प्रभारी एण्टी क्राईम एण्ड सायबर यूनिट को आई.पी.एल. क्रिकेट मैच 2024 के सीजन में क्रिकेट मैच के दौरान सट्टा खेलने/खिलाने वालों एवं इस कारोबार में संलिप्त लोगों की पतासाजी कर आवश्यक कार्यवाही करने के साथ ही क्रिकेट सट्टा के कारोबार पर प्रभावी रूप से अंकुश लगाने हेतु निर्देशित किया गया है।
     
    इसी क्रम में थाना डी.डी.नगर के अपराध क्रमांक 176/24 धारा छ.ग. जुआ प्रतिषेध अधिनियम 2022 की धारा 7 के प्रकरण में एण्टी क्राईम एण्ड सायबर यूनिट तथा थाना डी.डी.नगर पुलिस की संयुक्त टीम द्वारा दिनांक 11.04.24 को आई.पी.एल. क्रिकेट मैच के दौरान आॅनलाईन सट्टा संचालित करते आरोपी अनिल आहूजा पिता स्वर्गीय परमानंद आहूजा उम्र 48 साल निवासी विकास विहार कालोनी कृष्णा अपार्टमेंट डी डी नगर रायपुर को गिरफ्तार कर कब्जे से 01 नग मोबाईल फोन एवं नगदी रकम 1060 रूपये जप्त कर कार्यवाही किया गया था। 
     
    गिरफ्तार सटोरिया सेे प्राप्त जानकारी के साथ ही विवेचना तथा तकनीकी विश्लेषण के दौरान पाया गया कि उसके अन्य साथी दिल्ली में बैठकर अन्ना रेड्डी एप पैनल के माध्यम से सट्टा संचालित कर रहे है। जिस पर वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देशन में टीम का गठन कर दिल्ली रवाना किया गया। टीम के सदस्यों द्वारा दिल्ली पहुंच कर सटोरियों की पतासाजी करते हुए सटोरियों को लोकेट किया गया जो कि दिल्ली के मोहन गार्डन स्थित शिव शक्ति अपार्टमेंट के एक फ्लैट में रहकर सट्टा खिला रहे थे। जिस पर एण्टी क्राईम एण्ड साईबर यूनिट टीम के सदस्यों द्वारा उसी अपार्टमेंट में फ्लैट किराये पर लेने की योजना बनाकर सभी फ्लैट की रेकी कर रहे थे तथा प्रत्येक व्यक्ति के बारे में जानकारी प्राप्त कर रहीं थी। पूरे लोगों की उपस्थिति होते ही फ्लैट में रेड कार्यवाही किया गया। रेड कार्यवाही के दौरान फ्लैट में कुल 05 व्यक्ति उपस्थित थे, जो लैपटॉप एवं मोबाईल फोन से सेटअप तैयार कर ऑनलाईन सट्टा संचालित कर रहे थे।
    सटोरियों से कड़ाई से पूछताछ करने पर उनके द्वारा आई.पी.एल. क्रिकेट मैच के दौरान अन्ना रेड्डी आर-555 आई.डी. पैनल के माध्यम से ऑन लाईन सट्टा का संचालन स्वीकार किया गया।
     
    जिस पर सभी 05 सटोरियों को गिरफ्तार कर उनके कब्जे से लैपटॉप 04 नग, मोबाईल फोन 15 नग, चेकबुक 04 नग, पासबुक 06 नग, ए.टी.एम. कार्ड 22 नग, कैल्कुलेटर 01 नग तथा 01 नग वाईफाई राउटर सहित जुमला कीमती लगभग 4,00,000/- रूपये जप्त कर आरोपियों के विरूद्ध थाना डी.डी.नगर में दर्ज अपराध क्रमांक 176/24 धारा छ.ग. जुआ प्रतिषेध अधिनियम 2022 की धारा 7 के तहत् कार्यवाही किया गया। 
     
    गिरफ्तार आरोपी
     
    01. रोहित क्षेतीजा पिता प्रकाश क्षेतीजा उम्र 24 साल निवासी सिंधी कालोनी झूलेलाल मंदिर के पीछे थाना स्टेशन गंज जिला नरसिंहपुर (म.प्र.)।
     
    02. रविशंकर सिंह गोंड पिता निर्भय नारायण गोंड उम्र 24 साल निवासी उदयपुर थाना मनियर जिला बलिया (उ.प्र.)।
     
    03. जीब नारायण पाण्डेय पिता हरिलाल पाण्डेय उम्र 40 साल निवासी छत्रदेव 06 थूला पोखरा थाना संधी खर्क जिला हरगाखांची नेपाल। 
     
    04. शुभम निषाद पिता थानेश्वर निषाद उम्र 25 साल निवासी न्यू हाॅस्पिटल कालोनी थाना सहसपुर लोहारा जिला कबीरधाम (छ.ग.)।
     
    05. ईस्सोरी प्रसाद पाण्डये पिता दुंदीराम पाण्डेय उम्र 37 साल निवासी वार्ड गंगा 3 पीपरा थाना पीपरा जिला कपिल बस्ती नेपाल। हाल पता - मौली काम्पलेक्स मौली जागरा चण्डीगढ़। 
     
    कार्यवाही में निरीक्षक अविनाश सिंह थाना प्रभारी डी.डी.नगर, एण्टी क्राईम एण्ड साईबर यूनिट से प्रभारी परेश पाण्डेय, उनि मुकेश कुमार सोरी, सउनि. किशोर सेठ, मोह. कय्यूम, प्र.आर. रविकांत पाण्डेय, प्रमोद वर्ठी, महेन्द्र राजपूत, आर. प्रमोद बेहरा, वीरेन्द्र बहादुर सिंह संदीप सिंह, मुनीर रजा, हरजीत सिंह, प्रवीण मौर्य, अभिषेक सिंह, सुरेश देशमुख, नितेश राजपूत, अभिषेक सिंह तोमर एवं म.आर. बबीता देवांगन की महत्वपूर्ण भूमिंका रहीं।
  • नशा रोकने निजात अभियान पहुंचा अधिवक्ताओं के बीच
    नशे के खिलाफ, वकील और पुलिस हुए साथ* *नशे के विरुद्ध, अधिवक्ता हुए एकजुट* *नशे के विरुद्ध पुलिस का *निजात* *अभियान पहुंच अधिवक्ताओं के बीच** *निजात कार्यक्रम में शामिल हुए जिला न्यायाधीश, न्यायाधीशगण, एसएसपी सहित सैकड़ो अधिवक्ता* *परिवार एवं समाज के लिए घातक है नशा - अब्दुल जाहिद कुरैशी (DJ)* *नशा मुक्त अभियान में वकील निभाएँगे महती भूमिका* - हितेंद्र रायपुर, छत्तीसगढ़, दिनांक 22 मई 2024 । जिला अधिवक्ता संघ रायपुर के जिला अध्यक्ष श्री हितेंद्र तिवारी ने कहा अधिवक्ता संघ के द्वारा आज जिला न्यायालय परिसर स्थित कक्ष क्रमांक 210 में पुलिस के द्वारा नशे के विरुद्ध चलाए जा रहे *निजात* *कार्यक्रम* "नशे को ना जिंदगी को हां" का कार्यक्रम आयोजित किया गया जिसमें जिला न्यायाधीश, न्यायाधीशगण, एसएसपी सहित सैकड़ो अधिवक्तागणों की उपस्थिति में संपन हुआ। निजात कार्यक्रम के मुख्य अतिथि जिला एवं सत्र न्यायाधीश अब्दुल जाहिद कुरैशी, कार्यक्रम की अध्यक्षता वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार सिंह, विशिष्ट अतिथि प्रधान न्यायाधीश कुटुंब न्यायालय हेमंत सराफ ने किया। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए जिला एवं सत्र न्यायाधीश अब्दुल जाहिद कुरैशी ने कहा नशे के खिलाफ सिर्फ पुलिस को पुलिस ही नहीं बल्कि हर वर्ग को समाने आकर एकजुट होना चाहिए उन्होंने कहा परिवार और समाज के लिए सबसे ज्यादा अगर कोई घातक है तो वह नशा है, उन्होंने नशे के बढ़ते प्रभाव पर प्रकाश डालते हुए कहा न्यायालय में भी नशे से संबंधित प्रकरणों की भरमार हो गई, एनडीपीएस की केस बढ़ रही है, उन्होंने कहा नशा करने से सिर्फ एक व्यक्ति प्रभावित नहीं होता बल्कि उससे जुड़े हर लोग होते हैं चाहे वह उसका परिवार हो या समाज हो। कार्यक्रम के आयोजन के लिए डीजे साहब ने अधिवक्ता संघ को बधाई दिया । कार्यक्रम को संबोधित करते हुए *वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार सिंह ने कहा कि नशे के विरुद्ध पुलिस के द्वारा एक युद्ध छेड़ा गया है अधिवक्ता समाज का एक महत्वपूर्ण व्यक्ति होता है, एक एक अधिवक्ता से सैकड़ो लोग जुड़े होते हैं, अधिवक्ताओं के माध्यम से नशे के खिलाफ हम लोगों को एक संदेश देकर समाज को नशा मुक्त कर सकते हैं इसीलिए आज अधिवक्ता संघ के द्वारा यह आयोजन किया गया जिसके लिए अधिवक्ता संघ बधाई के पात्र है । वही कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कुटुंब न्यायालय के प्रधान न्यायाधीश हेमंत सराफ ने नशा से होने वाले नुकसान को बताते हुए कहा कि समाज को नशा मुक्त करने के लिए चाणक्य सूत्र के अनुसार कार्य करना होगा नशा की डाल और पत्तों को तोड़ने की बजाय इसे जड़ से खत्म करना जरूरी है तब जाकर के हमारा समाज नशा मुक्त होगा। जिस तरह एक कॉलोनी के बाहर मैदान होने से बहुत खिलाड़ी पैदा होते हैं उसी प्रकार एक शराब दुकान से कई शराबी पैदा हो जाते हैं इसलिए नशे के खिलाफ या अभियान जारी रखना चाहिए। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए जिला अधिवक्ता संघ रायपुर के अध्यक्ष हितेंद्र तिवारी ने कहा नशे के खिलाफ वकील और पुलिस हम साथ साथ है, पुलिस के द्वारा चलाए जा रहे यह अभियान समाज के लिए अत्यंत आवश्यक है। नशा के विरुद्ध इस युद्ध में अधिवक्ता भी शामिल होंगे और समाज को नशा मुक्त करने में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे। आज कार्यक्रम में प्रमुख रूप से जिला एवं सत्र न्यायधीश अब्दुल जाहिद कुरैशी, प्रधान न्यायाधीश कुटुंब न्यायालय हेमंत सराफ, एसएसपी संतोष कुमार सिंह, जिला अधिवक्ता संघ रायपुर के अध्यक्ष हितेंद्र तिवारी, उपाध्यक्ष किशोर ताम्रकार, सचिव अरुण मिश्रा, महिला उपाध्यक्ष रितु बुंदेला, सह सचिव गायत्री साहू, क्रीड़ा सचिव परसराम कश्यप, सह सचिव अपूर्व सेन, कार्यकारिणी अंकित फुलझले, सागर पांडे, अजय बालानी, शिवशंकर महिलांग, राजीव कुमार द्विवेदी, नवरतन प्रसाद यादव, श्रीमती सावित्री नायक सहित सैकड़ों अधिवक्ता गण और न्यायाधीश गण उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन अधिवक्ता संघ के सचिव अरुण मिश्रा ने किया आभार प्रदर्शन अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक लखन पटले ने किया।
  • तिल्दा रेलवे स्टेशन में एक युवक ने की खुदकुशी,

    रायपुर ब्रेकिंग

    तिल्दा रेलवे स्टेशन में एक युवक ने की खुदकुशी,

    रेल्वे स्टेशन के पटरी में लेटकर युवक दे दी अपनी जान,

    ट्रेन से कटकर युवक का सर धड़ से हुआ अलग,

    रेल्वे पुलिस ने अनुसार युवक का पहचान नितेश कुमार, फिंगेश्वर गरियाबंद निवासी बताया है,

    घटना के बाद रेलवे स्टेशन में यात्रियों में मची हड़कंप,

    रेलवे पटरी पर घंटो पड़ा रहा मृत युवक का शव,

     Lराजधानी रायपुर से लगा हुआ तिल्दा नेवरा थाना क्षेत्र का है पूरा मामला

  • युवाओं में सोशल मीडिया पर फेमस होने का जुनून इस कदर सवार है  खुद की जान जोखिम में डालने के साथ दुसरो की भी कोई परवाह नहीं है।

    राजधानी की सड़कों पर इन दोनों मौत दौड़ रही है। लगातार सड़क दुर्घटना में लोगों की जाने जा रही हैं। तो दूसरी ओर युवाओं में

    राजधानी की सड़कों पर इन दोनों मौत दौड़ रही है। लगातार सड़क दुर्घटना में लोगों की जाने जा रही हैं। तो दूसरी ओर युवाओं में सोशल मीडिया पर फेमस होने का जुनून इस कदर सवार है कि सड़कों पर रेसिंग और स्टंट करते वीडियो बना कर सोशल मीडिया पर उपलोड कर रहे है। इन बाइकर्स को खुद की जान जोखिम में डालने के साथ दुसरो की भी कोई परवाह नहीं है। देखिए खास रिपोर्ट....

    वीओ- तस्वीरों में दिख रही है ये सड़क नवा रायपुर की है,जहां तेज़ रफ्तार में मौत दौड़ती है। हम ऐसा इसलिए कह रहे हैं,क्योंकि यहां की सड़कों पर युवा बाइक स्टंट और रेसिंग करते नजर आते हैं। सुबह से लेकर रात तक यहां बदमाश बाइकर्स पैसों की बोली लगाते हैं। और फिर तेज रफ्तार में रेसिंग करते हैं। वही हाल ही में सोशल मीडिया में एक वीडियो सामने आया है। जिसमें आईपी क्लब के पास 200 से ज्यादा बाइकर्स इकट्ठे दिखाई दे रहे है। जिसमें कुछ लोग स्टंटबाजी कर रहे हैं तो बाकी लोग उनका वीडियो बना रहे हैं। वीडियो से बात साबित है की राजधानी में बाइकर्स के हौसले बुलंद है और इन्हें पुलिस का कोई खौफ नहीं है। यातायात पुलिस के द्वारा सड़क सुरक्षा जागरूकता अभियान चलाने के बावजूद भी ऐसे बाइकर्स पर लगाम नहीं लग पा रहे हैं। वही रायपुर यातायात पुलिस के द्वारा पिछले 5 महीने में अब तक की बात करें तो 2024 जनवरी से लेकर मई माह में अब तक 6000 बाइकर्स पर पुलिस ने कार्रवाई की है जिसमें 400 से ज्यादा बाइकर्स पर स्टंटबाजी को लेकर कार्रवाई की है और 400 से ज़ियादा वाहनों को जप्त कर प्रकरण को कोर्ट में भेजे गए है। बावजूद भी ऐसे बाइकर्स पर कार्रवाई का भी कोई असर देखने को मिलता है। 

    कि सड़कों पर रेसिंग और स्टंट करते वीडियो बना कर सोशल मीडिया पर उपलोड कर रहे है। इन बाइकर्स को खुद की जान जोखिम में डालने के साथ दुसरो की भी कोई परवाह नहीं है। देखिए खास रिपोर्ट....

    तस्वीरों में दिख रही है ये सड़क नवा रायपुर की है,जहां तेज़ रफ्तार में मौत दौड़ती है। हम ऐसा इसलिए कह रहे हैं,क्योंकि यहां की सड़कों पर युवा बाइक स्टंट और रेसिंग करते नजर आते हैं। सुबह से लेकर रात तक यहां बदमाश बाइकर्स पैसों की बोली लगाते हैं। और फिर तेज रफ्तार में रेसिंग करते हैं। वही हाल ही में सोशल मीडिया में एक वीडियो सामने आया है। जिसमें आईपी क्लब के पास 200 से ज्यादा बाइकर्स इकट्ठे दिखाई दे रहे है। जिसमें कुछ लोग स्टंटबाजी कर रहे हैं तो बाकी लोग उनका वीडियो बना रहे हैं। वीडियो से बात साबित है की राजधानी में बाइकर्स के हौसले बुलंद है और इन्हें पुलिस का कोई खौफ नहीं है। यातायात पुलिस के द्वारा सड़क सुरक्षा जागरूकता अभियान चलाने के बावजूद भी ऐसे बाइकर्स पर लगाम नहीं लग पा रहे हैं। वही रायपुर यातायात पुलिस के द्वारा पिछले 5 महीने में अब तक की बात करें तो 2024 जनवरी से लेकर मई माह में अब तक 6000 बाइकर्स पर पुलिस ने कार्रवाई की है जिसमें 400 से ज्यादा बाइकर्स पर स्टंटबाजी को लेकर कार्रवाई की है और 400 से ज़ियादा वाहनों को जप्त कर प्रकरण को कोर्ट में भेजे गए है। बावजूद भी ऐसे बाइकर्स पर कार्रवाई का भी कोई असर देखने को मिलता है। 

  • शराबी पति ने कुल्हाड़ी से हमला कर पत्नी को उतारा मौत के घाट...जानें क्या है वजह

    सरगुजा। जिले के कमलेश्वरपुर थाना क्षेत्र के ग्राम पैगा में एक महिला ने खाना नहीं बनाया था। इससे नाराज शराबी पति ने कुल्हाड़ी से सिर व चेहरे पर ताबड़तोड़ वार कर उसकी हत्या कर दी। सूचना पर गांव में पहुंची पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।

    बता दें कि मृतिका विनासो साय 38 वर्ष ग्राम पैगा की रहने वाली थी। उसका पति आरोपी जहल साय शराब पीने का आदि है। रविवार को जहल साय शराब पीकर घर आया और पत्नी से खाना मांगने लगा। इस पर पत्नी ने कहा कि उसने खाना नहीं बनाया है। इस बात पर दोनों के बीच विवाद हुआ और गुस्से में पति ने उसके सिर व चेहरे पर कुल्हाड़ी से हमला कर दिया। सिर में गंभीर चोट लगने के कारण महिला की मौके पर ही मौत हो गई। वारदात को अंजाम देने के बाद पति घर से फरार हो गया।

    गांव के सरपंच ने मृतका के भाई लखन मझवार को घटना की सूचना उसके मोबाइल पर दी। सूचना पर भाई पहुंचा तो बहन घर में मृत अवस्था में पड़ी हुई थी। इसके बाद उसने घटना की रिपोर्ट कमलेश्वरपुर थाने में दर्ज कराई। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और मामले की जांच की। फिर पुलिस ने आरोपी पति के खिलाफ धारा 302 के तहत अपराध दर्ज कर खोजबीन शुरु की। विवेचना के दौरान पुलिस ने आरोपी पति जहल साय 41 वर्ष को घेराबंदी कर गिरफ्तार किया है। पुलिस ने आरोपी से पूछताछ की तो उसने पत्नी की हत्या करने की बात स्वीकार कर ली।

  • थाना प्रभारी एवं विवेचकों को दिया गया iRAD/eDAR का प्रशिक्षण
          वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक श्री संतोष कुमार सिंह के निर्देश पार दिनांक 20.05.2024 को सुबह 10.00 बजे से 01.00 बजे तक अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक यातायात कार्यालय के प्रशिक्षण हॉल में जिला रायपुर के पुलिस थानों के प्रभारी, थानों के iRAD/eDAR के नोडल अधिकारी एवं विवेचकों के लिए प्रशिक्षण एवं वर्कशॉप रखा गया था जिसमें शहर एवं ग्रामीण थानों से 87 विवेचक उपस्थित हुए। प्रशिक्षण कार्यशाला की अध्यक्षता  संजय शर्मा, अध्यक्ष अंतर्विभागीय लीड एजेंसी ने किया तथा श्री सारांश सिरके, स्टेट रोल आउट मैनेजर iRAD/eDAR के साथ साथ  ओम प्रकाश शर्मा अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक यातायात,  गुरजीत सिंह एवं  सुशान्तो बनर्जी उप पुलिस अधीक्षक यातायात रायपुर मौजुद थे।
     संजय शर्मा ने बताया कि प्रतिवर्ष भारत देश में लगभग 1.5 (डेढ़) लाख लोगों की मृत्यु सड़क दुर्घटना में होती है। प्रतिवर्ष इतनी बड़ी जनहानि किसी प्राकृतिक आपदा में नही होती है। सड़क दुर्घटना में मौतों पर एक भरापूरा परिवार उजड़ जाता है। एक जनहानि से एक परिवार ही प्रभावित नहीं होता है अपितु समाज एवं देश के लिए भी वह अपूरणीय क्षति होती है जिसकी भरपाई करपाना कठिन है। सड़क दुर्घटनाओं में मौतों को रोकने के लिए सरकारें गंभीर हो गयी है। सड़क दुर्घटना को नियंत्रित करने के लिए सभी जिम्मेदार विभागों के समन्वित प्रयासों की आवश्यकता है। इसी दिशा में कार्य करते हुए सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय भारत सरकार का iRAD/eDAR एप को विकसित करने की पीछे केवल एक ही उद्देश्य है कि सड़क दुर्घटना के कारणों का वास्तविक विश्लेषण कर दुर्घटना नियंत्रण की दिशा में कार्ययोजना तैयार कर दुर्घटना रोकने हेतु सार्थक प्रयास किया जा सके। iRAD/eDAR  (इंटिग्रेटेड रोड एक्सीडेट डाटाबेस एवं इलेक्ट्रिॉनिक डिटेल एक्सीडेंट रिपोर्ट) एप में सड़क दुर्घटना के संबंध में जानकारी को घटना स्थल पर जाकर ऑनलाईन प्रविष्ट करने का प्रावधान है। इस iRAD/eDAR एप में सड़क सुरक्षा के लिए जिम्मेदार विभागों परिवहन, पुलिस, सड़क निर्माण एजेंसी एनएचएआई, लोक निर्माण विभाग, नगर पालिक निगम एवं स्वास्थ्य विभाग को एकीकृत (इंटिग्रेटेड) किया गया है। सड़क दुर्घटना घटित होने पर विवेचक घटना स्थल पर जाकर इस एप के माध्यम से आवश्यक जानकारी को ऑनलाईन प्रविष्ट करेगा, घटना स्थल का फोटो एवं विडियो अपलोड करेगा, दुर्घटना के वास्तविक कारण जो मौके पर पता चलता है उसमें यदि सड़क इंजिनियरिंग खामियों के कारण दुर्घटना हुई है जिसमें सुधार की आवश्यकता हो तो थाना प्रभारी के माध्यम से सड़क प्राधिकार एजेंसी को iRAD/eDAR एप से ही रिक्वेस्ट भेजेगा। थाना प्रभारी के भेजे गये रिक्वेस्ट पर संबंधित एजेंसी घटना स्थल पर जाकर मुआयना करेगी एवं दुर्घटना नियंत्रण हेतु उपचारात्मक उपाय की कार्यवाही पूर्ण की जाएगी।  इस एप में भरे गये डाटा का विश्लेषण राज्य एवं केन्द्र स्तर पर भारत सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय (MORTH ) द्वारा मानिटरिंग की जाती है एवं विश्लेषण के आधार पर सड़क दुर्घटना नियंत्रण के लिए कार्ययोजना तैयार कर राज्यों को निर्देशित करती है। सड़क दुर्घटना में पीड़ितों को उपचार हेतु तत्काल हास्पिटल पहुॅचाने की आवश्यकता होती है जिसके कारण कई मामलों में  संबंधित थाना को सूचना प्राप्त नही हो पाती ऐसी स्थिति में हास्पिटल में चिकित्सकों की जिम्मेदारी तय की गयी है कि वे इस iRAD/eDAR एप के माध्यम से थाना प्रभारी को सूचना दें व प्रकरण थाना में दर्ज कर अग्रीम कार्यवाही करें। इस एप से भेजे गये रिक्वेस्ट पर विभागों की जिम्मेदारी तय करते हुए सड़क दुर्घटना नियंत्रण हेतु उपचारात्मक उपाय करने की बाध्यता दी गयी है। 
    iRAD/eDAR में सड़क दुर्घटना प्रकरणों की जानकारी वाहन के संबंधित बीमा कंपनी एवं दावा अभिकरण को भी प्रेषित किये जाने का प्रावधान है जिससे पीड़ितों को क्षतिपूर्ति का मुआवजा प्रदाय करने की कार्यवाही शीघ्रतापूर्वक किया जा सके। थानों के इस एप के माध्यम से दुर्घटना प्रकरणों की जानकारी बीमा कंपनी व दावा अभिकरण को भेजे जाने पर दुर्घटना की वास्तविक जानकारी हो पाएगी जिससे दुर्घटना के फर्जी दावों पर अंकुश लगेगा।  सारांश सिरके द्वारा कार्यशाला में iRAD/eDAR एप में ऑनलाईन प्रविष्टि करने के सभी बिन्दुओं को विस्तार से समझाते हुए किस प्रकार भरा जाना है, घटना स्थल का फोटो, विडियो अपलोड करना एवं संबंधित विभागों को रिक्वेस्ट भेजने के तरीकों से अवगत कराया।
     ओमप्रकाश शर्मा अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक यातायात रायपुर एवं  गुरजीत सिंह उप पुलिस अधीक्षक यातायात रायपुर ने इस iRAD/eDAR एप का महत्व बताया कि जिले में इरादतन हत्या एवं हत्या के प्रयास के कुल 155 प्रकरण वर्ष 2023 में दर्ज हुए है जबकि वर्ष 2023 में सड़क दुर्घटना में 507 लोगों की मौत हुई है। हत्या एवं हत्या के प्रयास के प्रकरणों के तीन गुणा से भी अधिक लोगों की मौत सड़क दुर्घटना में हुई है। हत्या एवं हत्या के प्रयास के अपराधों में गंभीरता से जांच विवेचना कर अपराधियों को सजा दिलाया जाता है परंतु सड़क दुर्घटना में अनचाहे मौतों को रोकने की दिशा में कार्य करने के लिए ही ये iRAD/eDAR एप तैयार किया गया जिसमें ऑनलाईन प्रविष्टि करना अतिआवश्यक है जिससे दुर्घटना के कारणों का डाटाबेस तैयार होगा और उसी डाटाबेस के आधार पर मानिटरिंग कमेटी निर्णय लेकर सड़क दुर्घटना नियंत्रण हेतु संबंधित विभागों की जिम्मेदारी तय करते हुए कार्य करने निर्देशित करेगी। आपका यह कार्य अत्यंत महत्वपूर्ण है। सड़क दुर्घटना के प्रकरणों के शत प्रतिशत मामलों में iRAD/eDAR एप में अनिवार्य रूप से ऑनलाईन प्रविष्टि किया जावे। अंत में उपस्थित सभी अधिकारियों को धन्यवाद ज्ञापित कर कार्यशाला समापन किया गया।
  • धारदार हथियारनुमा चाकू के साथ आरोपी कुमार महेश्वरी गिरफ्तार

    थाना गुढियारी पुलिस को सूचना मिली कि आदर्श चौक राम मंदिर के पास एक व्यक्ति धारदार हथियारनुमा चाकू लेकर लहरा कर आने जाने वाले लोगों को डरा धमका कर आतंकित करते हुए आरोपी कुमार महेश्वरी पिता स्व. खोरबाहरा महेश्वरी उम्र 36 वर्ष साकिन आदर्श नगर पहाडी चौक थाना गुढियारी रायपुर को गिरफ्तार कर उनके कब्जे से अवैध रूप से रखे एक धारदार हथियारनुमा चाकू जप्त कर आरोपी के विरूद्ध थाना गुढियारी में अपराध क्रं 385/2024 धारा 25, 27 आर्म्स एक्ट अपराध पंजीबद्ध कर कार्यवाही किया गया।  


    नाम आरोपी - कुमार महेश्वरी पिता स्व. खोरबाहरा महेश्वरी उम्र 36 वर्ष साकिन आदर्श नगर पहाडी चौक थाना गुढियारी रायपुर

    जप्ती-  एक धारदार हथियारनुमा चाकू

  • चोरी के 04 मोटर सायकल वाहन के साथ शातिर वाहन चोर होरीलाल उर्फ मोनू गिरफ्तार।
    चोरी नकबजनी के प्रकरणों को संज्ञान में लेते हुये वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक महोदय श्री संतोष सिंह द्वारा रायपुर जिले के समस्त पुलिस राजपत्रित अधिकारी एवं थाना प्रभारी को चोरी नकबजनी की घटनाओं पर अंकुश लगाने एवं आरोपियों को पकड़ने हेतु आवश्यक दिशा निर्देश दिये गये है। जिस पर समस्त पुलिस राजपत्रित अधिकारियों एवं थाना प्रभारियों द्वारा मुखबीर लगाकर पेट्रोलिंग व सूचना संकलन कर इस संबंध में सूचना एकत्रित करने के साथ ही समस्त थाना प्रभारियों द्वारा अपने.अपने थाना क्षेत्र में चोरी, नकबजनी करने वाले चोरों के विरूद्ध प्रभावी कार्यवाही करने निर्देशित किया गया है। 
    इसी तारतम्य में दिनांक 04.01.2024 को प्रार्थी झग्गर महिलांग ने थाना सिविल लाईन में रिपोर्ट दर्ज कराया कि यह अपनी मोटर सायकल डीलक्स क्रमांक सीजी 04 सीएक्स 6655 को घर के सामने तरूणनगर पंडरी में खड़ा किया था। कुछ देर बाद आकर देखा तो मोटर सायकल वहां पर नही था। किसी अज्ञात चोर के द्वारा इसके मोटर सायकल वाहन को चोरी कर ले गया। प्रार्थी के रिपोर्ट पर थाना सिविल लाईन में अपराध क्रमांक 09/2024 धारा 379 भादवि. पंजीबद्ध कर विवेचना मंे लिया गया।
    वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों के निर्देशन व थाना प्रभारी सिविल लाईन के नेतृत्व में थाना सिविल लाईन पुलिस द्वारा घटना के संबंध में प्रार्थी सहित आसपास के लोगों से विस्तृत पूछताछ करते हुए अज्ञात आरोपी की पतासाजी करना प्रारंभ किया गया। टीम के सदस्यों द्वारा घटना स्थल तथा उसके आस.पास लगे सीसीटीव्ही कैमरों के फुटेजों का अवलोकन करने के साथ ही अज्ञात आरोपी की पतासाजी हेतु मुखबीर भी लगाये गये इसी दौरान टीम के सदस्यों को घटना में संलिप्त आरोपी के संबंध में महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त हुई जिस पर टीम के सदस्यों द्वारा आरोपी होरीलाल उर्फ मोनू को चोरी गये वाहन के साथ रंगेहाथ पकड़कर घटना के संबंध में पूछताछ किया गया जिसके द्वारा रायपुर शहर के विभिन्न स्थानों से कुल 04 नग मोटर सायकल वाहन चोरी करना स्वीकार कर उक्त वाहनांे को छुपाकर रखना बताकर बरामद करवाया। जिस पर आरोपी के कब्जे से चोरी गये 04 नग मोटर सायकल वाहन जुमला कीमती करीबन 1,50,000/- रूपये जप्त कर अग्रिम कार्यवाही किया गया है। 
     
    आरोपी से बरामद की गई वाहनी की सूची- 
     
    01- सुजुकी एक्सेस 125 (रंग सफेद) CG 04 DV 6696
            चेचिस नंबर  MB8CF4CALA8133607  
        इंजन नंबर F486494528
    02- एक्टीवा  CG04 LX 3318
    चेचिस नंबर  ME4JF507KH73051316
    इंजन नंबर  JF50E75351371
    03- एच एफ डीलक्स, काला लाल रंग CG 04 CX 6655
    चेचिस नंबर MBLHA11EMB9G00166
    इंजन नंबर  HA11ECB9G00454
    04- एक्टीवा सिल्वर  CG 04 HT 2793
    चेचिस नंबर ME4JF504AFT024906
    इंजन नंबर JF50E12025866
     
    गिरफ्तार आरोपी-
     
     होरीलाल साहू उर्फ मोनू साहू पिता रामअवतार साहू उम्र 21 साल पता ग्राम सिंगारपुर, थाना भाटापारा ग्रामीण, जिला बलौदाबाजार।