Top Story
नगर निगम कमिश्नर अविनाश मिश्रा वार्ड के अंदर की बदहाल सफाई व्यवस्था से अनभिज्ञ है |
महापौर एजाज ढेबर द्वारा विगत दिनों दिया गया बयान कि पीएम को भी महापौर की इस सीट पर बैठा दिया जाए तो भी समस्याएं समाप्त नहीं हो सकती | वहीं दूसरी तरफ नगर निगम रायपुर के कमिश्नर अविनाश मिश्रा द्वारा कैनाल रोड के फ्लाई ओवर की साफ सफाई के लिए तो अधिकारियों को सख्त निर्देश दे दिए गए परंतु निगम कमिश्नर की नजर मुख्य मार्गो तक ही सीमित रहती है, क्योंकि उन्हें अधिकारी के तौर पर मुख्य मार्गों पर ही आवागमन करना है इसलिए उन्हें मुख्य मार्ग पर साफ सुथरी सड़कों पर थोड़ा सा भी कचरा दिख जाए तो वह उन्हें नजर आ जाता है परंतु वे वार्ड के अंदर की गंदगी की स्थिति को नहीं जानते है , ऐसा लगता है की नगर निगम कमिश्नर अविनाश मिश्रा वार्ड के अंदर की बदहाल सफाई व्यवस्था से अनभिज्ञ है, क्योंकि अगर उन्हें पता होता कि राजधानी के सभी 70 वार्डों के अंदरूनी इलाकों में गंदगी का जो आलम है, नालिया नाले बज बजा रहे हैं, नालों में पांच - पांच फीट तक कचरा भरा हुआ है और नालियां एक से डेढ़ फीट तक जो उनकी गहराई है वह गंदगी से भरी पड़ी है, जोन 10 के अंतर्गत वार्ड क्रमांक 52 के इन दो मंदिरों के आसपास की इन तस्वीरों को देखकर आप सहज ही अंदाजा लगा सकते हैं की सफाई के मामले में नगर निगम की क्या स्थिति है, यह ट्रेलर नहीं एक झलक मात्र है, यदि ट्रेलर और पिक्चर को देखेंगे तो रायपुर के आम नागरिकों को पीड़ा होगी क्योंकि उनके खून पसीने की कमाई से दिए जा रहे टैक्स की रकम से सफाई के नाम पर अधिकारियों, जनप्रतिनिधियों और ठेकेदारों के बीच खुले आम बंदर बांट चल रही है | रायपुर के जोन क्रमांक 10 के वार्ड क्रमांक 52 में महावीर नगर के बसंत पार्क में मां दुर्गा और शंकर भगवान के मंदिरों के आजू-बाजू गंदगी के बीच आसपास के भक्त, श्रद्धालु, माताएं - बहने, युवा, बुजुर्ग दर्शन करने मजबूर हैं | नगर निगम का सफाई अमला चाहे पार्षद हो, ठेकेदार हो, अधिकारी हों बिना सफाई कार्य किये हर महीने नियमित रूप से राशि का लेनदेन कर रहे हैं | मजे की बात यह है की शिकायत होने पर साल में एक बार या दो बार ठेकेदार पर नाम मात्र के लिए 5 हजार रूपए का जुर्माना लगाकर कार्यवाही को इतिश्री कर दिया जाता है जबकि होना यह चाहिए कि एक बार या दो बार के बाद ठेकेदार की गलती मिलने पर उसे पर जुर्म दर्ज कर जेल भेज देना चाहिए परंतु ऐसा होता नहीं है क्योंकि सब मिली भगत और लेनदेन का नीचे से ऊपर तक का चक्कर है तो करवाई हो भी तो कैसे ? जबकि देखा जाए तो सफाई ठेकेदारों द्वारा तय कर्मचारियों में से आधे कर्मचारियों से ही आधा कार्य करवा कर हर मां एक से डेढ़ लाख रुपए की अवैध बचत की जाती है इस प्रकार साल भर में ठेकेदारों द्वारा एक वार्ड में 70 से 80 लख रुपए के सफाई घोटाले में से पांच या ₹10000 जुर्माना देकर एक बड़ी रकम अवैध रूप से अंदर कर ली जाती है | जुर्माना उनके लिए सही कार्य करने का सर्टिफिकेट बन जाता है और इस आधार पर सफाई ठेकेदार कानूनी कार्यवाही से बच जाते हैं क्योंकि उन्होंने तो अपनी गलती के लिए 5 हजार या 10 हजार रूपए जुर्माना भर दिया है | परंतु वहीं दूसरी तरफ टैक्स देने वाले नागरिक नियमित रूप से हर माह का टैक्स देने के बावजूद नगर निगम की सुविधा प्राप्त करने से वंचित रह जाते हैं और उनकी कोई सुनवाई नहीं होती | अब सवाल या उठना है कि नगर निगम कमिश्नर, महापौर और जनप्रतिनिधि जैसे कि सांसद विधायक और पार्षद सफाई ठेकेदारों पर मेहरबान क्यों रहते हैं यह विचारणीय विषय है जो इस बात की ओर इशारा करता है कि कुछ तो है जो ठेकेदारों के खिलाफ कुछ बोलने के लिए उनके मुंह को बंद रखता है |
Entertainment News
  • 'ब्लूबेरी' खाने से लो-ब्लड प्रेशर, कोलेस्ट्रॉल और दिल की बीमारी के खतरे को कम किया जा सकता है.

    ब्लूबेरी के एंटीऑक्सीडेंट और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण कई तरह की दिल की बीमारियों में फायदा पहुंचा सकते हैं। ब्लड प्रेशर बढ़ाने वाले सॉल्यूबल एंजियोटेंसिन (हार्मोन) में कमी होने के कारण दिल की बीमारियां कम हो सकती हैं। ब्लूबेरी की लिपिड-कम करने वाली क्षमता दिल से जुड़ी समस्याओं को भी कम कर सकती हैं।

    दिल को हेल्दी रखने में मददगार: कई अध्ययनों ने दावा किया है कि 'ब्लूबेरी' खाने से लो-ब्लड प्रेशर, कोलेस्ट्रॉल और दिल की बीमारी के खतरे को कम किया जा सकता है. अगर आप इस फल का रोजाना सीमित मात्रा में सेवन करेंगे तो ये ब्लड वैसल्स को आराम देकर और सूजन को कम करके दिल की बीमारी के खतरे को काफी हद तक कम कर सकते हैं.

     

    वजन को कंट्रोल करने में मददगार: ब्लूबेरी में कैलोरी की मात्रा कम और फाइबर की मात्रा ज्यादा होती है. यही वजह है कि ये फल वजन को कंट्रोल में रखने में आपकी काफी मदद कर सकते हैं. 

     स्किन के लिए फायदेमंद: ब्लूबेरी में विटामिन A, C और E होते हैं, जो स्किन को जरूरी पोषक तत्व प्रदान करते हैं. ये विटामिन प्रदूषण और यूवी किरणों से त्वचा की पूरी सुरक्षा करते हैं. ब्लूबेरी में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट बढ़ती उम्र के कारण त्वचा पर पड़ने वाले प्रभावों को धीमा कर सकता है

  • गर्मियों में सेहतमंद रहने के लिए खाएं ग्रीन सलाद, इस तरह करें तैयार

    सलाद अधिकतर लोगों को पसंद होता है और वो अपने खाने में सलाद को जगह जरूर देते हैं, क्योंकि सलाद विटामिन्स, मिनरल्स और फाइबर जैसे जरूरी पोषक तत्वों से भरपूर होता है. ग्रीन सलाद को खाने से शरीर स्वस्थ्य रहता है, गर्मियों में तो सलाद का सेवन ज्यादा से ज्यादा करना चाहिए. इसे बनाने के लिए हरी पत्तेदार सब्जियां जैस पालक, पत्ता गोभी, खीरे का उहयोग आप कर सकती हैं. इसमें शिमला मिर्च, गाजर, टमाटर और प्याज भी डाला जाता है. 

     

    ग्रीन सलाद बनाने की विधि-

     आप जब सलाद बनाएं तो सबसे पहले हरी पत्तेदार सब्जियों के साथ अन्य सब्जियों को अच्छी तरह से साफ पानी से धो कर रख दें, फिर इन सब्जियों को बारीक काट लें

    इसके बाद काली मिर्च, नमक, शहद, दही और सिरके को एकसाथ मिलाकर मिक्सर में पीस लें.

     इतना करने के बाद कटे हुए गाजर, ब्रोकली, बीन्स, पत्तागोभी, पालक, टमाटर, प्याज, खीरे और शिमला मिर्च को फ्रिज में ठंडा होने के लिए रखें.

     अब काली मिर्च, नमक, शहद, दही और सिरके के पेस्ट में सारी सब्जियों को मिला दें. ग्रीन सलाद तैयार है, इसे बारीक कटे हुए हरे धनिया से सजाएं.

  • : घर पर बनाएं बाजार जैसा टेस्टी बर्गर, फॉलो करें ये स्टेप्स

     

    बर्गर बनाने में क्या क्या लगता है

     

    घर में क्रिस्पी आलू टिक्की वाला बर्गर बनाने के लिए आपको मैदा 2 चम्मच,  ब्रेड क्रंब्स आधा कप,  टोमेटो सॉस जरूरत के अनुसार, उबले और मैश किए 3 से 4 आलू, उबली हुई हरी मटर 2 चम्मच, प्याज गोल कटा हुआ, लेट्यूस (Lettuce Leaves), टमाटर गोल कटा हुआ,  नमक स्वादानुसार, बर्गर 2, लाल मिर्च पाउडर 1 चम्मच, हल्दी 2 चुटकी, धनिया पाउडर 1 चम्मच, जीरा पाउडर 1 चम्मच, लहसुन पेस्ट आधा चम्मच, वेज मेयोनीज 2 चम्मच चाहिए होगा।

    बर्गर बनाने की रेसिपी (Burger Recipe)

    1. सबसे पहले आप एक बड़े बाउल में उबले मैश किए हुए आलू डालें।
    2. अब इन आलू में मटर, हल्दी, नमक, लाल मिर्च, धनिया, जीरा पाउडर और लहसुन पेस्ट डालें और सभी को अच्छे से मिक्स करें।
    3. आलू के मिक्सचर को आलू से टिक्की का आकार दें और दूसरी तरफ मैदे में पानी मिलाकर घोल तैयार करें।
    4. अब आलू की टिक्की को मैदे के घोल में डुबाकर इसपर ब्रेड क्रंब्स लगाएं।
    5. बड़े एक पैन में तेल को गर्म करें और इसमें सभी टिक्कियों को डालकर गोल्डन होने तक तलें।
    6. अब बर्गर लें और इसपर वेज मेयोनीज, टोमेटो सॉस डालें और ऊपर से टिक्की रखें।
    7. टिक्की के ऊपर एक बार फिर मेयोनीज लगाएं और फिर प्याज, टमाटर और लेट्यूस (Lettuce Leaves) रखें।
    8. आखिरी में बर्गर का दूसरा भाग रखें और इसे सॉस के साथ सर्व करें।
    9. आप बर्गर में चीज का स्लाइस भी लगा सकते हैं।
  • शाम के नाश्ते में कुछ कुरकुरा और नमकीन खाने का मन है| तो बेहद आसान तरीके से फिंगर चिप्स

    फिंगर चिप्स बनाने का तरीका और विधि फिंगर चिप्स बनाने के लिए सबसे पहले आलुओ को अच्छी तरह से धोकर छील लें| उसके बाद आलुओ को चौकोर डंडियो के आकार में काट लें| फिर सभी आलुओ के टुकड़ें कर लें| ख्याल रखें आलू काटने के तुरंत बाद पानी में डाल दें| ऐसा करने से आलू काले नहीं पड़ते है| फिर एक भगोने में दो गिलास पानी डालकर गर्म होने के लिए रख दें| जब पानी गर्म हो जाएं तब उसमे कटे हुए आलू डालकर उबलने दें| जब आलू अधपके हो जाएं तब गैस को बंद कर दें और आलुओ को छलनी में निकाल लें| जब आलुओ का पानी निकल जाएं तब आलुओ को एक बाउल में निकाल लें| फिर बाउल में मैदा और स्वादनुसार नमक डालकर अच्छी तरह से मिक्स कर लें| फिर एक कड़ाही में फिंगर चिप्स तलने के लिए तेल डालकर गर्म होने के लिए रख दें| जब तेल गर्म हो जाएं तब उसमे मैदा लगे आलुओ को डाल दें| मध्यम आँच पर फिंगर चिप्स को चार से पाँच मिनट तक अलट पलट कर गोल्डन ब्राउन होने तक फ्राई कर लें| जब चिप्स गोल्डन ब्राउन हो जाएं तब उन्हें कड़ाही में से निकाल कर प्लेट में रख लें|

    स्वादिष्ट कुरकुरे फिंगर चिप्स बनकर तैयार है| फिंगर चिप्स पर चाट मसाला और लाल मिर्च छिड़क कर मिक्स कर लें| फिंगर चिप्स को चिली सॉस और टोमेटो सॉस के साथ सर्व करें|