Top Story
Previous123456789...194195Next
  • बैसाखी का उत्सव आज, जानिए इतिहास, महत्व और मनाने का तरीका

    Baisakhi 2024: बैसाखी कृषि से जुडा हुआ एक त्योहार है। इसे पंजाब और हरियाणा में काफी धूमधाम के साथ मनाया जाता है. यह त्योहार सिख नववर्ष के रूप में भी मनाया जाता है. ...सिख समुदाय में बैसाखी का त्योहार खालसा पंथ के स्थापना दिवस के रूप में भी मनाया जाता है. वैसाखी को विसाखी या बैसाखी के नाम से भी जाना जाता है

    कैसे मनाते हैं बैसाखी का पर्व?
    बैसाखी के दिन सिख समुदाय के लोग गुरुद्वारा सजाते हैं, गुरु वाणी सुनते हैं और अपने-अपने घरों में विशेष पूजा करते हैं. इसके अलावा घर के बाहर लकड़ी का घेरा बना कर चलते हैं और वहां पर भांगड़ा और गिद्दा करते हैं. साथ ही एक दूसरे के गले मिलकर बैसाखी की शुभकामनाएं देते हैं. इस दिन शरबत और विशेष पकवान बनाने की भी परंपरा है.

    बैसाखी पर्व का इतिहास
    बैसाखी पर्व की शुरुआत 30 मार्च 1699 से मानी जाती है. इस दिन सिख समुदाय के दसवें गुरु गोविंद सिंह जी ने खालसा पंथ की स्थापना की थी. तभी से बैसाखी पर्व मनाया जाता है. गुरु गोविंद सिंह जी ने सिख समुदाय के लोगों से गुरु और भगवान के लिए बलिदान होने के लिए आगे आने के लिए कहा था. जो लोग बलिदान हुए थे, उन्हें पंज प्यारे कहा जाता था. जिसका तात्पर्य है गुरु के पांच प्रियजन

  • Big Breaking : जेल के अंदर बिगड़ी मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की तबियत

    नई दिल्ली। तिहाड़ जेल में सीएम अरविंद केजरीवाल एक अप्रैल 2024 से हैं. ताजा जानकारी के मुताबिक, मुख्यमंत्री केजरीवाल का शुगर लेवल बिगड़ा हुआ आया है. आम आदमी पार्टी के सूत्रों का दावा है कि सीएम अरविंद केजरीवाल के हेल्थ बुलेटिन में ब्लड शुगर फास्टिंग 160 बताया गया, जबकि सामान्य तौर पर इसे 70 से 100 के बीच में होना चाहिए.

    वहीं, तिहाड़ जेल के सूत्रों के मुताबिक, सीएम अरविंद केजरीवाल का वजन एक किलो बढ़ा है. साथ ही शुगर लेवल भी मेनटेन है. एक अप्रैल को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल जब जेल गए थे, तब मेडिकल के दौरान उनका वजन 65 किलो था और 7 अप्रैल को उनका वजन 66 किलो था. साथ ही, शुगर लेवल भी पहले से काफी मेनटेन है और वो पूरी तरह स्वस्थ है बताए जा रहे हैं.

  • दिल्ली हाई कोर्ट में केजरीवाल का आवेदन खारिज
    ईडी द्वारा अपनी गिरफ्तारी को गलत साबित करने अरविन्द केजरीवाल द्वारा दिल्ली हाई कोर्ट में प्रस्तुत आवेदन आज खारिज हो गया | अपने आवेदन में केजरीवाल ने ईडी की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाए थे| अपनी गिफ्तारी को गलत बताते हुए उन्होंने अपने वकीलों के माध्यम से गवाहों के सरकारी गवाह बनने को भी गलत बताया था | अरविंद केजरीवाल की हाई कोर्ट में प्रस्तुत आवेदन में कहीं पर भी अपनी जमानत का जिक्र नहीं किया गया था, उनकी तमाम दलीलों के जवाब देने के बाद हाई कोर्ट ने उनकी याचिका खारिज कर और उनके सवालों पर जो टिप्पणियां की वह अरविंद केजरीवाल के लिए और भी मुश्किल है खड़ी करने वाली है |
  • बस्तर से मोदी की दहाड़ : 'लाठी से सिर फोड़ने की कांग्रेस की धमकी से मैं डरने वाला नहीं', गरीब का बेटा हूं सर उठाकर चलता हूं : विजय संकल्प शंखनाद रैली

    विजय संकल्प शंखनाद रैली - बस्तर से मोदी की दहाड़

    मेरा भारत मेरा परिवार - प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारतीय जनता पार्टी विजय संकल्प शंखनाद रैली में सोमवार को हुँकार भरते हुए कहा कि कांग्रेस के नेता लाठी से मोदी का सिर फोड़ने की धमकी दे रहे हैं, लेकिन मोदी गरीब का बेटा है सिर ऊँचा करके चलता है। मोदी इनकी धमकियों से डरने वाला नहीं है। गरीबों को जिन्होंने लूटा उन्हें सजा मिलनी चाहिए। कोई घर में घुस आए और लूटपाट करने लगे तो परिवार का हर सदस्य भिड़ जाता है और मोदी के लिए तो मेरा भारत मेरा परिवार। प्रधानमंत्री श्री मोदी ने बस्तर की धरती पर भानपुरी विधानसभा क्षेत्र स्थित स्व. बलीराम कश्यप के ग्राम आमाबाल में भाजपा की महती चुनावी सभा को संबोधित करते हुए कहा कि मोदी की रक्षा देश के करोड़ों लोग करेंगे। हमने जब घोटालेबाजों का रास्ता रोका, बिचैलियों की कमाई बंद की, तब से इनका पारा सातवें आसमान पर पहुंच गया। छत्तीसगढ़ में कांग्रेस के भ्रष्टाचार किया। यहाँ के लोगों के साथ धोखा किया, उनकी जांच चल रही है। अपने देश को अपने परिवार को लूटपाट से बचाने में जुटा हूं। मोदी कहता है भ्रष्टाचार हटाओ और कांग्रेस कहती है भ्रष्टाचारी बचाओ।

    प्रधानमंत्री श्री मोदी ने बस्तर में जनसंघ व भाजपा के प्रमुख स्तम्भ रहे स्व. बलीराम कश्यप की यादों को साझा करते हुए कहा कि कांग्रेस की सरकार के समय भ्रष्टाचार ही देश की पहचान बन गई थी और इससे सबसे ज्यादा नुकसान गरीबों का होता है। भ्रष्टाचार गरीब का अधिकार छीन लेता है। 2014 से पहले लाखों-करोड़ों रुपए के घोटाले होते थे। कांग्रेस की सरकार में दिल्ली से 1 रुपए निकलता था और सिर्फ 15 पैसा लोगों तक पहुंचता था। यह बात कांग्रेस के ही प्रधानमंत्री ने कही थी। तो बताओ, वह कौन-सा 'पंजा' था जो बाकी के 85 पैसे मारता था। मोदी ने कांग्रेस की लूट की ऐसी व्यवस्था बंद कर दी। श्री मोदी ने कहा कि भाजपा सरकार ने 10 साल में 34 लाख करोड रुपए सीधे लाभार्थियों के बैंक खाते में भेजे हैं। दिल्ली से 1 रुपए भेजे और पूरे 100 पैसे गरीब के खातों में जमा हो गए। जब सीधा पैसा जा रहा है और एक भी पैसा कांग्रेस लूट नहीं पाई। अगर देश में कांग्रेस की सरकार होती तो यह कांग्रेस गरीबों के 34 लाख करोड़ रुपए में से 28 लाख करोड़ रुपए लूट लेती। आजादी के बाद कांग्रेस को देश लूटने का लाइसेंस मिल गया था। 2014 में भाजपा की सरकार बनने के बाद मोदी ने कांग्रेस की लूट की लाइसेंस से कैंसिल कर दिया है और यह लाइसेंस इसलिए खत्म हुआ क्योंकि आप सभी के आशीर्वाद से मुझे लाइसेंस मिला था। जब उनकी दुकान बंद हुई और उनका लाइसेंस चला गया तब मोदी को गाली देने लगे।

    प्रधानमंत्री श्री मोदी ने कहा कि पिछले 10 वर्षों में देश कहाँ-से-कहाँ पहुँचा है, देश ने कितनी प्रगति की है, और उसमें आप सब का जो साथ मिला है। छत्तीसगढ़ वासियों ने मोदी की गारंटी पर मुहर लगाई है और आज इस विश्वास से पूरा देश कह रहा है- फिर एक बार मोदी सरकार। श्री मोदी ने कहा कि अनेक दशकों बाद देश ने भाजपा की स्थिर और मजबूत सरकार देखी है। गरीब का कल्याण हमारी सरकार की सबसे बड़ी प्राथमिकता रही। आजादी के बाद दशकों तक गरीब की जरूरत को कांग्रेस की सरकारों ने नजरअंदाज किया। कच्ची छत के नीचे रहने की तकलीफ क्या होती है यह मोदी जानता है, जब घर में राशन नहीं होता तब एक माँ पर क्या बीतती है यह मोदी जानता है, जब दवा खरीदनी हो और दवा खरीदने के लिए घर में पैसा नहीं होते तो इसकी तकलीफ मोदी जानता है। इसीलिए हमने ठाना है कि जब तक गरीब की हर चिंता दूर नहीं होगी, हम चैन से नहीं बैठेंगे। भाजपा की सरकार ने गरीब के लिए अनेक कल्याणकारी योजनाएँ बनाईं, गरीबों को उनका हक दिया। सरकार के इन प्रयासों का नतीजा है देश में 25 करोड़ से ज्यादा लोग गरीबी से बाहर निकले हैं।

    प्रधानमंत्री श्री मोदी ने कहा कि बस्तर विजन से ही हमने आयुष्मान आरोग्य मंदिर की शुरुआत की। आयुष्मान आरोग्य मंदिर देशभर में गरीब को सस्ते इलाज, सस्ती जाँच का लाभ प्रमुखता से दे रहा है। यहाँ छत्तीसगढ़ में भी हजारों आयुष्मान आरोग्य मंदिर बनाए गए हैं। इन आरोग्य मंदिरों की वजह से गरीबों को इलाज की बहुत बड़ी सुविधा मिली है, उनकी चिंता कम हुई है। 5 लाख रुपए तक मुफ्त इलाज वाली आयुष्मान भारत योजना भी गरीबों के बहुत काम आ रही है। इस योजना से देश के करोड़ों लोगों ने इलाज कराया। हमने 11 हजार से ज्यादा जन औषधि का केंद्र खोले हैं, जहाँ 80 प्रतिशत की छूट के साथ दवाई दी जाती है। इससे भी गरीबों के 30 हजार करोड़ रुपए दवाई खरीदने में खर्च होता था, उससे बचत हुई। इसलिए आज देश का गरीब कह रहा है, खर्च कम बचत बार-बार, फिर एक बार मोदी सरकार। श्री मोदी ने कहा कि दुनिया में सबसे बड़ा महासंकट आया- कोरोना। लोग कहते थे, भारत कैसे बचेगा? भारत के गरीबों का क्या होगा? कांग्रेस की अमीरों की सरकार के समय देश में बीमारी का टीका आने में दशकों लग जाते थे। लेकिन हमने कहा हम अपने देश के हर गरीब के साथ हैं, हम गरीबों को मुफ्त वैक्सीन भी देंगे, गरीबों को मुफ्त राशन भी देंगे। ऐसे समय में, जब दूसरे देशों में कोरोना का एक-एक टीका हजारों रुपए में लग रहा था, हमने आपको मुफ्त में टीका लगवाया। ऐसे समय में, जब दूसरे देशों में खाने के लिए हाहाकार मचा था, हमने गरीब भाई-बहनों के लिए मुफ्त में राशन की दुकान खुलवा दी। मुफ्त राशन देने की योजना हमने शुरू की और यह योजना 5 वर्षों तक आगे और चलेगी।

    प्रधानमंत्री श्री मोदी ने रामनवमी पर्व की चर्चा करते हुए कहा कि इस बार अयोध्या में हमारे रामलला टेंट में नहीं, बल्कि भव्य मंदिर में दर्शन देंगे। 500 साल बाद यह सपना पूरा हुआ है। इसकी सबसे अधिक खुशी राम के ननिहाल छत्तीसगढ़ को होना स्वाभाविक है। लेकिन कांग्रेस और इंडी गठबंधन राम मंदिर बनने से नाराज है। कांग्रेस का 'शाही परिवार' नाराज है। राम मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा का आमंत्रण कांग्रेस के नेताओं ने ठुकरा दिया। कांग्रेस के जिन नेताओं ने इस कदम को गलत बताया, उन्हें पार्टी से निकाल दिया गया। जो नेता प्राण प्रतिष्ठा में पहुँचे, उन्हें 6 साल के लिए पार्टी से निकाल दिया गया। यह दिखाता है कि कांग्रेस तुष्टीकरण के लिए किसी भी हद को पार कर सकती है। कांग्रेस ने जो घोषणा पत्र बनाया है उसमें भी मुस्लिम लीग की छाप है। कांग्रेस के लोगों को देश के लोगों और उनकी आस्था व भावनाओं से कोई लेना-देना नहीं है। छत्तीसगढ़ की भाजपा सरकार की उपलब्धियों की चर्चा करते हुए श्री मोदी ने कहा कि यह भाजपा की सरकार है, जो हर गारंटी को जमीन पर उतार रही है। यहाँ गरीब परिवारों, आदिवासी, पिछड़े परिवारों का घर बनना शुरू हो गया है। चुनाव के दौरान जब बूथों पर जाएंगे तो केंद्र सरकार की योजनाओं का लाभ जिन-जिनको मिला है, उनसे बात करें और जिन्हें इन योजनाओं का लाभ नहीं मिला है, उनको भी लाभ मिलेगा, इस बात की उनको गारंटी दे देना। आने वाले 5 वर्षों में जो लाभ से वंचित रह गए हैं उनको भी मोदी की सारी योजनाओं का लाभ देने वाले है। श्री मोदी ने कहा कि जो योजनाएँ बना रहे हैं, वह अधिकतर योजनाएँ माता एवं बहनों के नाम से है। मोदी ने देश की 3 करोड़ बहनों को लखपति दीदी बनाने की गारंटी दी है। 3 करोड़ महिलाओं को लखपति दीदी बनाने का फैसला भाजपा की सरकार ने लिया है। वन-धन केन्द्रों से जुड़ी हजारों-लाखों बहनें भी इसमें शामिल हैं।

    प्रधानमंत्री श्री मोदी ने कहा कि जिस आदिवासी समाज का कांग्रेस ने हमेशा तिरस्कार किया, उसी आदिवासी समाज की बेटी आज देश की राष्ट्रपति है। भाजपा ने ही छत्तीसगढ़ को पहला आदिवासी मुख्यमंत्री दिया है। आदिवासियों के लिए अलग मंत्रालय और अलग बजट भी भाजपा ने ही बनाया है। आदिवासी कल्याण का बजट 5 गुना बढ़ाया गया है। कांग्रेस के शासनकाल में पूरे देश में सवा सौ से भी कम एकलव्य आदिवासी विद्यालय थे। आज अकेले छत्तीसगढ़ में 70 से भी अधिक एकलव्य विद्यालय हैं। आपका सपना ही भाजपा का सपना है और इसे पूरा करने के लिए हर पल देश के लिए काम कर रही है। जिसको किसी ने नहीं पूजा, उसको मोदी ने पूजा है। इसलिए जनजातियों में भी सबसे पिछड़ी जनजातियों के विकास के लिए पहली बार कोई योजना बनी। 24 हजार करोड़ रुपए की पीएम जन-मन योजना से छत्तीसगढ़ के अनेक जनजातियों का जीवन आसान हुआ है, बेहतर बना है। यह मोदी की गारंटी है। श्री मोदी ने कहा, मोदी आराम करने के लिए नहीं काम करने के लिए पैदा हुआ है। हमारा लक्ष्य देश को विकसित बनाना है, हर परिवार को समृद्ध बनाना है। इसलिए छत्तीसगढ़ के सभी सीटों पर भाजपा को पड़ने वाला आपका हर वोट मोदी की ताकत बढ़ाएगा। इसलिए बस्तर में 19 अप्रैल को महेश कश्यप को और 26 अप्रैल को काँकेर में भोजराज नाग को ज्यादा-से-ज्यादा वोट देकर विजयी बनाएं।

  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बस्तर में करेंगे विजय संकल्प शंखनाद रैली

    लोकसभा चुनाव के प्रथम चरण के मतदान से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी छत्तीसगढ़ के बस्तर के अंतर्गत छोटे आमाबाल में एक बड़ी सभा को संबोधित करने आ रहे हैं | विजय संकल्प शंखनाद रैली के माध्यम से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बस्तर में भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशियों के पक्ष में हुंकार भर कर छत्तीसगढ़ की 11 सीटों से एक तरफा भाजपा सांसदों को जितवा जाकर लोकसभा पहुंचाने पूरा जोर लगाने आ रहे हैं |

     

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कि यह विशाल विजय संकल्प रैली 8 अप्रैल को बस्तर लोकसभा के नारायणपुर विधानसभा के छोटे आ बाल भानपुरी में आमचो मोदी, आमचो भाजपा, आमचो कमल के नारे के साथ शुरू होगी | प्रधानमंत्री की विजय संकल्प शंखनाद रैली के लिए सुरक्षा व्यवस्था के साथ-साथ संपूर्ण तैयारी पूरी हो गई है | केंद्रीय सुरक्षा बल के साथ-साथ पुलिस एवं प्रशासन के तमाम बड़े अधिकारियों की ड्यूटी लगाई गई है |

  • पुलिस महानिरीक्षक रायपुर रेंज कार्यालय में सभी विभागों की हुई महत्वपूर्ण बैठक
    पुलिस महानिरीक्षक, रायपुर रेंज अमरेश कुमार मिश्रा द्वारा केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल के अधिकारीगण, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक गरियाबंद, पुलिस अधीक्षक महासमुंद एवं धमतरी, रेंज के नक्सल जिले में पदस्थ अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक, पुलिस अनुविभागीय अधिकारी / उप पुलिस अधीक्षक तथा रेंज के नक्सल क्षेत्र में पदस्थ विशेष आसूचना शाखा के अधिकारियों की बैठक पुलिस महानिरीक्षक रेंज कार्यालय में ली गई । आईजी अमरेश कुमार मिश्रा ने बैठक में माओवादी गतिविधियों, आगामी लोकसभा निर्वाचन 2024 की तैयारी एवं UAPA के तहत पंजीबद्ध प्रकरणों व न्यायालय में सुनवाई की प्रगति की समीक्षा की गई । बैठक में आईजी अमरेश कुमार मिश्रा ने माओवादी गतिविधियों की समीक्षा कर आसूचना आधारित प्रभावी नक्सल ऑपरेशन संचालित किये जाने तथा माओवादियों को सहयोग देने वाले व्यक्तियों को चिन्हांकित कर कार्यवाही किये जाने व नक्सल अभियान में शामिल समस्त इकाईयों को आसूचना संकलन सुदृढ़ करने के निर्देश दिये । आगामी लोकसभा निर्वाचन 2024 को निष्पक्ष एवं शांतिपूर्ण ढंग से सम्पन्न कराने हेतु आईजी अमरेश कुमार मिश्रा द्वारा आवश्यक तैयारियों की समीक्षा की गई। इस संबंध में प्राप्त होने वाले केन्द्रीय अर्धसैनिक बल को चुनाव आयोग की गाईड लाइन के अनुसार आवश्यक संसाधन उपलब्ध कराने एवं क्षेत्र की भौगोलिक स्थिति तथा नक्सल परिदृष्य से अवगत कराने के निर्देश दिये गये। पुलिस महानिदेशक अमरेश कुमार मिश्रा ने आदर्श आचार संहिता का पालन कराने तथा चुनाव को प्रभावित करने वाले असामाजिक तत्वों को चिन्हांकित कर उनके विरूद्ध नियमानुसार वैधानिक कार्यवाही करने के निर्देश दिये साथ ही सीमावर्ती राज्य के पुलिस अधिकारियों से समन्वय स्थापित कर संयुक्त नक्सल अभियान संचालित करने के निर्देश दिये गये । आईजी ने UAPA के तहत लंबित प्रकरणों की समीक्षा एवं न्यायालय में लंबित प्रकरणों की सुनवाई एवं उसकी प्रगति के संबंध में चर्चा की। लंबित प्रकरणों के त्वरित निराकरण हेतु आवश्यक दिशा निर्देश भी दिये ।
  • राज्य में शराब की कीमतों में लगभग 30 फीसदी की बढ़ोतरी
    छत्तीसगढ़ में मदिरा का सेवन हुआ महंगा, नई नीति के तहत सरकार ने लगभग 30 प्रतिशत बढ़ाई शराब की कीमत *महतारी वंदन योजना की भरपाई के लिए भाजपा ने शराब की कीमतों में वृद्धि कर अरबों रुपए वसूली का निकला रास्ता* अपने चुनावी घोषणा पत्र में भारतीय जनता पार्टी ने छत्तीसगढ़ की महिलाओं को ₹1000 प्रतिमाह महतारी वंदन योजना के तहत देने की घोषणा की थी, भारतीय जनता पार्टी की इस गारंटी को महिलाओं ने हाथों हाथ लिया और छत्तीसगढ़ में भारतीय जनता पार्टी की सरकार बन गई अब सरकार बनने के बाद मोदी की गारंटी को अमल में लाने की बात हुई तो भारतीय जनता पार्टी ने 10 मार्च को छत्तीसगढ़ की महिलाओं को अपने वादे के तहत 70 लाख महिलाओं को₹1000 के हिसाब से महतारी वंदन योजना की राशि का भुगतान करके अपने वादे को निभाने की शुरुआत तो कर दी परंतु भारी भरकम रकम हर मां कहां से लाएं शायद इसके लिए भारतीय जनता पार्टी के शीर्ष नेतृत्व ने इसकी जिम्मेदारी प्रदेश के वित्त मंत्री ओपी चौधरी को सौंप कर उन्हें प्रतिमाह महतारी वंदन योजना के लिए वित्तीय व्यवस्था करने के निर्देश दिए | आईपीएस अधिकारी रहे ओपी चौधरी ने वित्तीय व्यवस्था के लिए शराब की कीमतों में भारी वृद्धि का रास्ता निकाला और साथ ही पूर्व की भूपेश बघेल सरकार के भू पंजीयन में 30% की छूट को समाप्त कर शासकीय खजाने में वृद्धि का फार्मूला लागू करवाया और कहा जाए तो शराब की कीमतों में वृद्धि और भूमि पंजीयन में दीजिए आ रही छूट की समाप्ति से वसूली कर महतारी वंदन योजना की भरपाई एक प्रकार से प्रदेश के नागरिकों के साथ धोखा किया जा रहा है| इसे यूं भी कहा जा सकता है कि पुरुषों से वसूल कर उन्हीं के घर की महिलाओं को महतारी वंदन योजना की राशि दी जा रही है | जबकि होना यह चाहिए था कि मोदी की गारंटी की जवाबदारी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को केंद्र के खजाने से देनी चाहिए थी परंतु यहां तो इसकी टोपी उसके सर वाली बात हो गई |

     लोकसभा चुनाव से पहले छत्तीसगढ़ सरकार ने बड़ा फैसला लेते हुए शराब की कीमतों में बदलाव किया है. सरकार ने नई शराब नीति के तहत शराब के दाम बढ़ाए हैं. नई कीमतें एक अप्रैल से लागू हो गई हैं.

     अप्रैल महीने से नए वित्त वर्ष 2024-25 की शुरुआत होते ही छत्तीसगढ़ सरकार ने राज्य भर में नए नियम लागू कर दिए हैं. लोकसभा चुनाव से पहले छत्तीसगढ़ सरकार ने बड़ा फैसला लेते हुए नई शराब नीति  के तहत शराब की कीमत बढ़ा दी है. जिसके बाद शराब की नई कीमतें सोमवार, एक अप्रैल से पूरे राज्य  में लागू हो गई हैं. सरकार के इस फैसले के बाद राज्य भर के शराब के शौकीन नई भाजपा सरकार को कोस रहे हैं.

    15 प्रतिशत बढ़े दाम

    बता दें कि नई शराब नीति के तहत छत्तीसगढ़ सरकार ने राज्य में शराब की कीमतों में 15 फीसदी की बढ़ोतरी कर दी है. सरकार के इस फैसले के बाद से शराब की नई दरें राज्य में लागू हो चुकी हैं. जिसको लेकर शराब के शौकीन लोगों में नाराजगी और मायूसी स्पष्ट तौर पर नजर आ रही है. 

  • मिल सकती है मनपसंद ब्रांड की शराब व मनचाही ब्रांड की बीयर

    CG New Excise Policy  

    शराब प्रेमियों को जल्द ही अच्छी खबर मिल सकती है. उन्हें आने वाले दिनों में दुकानों में मनपसंद ब्रांड की शराब व मनचाही ब्रांड की बीयर मिलेगी. उनकी मांग पर ब्रांडेड व महंगी शराब भी मिलेगी. नए वित्तीय वर्ष में शराब व्यापारियों का एकाधिकार समाप्त हो सकता है. वहीं बॉटलिंग प्लांट की अनुमति मिलने से कारोबारियों में स्पर्धा भी बढ़ेगी, जिससे शासन को मिलने वाली राजस्व में वृद्धि हो सकती है.

    प्रदेश के मुखिया विष्णुदेव साय ने आबकारी विभाग को अपने पास रखा है. जिससे आबकारी नीति में कड़े और सख्त बदलाव के अनुमान लगाए जा रहे हैं. इसकी शुरुआत 24 जनवरी को वित्तीय वर्ष 2024-25 के लिए बनाई गई नई आबकारी नीति से हो चुकी है. जिससे बीते पांच साल से चली आ रही व्यवस्था टूट सकती है. बताया जा रहा है कि आबकारी नीति में एफएल 10 लाइसेंस की व्यवस्था को यथावत रखने का निर्णय लिया गया है.  जिसके तहत शराब डीलर किसी भी निर्माता कंपनी से शराब खरीदकर सरकार को बेच सकता है. निर्माता कंपनियों से खरीदी व सप्लाई के झमेले से मार्केटिंग कंपनी के अफसर दूर रहेंगे.

     

    लोगों को रोजगार का अवसर मिलेगा
    नई आबकारी नीति में शराब प्रेमियों की मांग पर कोई भी ब्रांड की शराब की बिक्री को बंद कर मनपसंद शराब देने का निर्देश दिया गया है. इसके अलावा प्रदेश में बॉटलिंग प्लांट को अनुमति देने की तैयारी की जा रही है. जिससे राज्य में लंबे समय से चल रहा सिंडीकेट टूटेगा और बाहर के व्यापारी को समान अवसर मिल सकेगा. इसके चलते व्यवसायिक प्रतिस्पर्धा बढ़ेगी, लोगों को रोजगार का अवसर मिलेगा. हालांकि, इसके लिए अभी इंतजार करना पड़ सकता है.

    शराब के दाम में नहीं होगी बढ़ोत्तरी
    बताया जा रहा है कि नई आबकारी नीति में शराब की कीमत नहीं बढ़ाने का निर्णय लिया गया है. छत्तीसगढ़ में पहले से ही अन्य राज्यों की अपेक्षा शराब की कीमत अधिक है. खासकर देशी शराब की कीमत हर साल बढ़ाई जाती है, लेकिन बॉटलिंग प्लांट व स्प्रिट की सप्लाई से दाम पर असर नहीं पड़ेगा. दीगर प्रांत से अवैध शराब की सप्लाई नहीं होगी. प्रदेश में ही टेलीग्राम लगेगा और ट्रैक एंड ट्रेस सिस्टम से शराब की सप्लाई होगी.

    मिलावटी शराब की शिकायत में आएगी कमी
    नई आबकारी नीति के लागू होने से मिलावटी शराब की शिकायत में भी कमी आ सकती है. दरअसल वर्तमान में विभिन्न ब्रांड के शराब बाजार से गायब हैं. दुकानों में नए नए ब्रांड के शराब की बिक्री की जाती है. जिसके स्वाद से शराब प्रेमी अनभिज्ञ होते हैं. कई बार उन्हें शराब में मिलावट की भनक तक नहीं लगती. यदि जानकारी हो भी जाए तो अलग अलग तर्क देकर शांत करा दिया जाता है. अब कर्मचारी ऐसा नहीं कर सकेंगे.

    तस्करी पर लगेगा अंकुश
    आबकारी विभाग द्वारा संचालित दुकान में शराब के कई ऐसे ब्रांड है, जो उपलब्ध ही नहीं है. कई ब्रांड तो चलन से ही बाहर हो चुका है. जिसके चलते शराब प्रेमी दीगर प्रांत से शराब की खरीदी करते हैं. शराब प्रेमियों को उनकी पसंदीदा ब्रांड उपलब्ध कराने तस्कर भी सक्रिय रहते है, जो एमपी, महाराष्ट्र सहित अन्य राज्यों से शराब की खेप लेकर आते हैं, अब जब शराब प्रेमियों को उनके मन पसंद ब्रांड की शराब मिलेगी, तो तस्करी पर भी अंकुश लगना तय है.

  • मोदी जी आपको मुझ पर भरोसा नहीं है क्या ? - EVM मशीन
    भारतीय जनता पार्टी के कांग्रेस के खिलाफ शुरू किए गए कार्टून अभियान के जवाब में कांग्रेस ने भी कार्टून जारी किया है जिसमें ईवीएम मशीन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से ED और आईटी की कार्यवाही पर सवाल कर रही है | कार्टून में ईवीएम मशीन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से पूछ रही है कि क्या आपको मुझ पर भरोसा नहीं है ?
  • छत्तीसगढ़ में बाकी बचे चार प्रत्याशियों की कांग्रेस ने की घोषणा
    लंबे इंतजार के बाद कांग्रेस ने छत्तीसगढ़ के बाकी बच्चे चार प्रत्याशियों की घोषणा कर दी है | कांग्रेस ने सरगुजा से MS शशि सिंह - रायगढ़ से मेनका देवी सिंह, बिलासपुर से देवेंद्र सिंह यादव और कांकेर से बीरेश ठाकुर को प्रत्याशी घोषित किया है | छत्तीसगढ़ में भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस के सभी प्रत्याशियों की घोषणा के बाद तय हो गया है कि कौन किसके सामने अपनी अपनी जीत की कोशिश करेगा |
  • इलेक्टोरल बांड में भाजपा द्वारा चार तरीके से वसूली
    *इलेक्टोरल बांड में भाजपा द्वारा चार तरीके से वसूली* *इलेक्टोरल बांड में मोदी सरकार ने देश को धोखा दिया* रायपुर/23 मार्च 2024। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष दीपक बैज ने कहा कि इलेक्टोरल बांड घोटाले में भाजपा ने चार तरीके से घोटाला किया है। 1. चंदा दो, धंधा लो यानी प्रीपेड रिश्वत 2. ठेका लो, रिश्वत दो यानी पोस्टपेड रिश्वत 3. हफ़्ता वसूली यानी छापेमारी के बाद रिश्वत 4. फ़र्ज़ी कंपनियां यानी शेल कंपनियां सुप्रीम कोर्ट की वजह से इलेक्टोरल बांड का डेटा सामने आने से इन सारे घोटाले जनता के सामने आ गये है।  प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष दीपक बैज ने कहा कि चंदा दो, धंधा लो (प्रीपेड रिश्वत) और ठेका लो, रिश्वत दो (पोस्टपेड रिश्वत)ः के तहत 38 ऐसे कॉर्पोरेट समूहों ने इलेक्टोरल बांड के माध्यम से चंदा दिया है, जिन्हें केंद्र या भाजपा की राज्य सरकारों से 179 प्रमुख ठेको और प्रोजेक्ट क्लीयरेंस मिले हैं। बीजेपी को इलेक्टोरल बांड के माध्यम से 2,004 करोड़ रुपए का चंदा देने के बदले इन कंपनियों को कुल मिलाकर 3.8 लाख करोड़ के कॉन्ट्रैक्ट्स और प्रोजेक्ट्स मिले हैं। चंदा दो, धंधा लो (प्रीपेड रिश्वत)ः बीजेपी को कुल मिलाकर 551 करोड़ रुपए का चंदा मिला और 3 महीने के भीतर 1.32 लाख करोड़ रुपए के कॉन्ट्रैक्ट/प्रोजेक्ट्स की स्वीकृति केंद्र या भाजपा की राज्य सरकारों द्वारा दिए गए हैं। ठेका लो, रिश्वत दो (पोस्टपेड रिश्वत)ः पहले केंद्र या भाजपा की राज्य सरकारों द्वारा 62,000 करोड़ रुपए के कॉन्ट्रैक्ट/प्रोजेक्ट स्वीकृत किए गए और 3 महीने के भीतर उसके बदले 580 करोड़ रुपए की पोस्टपेड रिश्वत (इलेक्टोरल बांड के रूप में) भाजपा को दी गई। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष दीपक बैज ने कहा कि हफ़्ता वसूली में 41 कॉर्पोरेट समूहों को कुल 56 ईडी/सीबीआई/आईटी छापों का सामना करना पड़ा। इन सभी ने 2,592 करोड़ रुपए बीजेपी को दिए हैं। इनमें से 1,853 करोड़ रुपए छापेमारी के बाद दिए गए हैं। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष दीपक बैज ने कहा कि फ़र्ज़ी (शेल) कंपनी फ़र्ज़ी कंपनियों द्वारा दिए गए कुल 543 करोड़ में से 16 शेल कंपनियों ने बीजेपी को 419 करोड़ का चंदा दिया। इनमें मनी लॉन्ड्रिंग के लिए वित्त मंत्रालय की उच्च जोखिम वाली निगरानी सूची में शामिल कंपनियां, अपने गठन के कुछ महीनों के भीतर करोड़ों का दान देने वाली कंपनियां और अपने पेड-अप कैपिटल के कई गुना दान करने वाली कंपनियां शामिल थीं। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष दीपक बैज ने कहा कि मोदी सरकार ने इलेक्टोरल बांड मामले में केन्द्र सरकार की विश्वसनीयता को दांव पर लगा दिया। केन्द्रीय एजेंसियों को वसूली एजेंट बनाकर रख दिया। मोदी सरकार का यह कदम देश के लोकतंत्र के लिये घातक । इस घोटाले के लिये भाजपा का एकाउंट सीज किया जाये तथा उसकी मान्यता रद्द हो।  
  • कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे की पत्रकार वार्ता : भाजपा पर लगाए गंभीर आरोप
    कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे की पत्रकार वार्ता 18वीं लोकसभा के आम चुनाव की घोषणा तो हो चुकी है , देश का हर नागरिक उत्सुक है सभी राजनीतिक दलों के लिए समान लेवल प्लेग्राउंड हो यह नहीं की जो सत्ता में है उनका रिसोर्सेस पर मोनोपोली हो यह नहीं कि उनका मीडिया पर एकाधिकार हो यह नहीं की सत्ताधारी दल का संवैधानिक इटेड इलेक्शन कमिशन दूसरी ऑटोनॉमस बॉडी पर एक छात्र नियंत्रण हो दुर्भाग्य से जो पिछले दिनों से सुप्रीम कोर्ट के हस्तक्षेप के बाद इलेक्टरल बॉन्ड की बात आई है वह बहुत ही चिंताजनक है क्योंकि इससे हमारे देश की छवि को ठेस पहुंची है हमारे देश में पिछले 70 सालों में निष्पक्ष चुनाव और स्वस्थ लोकतंत्र की छवि बनाई थी उसे पर प्रश्न चिन्ह आज उठ गया है | । सत्ताधारी दल द्वारा एक खतरनाक खेल खेला गया है कि विपक्ष के बैंक अकाउंट को चीज करवाया गया है ताकि विपक्षी पार्टी पैसे के अभाव में ठीक से चुनाव ना लड़ पाए देश की जनता एक आम नागरिक देख सकता है कि भाजपा ने चुनावी चंदा बंद से 56 परसेंट चंदा हासिल किया है कांग्रेस को 11% ही मिले हैं यह हुआ पैसे हैं जो बंद से भाजपा ने लिए हैं इसके अलावा जो कैश में उनके पास आता होगा जिसका कोई अकाउंट ही नहीं है आप उनके खर्च देखिए हर तरफ इनका एडवर्टाइजमेंट लगा है और एडवर्टाइजमेंट में भी मोनोपोली बना लिए हैं प्रिंट मीडिया हो टीवी हो और सोशल मीडिया हो इनका बहुत हिस्सा है लेकिन इतने पैसे एक पार्टी जमा कर सकती है हिंदुस्तान के 70 साल के डेमोक्रेटिक व्यवस्था में ऐसा कोई किसी ने नहीं किया है यह पहली बार यह सरकार अनेक तरीकों से पैसे आज उठा रही है इनके फाइव स्टार ऑफिस से हैं हर जगह है | एक-एक मीटिंग का इतना खर्च होता है तो शायद ही कोई पार्टी कोई भी पक्षी पार्टी इसका 10% भी नहीं कर सकती मैं कहना नहीं चाहता कि भाजपा ने किस तरीका से कंपनियों से पैसे लिए क्योंकि सुप्रीम कोर्ट तथ्यों की जांच कर रही है हमें उम्मीद है की सच्चाई बहुत जल्द हम सबके सामने आएगी और अंत में मैं देश के संवैधानिक संस्थाओं से अपील करता हूं कि अगर वह फ्री फेयर इलेक्शन चाहते हैं तो हमारी पार्टी को बगैर किसी रोक-टोक के बैंक अकाउंट का इस्तेमाल करने दें और जो इनकम टैक्स का क्लेम है कोर्ट के निर्णय के अनुसार सेटल हो जाएगा राजनीतिक दल टैक्स नहीं देते भाजपा ने भी कभी इनकम टैक्स नहीं दिया है लेकिन यह लागू सिर्फ कांग्रेस पर हो रहा है कोई पॉलिटिकल पार्टी इनकम टैक्स इनकम टैक्स के बारे में नहीं आती बीजेपी ने कभी नहीं दिया टैक्स इसके बाद भी अगर हमसे यह मांगा जा रहा है तो हम न्यायालय के अंतिम निर्णय का इंतजार करेंगे हम चाहते हैं कि कम से कम न्यायालय तो इस बात को देखें रूल आफ लॉ और गवर्नेंस जो संविधान के तहत होता है क्योंकि आज वह हुकूमत में है कल दूसरी पार्टी आएगी लेकिन हमको यह लेवल जो पहले से बनाया था यह 18वीं लोकसभा का चुनाव जो यह हो रहा है हम सब देख रहे हैं कि यह लोग कुचल रहे हैं हमको चुनाव लड़ने की स्थिति में वह छोड़ना नहीं चाहते हैं पैसे को दबा करके वह एक तरफ इलेक्शन कर लेना चाहते हैं हमारे जो अकाउंट फ्रीज किए हैं वह तत्काल रिलीज होना चाहिए और हमको चुनाव में डेमोक्रेसी और संविधान को बचाने के लिए लेवल प्लेइंग की छूट मिलना चाहिए कांग्रेस प्रेसिडेंट मल्लिकार्जुन खड़गे का बयान
Previous123456789...194195Next