Rajdhani
  • खेतों में अच्छी फसल के लिए दो बार करना चाहिए दवाईयों का छीड़काव 00 5200 खर्च कर किसान कमा सकते हैं 12 हजार

    बेमेतरा। छत्तीसगढ़ में मुख्यत: खरीफ के मौसम में धान, सोयाबीन, उड़द एवं अरहर की मुख्य फसलें और रबी मौसम में चना एवं तिवड़ा का उत्पादन लिया जाता है। लेकिन हमेशा देखा जाता है कि दवाईयों का सही छीड़काव नहीं होने के कारण वे फसल के नुकसान से ज्यादा चिंतित रहते है। किसानों की इन्हीं समस्याओं को देखते हुए सवाना सीड्स और एडमा इंडिया ने फुलपेज राइस क्रॉपिंग सॉल्यूशन की सौगात दी हैं जिसके इस्तेमाल से किसान 5200 रुपये खर्च कर 12 हजार रुपये कमा सकते हैं। इसके लिए किसानों को अपने खेतों में अच्छी फसल के लिए दो बार दवाईयों का छिड़काव करना चाहिए। पहली बार 15 से 20 और दूसरी बार 35 से 40 दिनों में इससे किसानों को रोपाई करने की समस्या नहीं होगी। लागत में प्रति एकड़ 6000 रुपये तक होगी बचतख् धान की पैदावार में 25-40 प्रतिशत तक की वृद्धि होगी साथ ही ग्रीनहाउस गैस उत्सर्जन में 25-30 प्रतिशत की कमी आएगी। 
    फेडरेशन ऑफ सीड इंडस्ट्री ऑफ इंडिया के अजय राणा ने इसके दूरगामी परिणामों पर चर्चा करते हुए कहा कि बेमेतरा में क्षेत्र के एक हजार से अधिक स्थानीय किसानों की उपस्थिति में फुलपेज राइस क्रॉपिंग सॉल्यूशन को लॉन्च किया जो धान की खेती की यह नई तकनीक किसानों के लिए कई मायनों में काफी लाभकारी है। फुलपेज राइस क्रॉपिंग सॉल्यूशन किसानों को खेती की लागत में प्रति एकड़ 6000 रुपये तक बचाएगा और पैदावार 25-40 प्रतिशज तक बढ़ाएगा। इससे ग्रीनहाउस गैस उत्सर्जन में भी 25-30त्न की कमी आएगी। यह राज्य में 60 लाख हेक्टेयर से भी अधिक जमीन पर धान की सीधी बुआई या धान की रोपाई के लिए डीएसआर विधि का उपयोग करने वाले किसानों के लिए एक वरदान है। उन्होंने बताया कि छत्तीसगढ़ के किसान हमेशा वीडी की समस्या की ज्यादा परेशान रहते हैं, क्योंकि वे अपने खेतों में समय-समय पर दवाईयों का छिड़काव करते हैं, मौसम के अनुसार पानी डालते हैं, मजदूरों को बुलाकर खेतों में काम करवाते हैं फसल लेने के बाद रोपाई भी कराते हैं, फिर भी इतनी मात्रा में फसल नहीं होता हैं जितना वे चाहते हैं। किसानों की इन्हीं परेशानियों को लेकर पिछले पांच सालों से सवाना सीड्स की टीम छत्तीसगढ़ में किसानों के बीच रहकर उनकी समस्याओं को जाना और उसके बाद वैज्ञानिकों की मदद से फुलपेज राइस क्रॉपिंग सॉल्यूशन का निर्माण किया जिसके इस्तेमाल से किसान अच्छे  फसल का उत्पादन कर सकते हैं। चूंकि अभी अधिकांश किसान गेहूं का फसल बोए हुए हैं और हमेशा देखा जाता हैं कि फसल उगने के बाद गेहूं एक तरफ झूक जाता हैं लेकिन फुलपेज राइस क्रॉपिंग सॉल्यूशन के इस्तेमाल से यह झूकेगा नहीं बल्कि ऊपर की ओर उठता ही चला जाएगा और किसान को इसे काटने में कठिनाई भी नहीं होगी। 
    किसानों को इस दौरान बताया कि स्मार्टराइस जेनेटिक्स और स्क्वाड बीज उपचार को समाहित करते हुए, फुलपेज राइस क्रॉपिंग सॉल्यूशन को सीधी बुआई वाले चावल (डीएसआर) के लिए विशेष रूप से डिज़ाइन किया गया है। इसमें अद्वितीय आईएमआईहर्बिसाइड टॉलरेंस विशेषता और एडमा के वेजिर हर्बिसाइड की विशेषताओं को संयुक्त रूप से एक साथ शामिल किया गया है। धान की एक व्यापक फसलप्रणाली के रूप में, फुलपेज भारत में धान की खेती को एक नया लाभकारी स्वरूप प्रदान करने के लिए तैयार है।

  • गुरु रुद्र कुमार के बयान पर बोले गुरु बालदास  जब कांग्रेस राज में हमारे समाज के बच्चो को नग्न प्रदर्शन करना पड़ा तब कहां थे गुरु रुद्र?

    जब भूपेश बघेल ने समाज के युवाओं को भौंकने वाला कहा तब गुरु रुद्र क्यो चुप रहे?

    घटना की सूक्ष्मता से होगी जांच,दोषियों पर होगी कड़ी कार्यवाही

    रायपुर। भारतीय जनता पार्टी ने गिरौदपुरी में जैतखाम को क्षति पहुँचाए जाने की घटना की निंदा करते हुए कहा है कि प्रदेश की भाजपा सरकार इस मामले की सूक्ष्मता से जाँच कर दोषियों पर कार्रवाई करेगी। भाजपा नेता व सतनामी समाज के धर्मगुरु संत बालदास साहेब ने इस घटना को लेकर कांग्रेस के प्रलाप को घड़ियाली आँसू बहाना बताया और कहा कि प्रदेश सरकार की तत्परता से इस घटना में अज्ञात लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर मामले की तहकीकात शुरू की जा चुकी है।

    भाजपा नेता व धर्मगुरु संत बालदास साहेब ने कहा कि निहित राजनीतिक स्वार्थ साधने के लिए कांग्रेस के लोग तमाम तरह के ओछे हथकंडों पर पहले भी उतरते आए हैं। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और उससे पहले मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय का कूटरचित वीडियो वायरल करके कांग्रेस निम्न स्तर की राजनीति करती रही है। इसलिए भाजपा की सरकार इस घटना को लेकर इस पहलू से भी जाँच करेगी कि क्या यह सामाजिक सद्भाव बिगाड़ने का कांग्रेस का कोई टूलकिटिया षड्यंत्र है? संत बालदास ने कहा कि मामले की जाँच में इन सारे तथ्यों का खुलासा होगा और फिर जो भी दोषी होगा, वह बख्शा नहीं जाएगा। संत बालदास साहेब ने कहा कि आज जैतखाम को पहुँची क्षति को लेकर घड़ियाली आँसू बहा रहे प्रदेश के पूर्व मंत्री गुरु रुद्र कुमार यह न भूलें कि सतनामी समाज के साथ भेदभाव कर सामाजिक हितों को सबसे ज्यादा चोट कांग्रेस के शासनकाल में पहुँचाई गई।

    भाजपा नेता और धर्मगुरु संत बालदास साहेब ने कहा कि भाजपा के शासनकाल में डॉ. रमन सिंह के मुख्यमंत्रित्व काल में कुतुबमीनार से भी ऊँचा जैतखाम बनाया गया और सतनामी समाज के साथ सतत सम्मानजनक व्यवहार किया गया। गुरु बालदास साहेब ने सवाल दागा कि जब कांग्रेस शासनकाल में अनुसूचित जाति वर्ग के युवकों को राजधानी की सड़कों पर नग्न प्रदर्शन के लिए मजबूर होना पड़ा था और तत्कालीन मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने सतनामी समाज के युवाओं को सार्वजनिक रूप से भौंकने वाला  कहकर अपमानित किया था तब रुद्रकुमार कहाँ थे? उस समय सतनामी समाज के आत्म-सम्मान के लिए उन्होंने क्यों नहीं आवाज उठाई?
    -----------------

  • झारखंड में महिलायें सुरक्षित नहीं है : गोमती साय

    कोडरमा लोकसभा की प्रवासी प्रभारी व विधायक श्रीमती गोमती साय ने कहा कि झारखंड में महिलायें सुरक्षित नहीं है। यहां जिस तरह अनाचार के मामले दर्ज हो रहें, यह बेहद ही पीड़ादायक है। यहां पर महिलाओं को न्याय नहीं रहा है और केवल मामलों पर पर्दा ड़ालने का काम किया जा रहा है। यह किसी से छिपा नहीं है। झारखंड के एक जेल में जिस तरह से महिला के साथ अनाचार की घटना सामने आई है। 20 मई को मातृशक्ति भाजपा को भारी मतों के साथ अपना आशीर्वाद देगी, जिससे राज्य की हेमंत सोरेन सरकार की तानाशाही से मुक्ति का रास्ता खुलेगा। कोडरमा लोकसभा में प्रभारी प्रवासी के रूप में विधायक गोमती साय को नियुक्त किया गया है। उनके साथ कृष्ण बिहारी जायसवाल, विश्वविजय तोमर, प्रेमचंद पटेल, रितेश गुप्ता व रामलखन सिंह पैंकरा की तैनाती की गयी है।

  • तात्यापारा चौक से शारदा चौक सड़क चौड़ीकरण पर व्यापारियों से महापौर एजाज ढेबर की चर्चा

     

    तात्यापारा चौक से शारदा चौक चौड़ीकरण : महापौर एजाज ढेबर की एमआईसी सदस्यों, पार्षदों सहित व्यापारियों से चर्चा की सकारात्मक पहल, ताकि चौड़ीकरण शीघ्र हो,  प्रभावितों को शीघ्र मुआवजा मिले, नागरिकों को वर्षों पुरानी यातायात जाम की समस्या से शीघ्र राहत मिले

    रायपुर - आज राजधानी शहर रायपुर के प्रथम नागरिक नगर पालिक निगम के महापौर एजाज ढेबर ने नगर निगम रायपुर की ओर से राजधानी शहर रायपुर के जीई मार्ग में तात्यापारा चौक से लेकर शारदा चौक तक के बहुप्रतिक्षित सड़क चौड़ीकरण को लेकर सकारात्मक पहल नगर हित में करते हुए एमआईसी सदस्य सर्व ज्ञानेश शर्मा, सुन्दर लाल जोगी, सहदेव व्यवहार, सुरेश चन्नावार, जितेन्द्र अग्रवाल, श्रीमती द्रोपती हेमंत पटेल, श्रीमती अंजनी राधेश्याम विभार, जोन अध्यक्ष  मन्नू विजेता यादव,  मनीराम साहू, पार्षद श्रीमती शीतल कुलदीप बोगा, सर्वश्री श्रीमती दिलेश्वरी अन्नूराम साहू,  उत्तम साहू,  प्रकाश जगत सहित व्यापारी संघ के पदाधिकारीगणों से होटल सुखसागर में सड़क चौड़ीकरण पर चर्चा की. महापौर ने व्यापारियों से कहा कि तत्कालीन मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल ने राज्य लोक निर्माण विभाग को शारदा चौक से तात्यापारा चौक चौड़ीकरण, मुआवजा आदि के लिए 120 करोड़ रूपये स्वीकृत किये थे, जो राज्य लोक निर्माण विभाग के पास उपलब्ध है. महापौर ने चर्चा की, तो व्यापारियों ने उनसे इस हेतु नियमानुसार निर्धारित मुआवजा राशि शीघ्र दिलवाने का अनुरोध किया, महापौर ने कहा कि राज्य शासन के निर्देश अनुसार मुआवजा राज्य लोक निर्माण विभाग को देना है. व्यापारियों ने महापौर से कहा कि सभी व्यापारीगण सड़क चौड़ीकरण के पक्ष में हैँ, केवल उन्हें नियमानुसार मुआवजा राशि शीघ्र मिले, यही उनका अनुरोध है. महापौर  एजाज ढेबर ने कहा कि सभी चाहते हैँ कि सड़क चौड़ीकरण शीघ्र हो एवं लोगों को यातायात जाम की वर्षों पुरानी जनसमस्या से राहत मिले. शीघ्र ही व्यापारियों को मुआवजा राशि मिले. इस हेतु महापौर ने आवश्यक होने पर व्यापारियों के साथ मिलकर प्रदेश के मुख्यमंत्री  विष्णु देव साय एवं उप मुख्यमंत्री एवं नगरीय प्रशासन एवं विकास मन्त्री  अरुण साव से मिलकर चर्चा कर शीघ्र समाधान हेतु सकारात्मक पहल करने का आश्वासन व्यापारियों को दिया है, ताकि बहुप्रतिक्षित सड़क चौड़ीकरण कार्य शीघ्र हो सके एवं लोगों को राहत मिल सके.

  •  पूर्व नक्सली युवा को वीडियो कॉल कर दी बधाई-उपमुख्यमंत्री शर्मा

    -उपमुख्यमंत्री शर्मा ने भटके हुए लोगों से की अपील, मुख्यधारा में लौटकर अपना जीवन संवारे

    उप-मुख्यमंत्री व गृह मंत्री श्री विजय शर्मा ने आज वीडियो कॉल कर कबीरधाम के उस युवा लिवरु उर्फ दिवाकर से बात की, जो कभी 14 लाख का इनामी नक्सली था, लेकिन अब समाज की मुख्यधारा से जुड़कर अपना भविष्य संवारने की दिशा में कदम बढ़ाते हुए पुलिस के सहयोग से 10वीं की परीक्षा पास कर ली है। उप-मुख्यमंत्री श्री शर्मा ने बड़ी आत्मीयता के साथ लिवरु से बात की, उनकी इस सफलता के लिए हार्दिक बधाई और उज्ज्वल भविष्य की शुभकामनाएं देते हुए उनका हौसला बढ़ाया।
    उपमुख्यमंत्री विजय शर्मा ने कहा छत्तीसगढ़ की भाजपा सरकार
    मुख्यमंत्री श्री विष्णुदेव साय के नेतृत्व में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व गृह मंत्री अमित शाह के निर्देशानुसार छत्तीसगढ़ में नक्सलवाद को खत्म करने के लिए कृत संकल्पित है । लेकिन हमारा यह दृढ़ विश्वास है कि यह कार्य बिना खून खराबा के हो । इसके लिए आदिवासी क्षेत्रों में विकास के लिए "नियद नेल्लानार योजना" मतलब "आपका अच्छा गांव" योजना की शुरुआत की है। जिससे नक्सल प्रभावित क्षेत्र का विकास शहरी क्षेत्र के समान किया जा रहा है इसके साथ ही सरकार की आत्मसमर्पण और पुनर्वास नीति से भी नक्सली प्रभावित होकर बंदूक छोड़ रहे हैं। और मुख्य धारा में शामिल हो रहे हैं। 
    उप-मुख्यमंत्री श्री शर्मा ने कहा है कि हमारे जो भी भाई बहन रास्ता भटककर नक्सली गतिविधियों से जुड़े हैं वे लिवरु उर्फ दिवाकर से प्रेरणा लें और मुख्यधारा में लौटकर अपने जीवन में भी सुखद परिवर्तन लाएं। हमारी सरकार और हमारी पुलिस हर तरह से सहयोग करने को तैयार है। 

    गौरतलब है कि दिवाकर ने महज 16 साल की उम्र में हथियार उठा लिया था। नक्सली के रूप में 17 वर्षों तक जंगल-जंगल भटकने के बाद अपनी पत्नी के साथ  पुलिस के सामने आत्मसमर्पण किया था। उनकी पत्नी पर 8 लाख रुपये का इनाम था। सरकार की पुनर्वास नीति के तहत आज वे समाज की मुख्यधारा से जुड़कर काम कर रहे हैं। 
     उप-मुख्यमंत्री श्री शर्मा ने इस बात के लिए प्रसन्नता व्यक्त की है कि कबीरधाम पुलिस की पहल और मदद से जिले के नक्सल प्रभावित गांवों के 105 छात्रों ने 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षा पास कर ली है। श्री शर्मा ने सभी को बधाई और शुभकामनाएं दी हैं। उन्होंने कबीरधाम पुलिस की सराहना की है। कबीरधाम पुलिस ने जिले के सुदूर वनांचल क्षेत्र और अति नक्सल प्रभावित गांवों के बच्चों को शिक्षित करने और उनकी पढ़ाई लिखाई जारी रखने के लिए  200 से अधिक बच्चों को कक्षा 10वीं व 12वीं का ओपन परीक्षा का फॉर्म भरावाया था। पुलिस विभाग की कड़ी मेहनत और लगन से आज 105 विद्यार्थी परीक्षा में पास हुए हैं। ये सभी विद्यार्थी नक्सल प्रभावित क्षेत्र के चिल्फी, तरेगाव, रेंगाखार झलमला, बोड़ला के सुदूर वनांचल गांव के हैं।

     

  • महिला नेत्रियों के उत्पीड़न पर घमंडिया गठबंधन में गजब का शर्मनाक तालमेल दिख रहा : भाजपा

    भाजपा प्रदेश महामंत्री श्रीवास्तव ने कहा : इस बार वही कार्यकर्ता और मातृशक्ति कांग्रेस को इतिहास के कूड़ेदान में डालने जा रही है, जिन्हें कभी भूपेश स्लीपर सेल और कभी डहरिया इलेक्शन मटेरियल बता रहे हैं

     भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश महामंत्री संजय श्रीवास्तव ने कहा है कि कांग्रेस और उसके नेतृत्व वाले 'घमंडिया गठबंधन' के नेताओं को न तो देश-प्रदेश की मातृ-शक्ति के आत्म-सम्मान से कोई सरोकार है और न ही अपने कार्यकर्ताओं की भावनाओं की फिक्र रह गई है। कांग्रेस और इंडी अलायंस के गलियारों में पोषित इसी सत्तावादी अहंकार ने छत्तीसगढ़ में कांग्रेस को सत्ता से उखाड़ फेंका है और अब लोकसभा चुनाव में कांग्रेस व उसके सहयोगी दलों का गुरूर चूर-चूर होने जा रहा है। छत्तीसगढ़ में करारी शिकस्त खाने के बाद बजाय कोई सबक लेने के कांग्रेस नेता आज भी कार्यकताओं और नेताओं का केवल मखौल उड़ाने में लगे हैं। श्री श्रीवास्तव प्रदेश के पूर्व मंत्री शिव डहरिया के उस बयान पर कटाक्ष कर रहे थे, जिसमें डह‌रिया ने सिरसा (हरियाणा) में भाजपा के पक्ष में प्रचार करने गए कांग्रेस से त्यागपत्र देने वाले 11 नेताओं को 'इलेक्शन मटेरियल' बताया है।

    भाजया प्रदेश महामंत्री श्री श्रीवास्तव ने कहा कि कांग्रेस राज‌नीतिक तौर पर इतनी खोखली हो चुकी है कि कोई अपने ही कार्यकर्ताओं को स्लीपर सेल बताता है तो कोई इलेक्शन मटेरियल। एक परिवार की चाटुकारिता में लगी पूरी कांग्रेस के डीएनए में कार्यकताओं और महिलाओं को इस्तेमाल की चीज समझना रचा-बसा है। यही हाल पूरे घमंडिया गठबंधन का है। श्री श्रीवास्तव ने कहा कि जिन कांग्रेस प्रत्याशी शैलजा के हक में डहरिया अपने कसीदे पढ़ रहे हैं, उन्हीं शैलजा को लेकर विधानसभा चुनाव की शिकस्त के बाद हुई घोर अपमानजनक टिप्पणियों पर डहरिया मुँह में दही जमाए क्यों बैठे थे? छत्तीसगढ़ में कांग्रेस शासनकाल में होने वाले बलात्कार को छोटी-मोटी घटना बताकर डहरिया ने जिस राजनीतिक संस्कृति का शर्मनाक प्रदर्शन किया था, उसे छत्तीसगढ़ भूला नहीं है। छत्तीसगढ़ में कांग्रेस नेत्री नगमा और 'लड़की हूं, लड़ सकती हूँ' के जुमले की पोस्टर गर्ल अर्चना गौतम से लेकर राधिका खेड़ा के साथ तक जिस शर्मनाक संस्कृति का परिचय दिया गया है, वह नितांत शर्मनाक था। अब अपने इंडी गठबंधन के सहयोगी दल आम आदमी पार्टी की सांसद स्वाति मालीवाल के साथ हुई मारपीट को लेकर किसी कांग्रेसी के मुंह से बोल तक नहीं फूट रहे हैं। श्री श्रीवास्तव ने कहा कि कांग्रेस की महिला नेत्रियों के साथ अवांछनीय व्यवहार हो तो आआपा उसे कांग्रेस का अंदरूनी मामला बताकर चुप्पी साध लेती है और आआपा सांसद स्वाति मालीवाल के साथ मारपीट हो गई तो कांग्रेस एक लफ्ज तक नहीं कह रही है। गजब का शर्मनाक तालमेल इस घमंडिया गठबंधन में दिख रहा है।

    भाजपा प्रदेश महामंत्री श्री श्रीवास्तव ने कहा कि कांग्रेस और घमंडिया गठबंधन में महिलाओं का कोई सम्मान नहीं रह गया है। महिला नेत्रियों का उत्पीड़न ही विपक्ष की पहचान बन गया है। राधिका खेड़ा के कांग्रेस में हुए उत्पीड़न के बाद अब स्वाति मालीवाल के साथ हुई मारपीट की वारदात ने विपक्ष के महिला विरोधी चरित्र को बेनकाब कर दिया है। असम कांग्रेस की पूर्व विधायक बिस्मिता गोगोई, यूथ कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष अंगकिता दत्ता, पूर्व प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी, महिला कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष सुष्मिता देव को इसी उत्पीड़न के चलते कांग्रेस से बरसों पुराना नाता तोड़ने के लिए विवश होना पड़ा। राजद प्रमुख लालू यादव की बहू ऐश्वर्या ने घरेलू हिंसा और मारपीट करके घर से निकालने का आरोप अपनी सास राबड़ी देवी पर लगाया था। श्री श्रीवास्तव ने कहा कि अखिलेश यादव की समाजवादी पार्टी के एक नेता आसिफ अली पर अपनी पार्टी के पूर्व विधायक की बेटी से करीब पाँच वर्षों तक दुष्कर्म करने और ब्लैकमेल कर 6 करोड़ रुपए वसूलने का आरोप है। महिला मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की तृणमूल कांग्रेस के एक नेता शाहजहाँ शेख ने तो संदेशखाली में महिलाओं के साथ वर्षों तक दुष्कर्म करके अमानवीयता और दरिंदगी का पूरा काला अध्याय ही रच डाला है। लेकिन मजाल है कि घमंडिया गठबंधन का कोई भी दल इन मामलों पर अपनी चुप्पी तोड़ने का साहस दिखाया हो। दरअसल कांग्रेस समेत इंडी गठबंधन में महिलाओं के न तो सम्मान की अहमियत है और न ही इन विपक्षियों से महिलाओं के साथ न्याय की उम्मीद की जा सकती।

    भाजपा प्रदेश महामंत्री श्री श्रीवास्तव ने कहा कि हजारों लोगों ने छत्तीसगढ़ समेत पूरे देशभर में कांग्रेस का दामन छोड़ दिया है, चुनाव लड़ने के लिए जिस कांग्रेस को प्रत्याशी तक नहीं मिल रहे हैं, सरकारी जमीनों पर कांग्रेस शासनकाल में नजरें गड़ाए बैठे डहरिया उस कांग्रेस के खत्म हो चुके जनाधार की कुंठा में अनर्गल प्रलाप कर रहे हैं। श्री श्रीवास्तव ने कहा कि भाजपा ने महिलाओं के सामाजिक, पारिवारिक, आर्थिक और राजनीतिक सशक्तीकरण की दिशा में जो सार्थक निर्णय लिए हैं, उससे न केवल छत्तीसगढ़, अपितु पूरे देश की मातृशक्ति भाजपा पर अपना पूरा भरोसा पिछले दो लोकसभा चुनावों में जता चुकी है और इस लोकसभा चुनाव में तो वही कार्यकर्ता और मातृशक्ति कांग्रेस को इतिहास के कूड़ेदान में डालने जा रही है, जिन्हें कभी भूपेश बघेल स्लीपर सेल और कभी डहरिया इलेक्शन मटेरियल बता रहे हैं

  • राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना का नाम बदलना भाजपा की घटिया राजनीति - दीपक बैज

    योजनाओं का नाम बदलना सरकार के मानसिक दिवालियेपन को दर्शाता है

    5 माह में एक भी मौलिक योजना शुरू नहीं कर पाई भाजपा सरकार अब नाम बदल रही है

    साय सरकार द्वारा राजीव गांधी ग्रामीण कृषि मजदूर न्याय योजना का नाम बदले जाने का कांग्रेस ने कड़ा विरोध किया है। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष दीपक बैज ने कहा कि यह भाजपा की स्तरहीन राजनीतिक सोच है। पूर्ववर्ती कांग्रेस की सरकार ने प्रदेश के खेतिहर भूमिहीन मजदूरों तथा पौनी पसारी का काम करने वाले ग्रामीण जनों के कल्याण के लिये राजीव गांधी ग्रामीण कृषि मजदूर न्याय योजना शुरू किया था। जिसके तहत भूमिहीन ग्रामीणों को पहले 7000 वार्षिक बाद में 10 हजार वार्षिक दिया जाता था। दुर्भाग्यजनक है कि साय सरकार 5 माह में जनकल्याण की कोई नई योजना शुरू नहीं कर पाई पुरानी सरकार की योजना का नाम बदलकर दीनदयाल भूमिहीन मजदूर न्याय योजना कर दिया। इस योजना से पौनी पसारी के लोगो को अलग करने का भी षड्यंत्र किया जा रहा है। योजनाओं का नाम बदलना सरकार के मानसिक दिवालियेपन को दर्शाता है। 5 माह में एक भी मौलिक योजना शुरू नहीं कर पाई भाजपा सरकार अब नाम बदल रही है।

    प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष दीपक बैज ने कहा कि छत्तीसगढ़ में भाजपा सरकार बनने के बाद जनकल्याणकारी योजनायें दम तोड़ चुकी है। किसानों को मिलने वाली राजीव गांधी किसान न्याय योजना की चौथी किस्त नहीं दिया गया। गौठानों को बंद कर दिया गया जिससे 27 लाख से अधिक बहनें जो स्व-सहायता समूह के माध्यम से गौठानों में काम करती थी बेरोजगार हो गयी। 13800 से अधिक राजीव युवा मितान क्लबों को बंद कर दिया गया जिससे युवाओं के सर्वागीण विकास के लिये मिलने वाली एक लाख रू. की सहायता बंद हो गयी। बेरोजगार युवाओं को मिलने वाली बेरोजगारी भत्ता को बंद कर दिया। गोधन न्याय योजना और गोबर खरीदी बंद कर दिया गया। ग्रामीण रोजगार योजना के लिये चलाई जाने वाली ‘‘रीपा’’ रूरल इंडस्ट्रियल पार्क को बंद करने की प्रक्रिया शुरू हो गयी है।

    प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष दीपक बैज ने कहा है कि आदतन किसान विरोधी डिप्टी सीएम विजय शर्मा सहित भाजपा के तमाम प्रत्याशी चुनाव प्रचार के दौरान छत्तीसगढ़ के सभी किसानों का 2 लाख तक का कर्ज माफ करने का वादा करते दिखे लेकिन सरकार बनते हैं भाजपा नेताओं ने यू टर्न ले लिया। धान और किसान का विषय भारतीय जनता पार्टी के नेताओं के लिए केवल चुनावी है, चुनाव खत्म मुद्दा खत्म। आदतन वादाखिलाफी करने वाले भाजपाई अब छत्तीसगढ़ के किसानों के प्रति अपने दायित्व से भाग रहे हैं।

    प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष दीपक बैज ने कहा कि राजीव गांधी किसान न्याय योजना की चौथी किस्त के लिये पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार द्वारा 1600 करोड़ रू. का बजट पास करके रखा था साय सरकार ने किसानों को भुगतान नहीं किया जिसके कारण किसानों को मिलने वाली किसान न्याय योजना की चौथी किस्त की बजट राशि 31 मार्च को लेप्स हो गयी। यह भारतीय जनता पार्टी की किसान विरोधी सोच का नतीजा है किसानों ने अपना धान 2680 रू. में सरकार के पास बेचा था यह छत्तीसगढ़ सरकार और किसानों के बीच का अनुबंध था। सरकार चलाने वाला दल भले ही बदल गया हो किसानों से सरकार द्वारा किया गया अनुबंध (वादा) तो यथावत है। किसान न्याय योजना का पैसा किसानों का हक है उन्हें मिलना ही चाहिये। साय सरकार किसानों को उनके धान का पैसा तत्काल भुगतान करें।

  • सुभद्रा योजना से मातृशक्ति और मजबूत होगी: लता उसेंडी

    भाजपा ओडिसा प्रदेश की सह प्रभारी व वरिष्ठ विधायक लता उसेंडी ने भुवनेश्वर में चुनावी अभियान में हिस्सा लिया। उन्होंने कहा  कि सुभद्रा योजना से ओडिसा प्रदेश की मातृशक्ति और मजबूत होंगी।यहाँ प्रदेश में नवीन पटनायक सरकार ने महिलाओं को छला है। जिसके के कारण महिलाओं में काफी आक्रोश है। यही कारण है अब पूरे ओडिसा  में बदलाव की बयार है।

  •  विकास से कोसों दूर है ओडिसाः राजेश मूणत

    छत्तीसगढ़ के पूर्व मंत्री व विधायक राजेश मूणत ने पुरी लोकसभा बीजेपी प्रत्याशी संबित पात्रा के समर्थन में चुनावी जनसंपर्क अभियान में हिस्सा लेते कहा कि जिस गति से ओड़िसा का विकास होना था वह नहीं हुआ. इसके लिए नवीन सरकार जिम्मेदार हैं। उन्होंने कहा, जो सपना बीजू जनता दल ने  यहां की जनता को दिखाया था वह सपना ही रह गया है। अब सही वक्त आ गया है कि उत्तम ओडिसा के लिये भाजपा को चुना जाए. भाजपा ही प्रदेश को एक मजबूत विकल्प दे सकती है. यहां की जनता पूरे मनोयोग से भाजपा के साथ है.

     

  • बाल मनुहार के साथ आत्मीय पल को साझा किया मुख्यमंत्री विष्णु देव साय ने कहा - उन नन्हें-नन्हें कदमों की बात कुछ और थी उस नन्ही सी दोस्त से मुलाकात की बात ही कुछ और थी

    ओडिशा प्रवास से रायपुर लौटने के बाद मुख्यमंत्री विष्णु देव साय की पुलिस ग्राउंड हेलीपैड में एक नन्हीं बच्ची से मुलाकात हुई। उन्होंने जब बच्ची का नाम पूछा तो उसने अपना नाम इनाया बताया। कवर्धा से आई इस बच्ची ने हैलीकाप्टर में घूमने की इच्छा ज़ाहिर की तो सीएम साय ने मुस्कुराकर कहा कि अभी शाम हो रही है आपको ज़रूर घूमाने ले जायेंगे। दोनों के बीच बहुत ही भावपूर्ण संवाद को देखकर वहाँ मौजूद सभी लोग मुस्कुराने लगे। बच्ची अपने परिजनों के साथ वहाँ हेलीकॉप्टर देखने आई थी।

    श्री साय ने बच्ची के साथ हुए आत्मीय संवाद को अपने सोशल मीडिया हैंडल X पर साझा करते हुए लिखा है कि - 

    उन नन्हें-नन्हें कदमों की बात कुछ और थी
    उस नन्ही सी दोस्त से मुलाकात की बात ही कुछ और थी

    आज शाम ढले ओडिशा से तीन जन सभाओं के बाद रायपुर के पुलिस हेलीपैड ग्राउंड पहुंचा तो नन्हीं सी बच्ची "इनाया" से मुलाकात हो गई। सुनहरी धूप सी खिली बच्ची को कौतूहल से हेलीकाप्टर निहारता देख कर खुद को उसके पास जाने से न रोक सका। तुतलाती जुबान से उसके मुख से निकले मिश्री जैसे शब्दो ने तो जैसे दिन भर की थकान को ही परे धकेल दिया। हालाकि शाम होने की वजह से हेलीकाप्टर में उड़ने की उसकी इच्छा तो पूरी न कर सका पर बिटिया से इसका वादा जरूर किया है। 

    बाल मनुहार के साथ यह आत्मीय पल आप सभी के संग साझा करते हुए वात्सल्य से भरा महसूस कर रहा हूं।

    गौरतलब है कि विष्णु देव साय का नन्हें बच्चों के प्रति प्रेम किसी से छुपा नहीं है। इससे पहले भी उन्होंने अपने नाती वेदांश के साथ हुए संवाद को सोशल मीडिया में साझा किया था। जिसके व्यूअर्स की संख्या इंस्टाग्राम पर 40 लाख को छूने जा रही है।

  • सीएसआर फंड पर उद्योग प्रभावित जनता का अधिकार उनके विकास पर हो खर्च- कांग्रेस
     


    रायपुर/ 17 मई 2024। प्रदेश कांग्रेस के वरिष्ठ प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि राज्य सरकार सीएसआर फंड में गड़बड़ियां करने के लिए उसे अपने प्रभाव में खर्च करने की बात कर रही है सीएसआर फंड में पहला अधिकार जहां पर उद्योग लगा है वही की जनता का है. यह फंड उनके बेहतरी के लिए खर्च होना चाहिए. प्रभावित  क्षेत्र के विकास, शिक्षा स्वास्थ्य रोजगार, पर्यावरण और उद्योग से हो रहे प्रदूषण के बचाव की दिशा में खर्च करने का नियम है उद्योग वहां पर लोगो की बेहतरी के लिये काम कर रहे है या नही यह देखने का उसको सुनिश्चित करने का काम राज्य सरकार का है। यदि सीएसआर फंड का उपयोग का अधिकार राज्य सरकार के हाथ मे चला गया तो सत्ता रूढ़ दल के प्रभावशाली नेता अपने क्षेत्र में उसका उपयोग करेंगे उद्योग के क्षेत्र की जनता के अधिकारों का हनन होगा।

     प्रदेश कांग्रेस के वरिष्ठ प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री लखन लाल देवांगन को पहले अपने केंद्र सरकार से पीएम केयर फंड में राज्य से जमा की गई  सीएसआर फंड का हिसाब किताब मांगना चाहिए. पीएम केयर फंड में जमा सीएसआर फंड को किस मद में खर्च किया गया है? पीएम केयर फंड से राज्य को कितना मदद मिला?

     प्रदेश कांग्रेस के वरिष्ठ प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि जब केंद्र की भाजपा सरकार मनमानी तरीके से सीएसआर फंड को पीएम केयर फंड में जमा करवा रही थी. तब राज्य सरकार ने इसका विरोध किया था उस दौरान  भाजपा के  सांसद केंद्र सरकार के पक्ष में खड़ा होकर छत्तीसगढ़ की जनता के साथ हो रहे अन्याय पर मौन थे. आज भाजपा की सरकार किस मुंह से केंद्र सरकार से सीएसआर फंड का अधिकार मांग रही है और राज्य सरकार के प्रभाव में  उसे खर्च करने की बात कह रही है।

  • महिलाओं ने राहगीरों को पिलाया निशुल्क गन्ना रस
    श्री लोहाना महिला मंडल रायपुर द्वारा आज मंडी गेट हनुमान मंदिर के पास गन्ना रस वितरण किया गया , श्री लोहाना महीला मंडल की अध्यक्ष मीना बेन पुजारा ने बताया कि इस तपती गर्मी से राहत दिलाने सभी राहगीरों को निशुल्क ठंडा गन्ना रस वितरण किया गया | श्री लोहाना महिला मंडल रायपुर द्वारा किए गए इस पुनीत कार्य में मिता चतवानी, जयश्री बेन पारेख , रमा बेन चतवानी , रश्मि बेन मिरानी , नेहा बेन मानिक, मोना बेन, मीना बेन , वनिता बेन भारती बेन, वंदना बेन आशा बेन मधु बेन साथ में सभी बहने उपस्थित थी |