State News
  • CG - बिजली विभाग की बड़ी लापरवाही, सुधार कार्य के दौरान सप्लाई चालू करने से लाइनमैन की मौत
    कांकेर। एक बार फिर विद्युत विभाग की बड़ी लापरवाही सामने आई है जिसका नतीजा सुधार कार्य में लगे एक लाईनमैन को अपनी जान गंवा कर चुकानी पड़ी है।दरअसल कोयलीबेड़ा थाना क्षेत्र के ग्राम सुलंगी में 18 जून को सुबह से हि विद्युत कर्मचारी हाईटेंशन 130 केवी लाइन के खम्बे में सुधार कार्य के लिए ऊपर चढ़े थे इसी दौरान अचानक विद्युत विभाग के कर्मचारीयों द्वारा लाइन सप्लाई को शुरू कर दिया गया जिसके कारण खम्बे के ऊपर चढ़े विद्युत कर्मचारी किशून कुमार दर्रों चारामा निवासी बिजली के चपेट में आ गया जिससे उसकी मौके पर हि मौत हो गई, घटना के बाद तुरंत हि बाकी कर्मचारियों ने घटना कि जानकारी कोयलीबेडा थाना में दी गई फिलहाल पुलिस मर्ग कायम कर जांच में जुटी है।

    काफी देर तक खंबे में लटकता रहा शव

    घटना के बाद लगभग एक से दो घंटे तक विद्युत कर्मचारी किशून कुमार दर्रों का शव खम्बे के ऊपर हि लटकता रहता खम्बे में करेंट सप्लाई चालू होने के कारण कोई भी कर्मचारी शव को निकालने कि कोशिश नहीं किया लगभग दो घंटे बाद करेंट सप्लाई बंद कराने के बाद शव को खम्बे से उतारा गया।

    विद्युत विभाग की लापरवाही ने एक कर्मचारी कि ले ली  जान

    विद्युत विभाग कि बड़ी लापरवाही है जिसके चलते सुधार कार्य में लगे लाईनमैन कि जान चली गई है लाईनमैन खम्बे के ऊपर चढकर सुधार कार्य कर रहा था उसी दौरान बिना सूचना के हि जिस लाईन में सुधार कार्य किया जा रहा था वहां कि सप्लाई लाईन को विभाग द्वारा शुरू कर दिया गया जिसकी चपेट में आने से लाईनमैन कि मौत हो गई है

  • सुरक्षाबल के जवानों और नक्सलियों के बीच मुठभेड़, बंदूक़ समेत भारी मात्रा मे विस्फोटक सामग्री बरामद

    सुकमा : नक्सल उन्मूलन अभियान चलाया जा रहा है, इसी तारतम्य में नक्सलियों के लगातार उपस्थिति की आसूचना पर डीआरजी, बस्तर फाईटर सुकमा एवं 206 वाहिनी कोबरा की संयुक्त पार्टी विशेष नक्सल विरोधी अभियान हेतु थाना चिंतलनार क्षेत्रान्तर्गत ग्राम करकनगुड़ा, मोरपल्ली, ताड़मेटला, गोलागुड़ा, कोत्त्तागुड़ा व आसपास जंगल क्षेत्र की ओर रवाना हुए थे।

    इस अभियान के दौरान सुरक्षा बलो द्वारा जंगल-झाड़ियों का सर्चिंग करते हुए आगे बढ़ रहे थे कि ग्राम करनगुड़ा के जंगल/पहाड़ी के पास नक्सलियों द्वारा घात लगाकर सुरक्षाबलों पर जान से मारने व हथियार लूटने की नीयत से अंधाधुन बीजीएल हथियारों से फायरिंग किया गया।

    सुरक्षा बलों द्वारा भी अपना परिचय बताते हुए आत्मरक्षार्थ जवाबी कार्यवाही किया गया। सुरक्षा बलों के बढ़ते दबाव व अपने आप को घिरता हुआ देखकर नक्सली जंगल/पहाड़ी का आड़ लेकर भाग गए। मुठभेड़ लगभग 20-25 मीनट तक चली। तद्पश्चात घटना स्थल की गहन सर्चिंग करने 1 नग भरमार बंदूक , 2 नग घड़ी, 1 नग कम्बैट बैरल कैप, नक्सल साहित्य, 1 नग थैला, जूता का लेस, दवाईयां, साबुन, एवं नक्सलियों दैनिक उपयोगी कपड़े आदि बरामद किया गया।

  • बिलासपुर केंद्रीय जेल में  नए उप जेल अधीक्षक का पदभार ग्रहण करेंगे उत्तम कुमार पटेल
    बिलासपुर - केंद्रीय जेल बिलासपुर में उप जेल अधीक्षक का पद रिक्त होने के कारण जेल की प्रशासनिक एवं सुरक्षा व्यवस्था ठीक नही चल रही थी जिसको मद्देनजर रखते हुए उत्तम पटेल को जिला महासमुंद से बिलासपुर केंद्रीय जेल का प्रभार सौंपा गया है। वे जल्द ही अपना पदभार संभालेंगे। उत्तम पटेल पहले भी वर्ष 2018 से 2020 तक बिलासपुर में अपनी सेवाएं दे चुके है अतः उन्हें बिलासपुर की आबोहवा की पूर्णरूप से जानकारी है उसके बाद राजधानी में 2022 तक अपनी सेवाएं दे चुके है । उक्त विभिन्न केंदीय जेलों में अपनी सेवाएं देने के बाद फिर बिलासपुर आने से कहीं न कही इसका फायदा जेल प्रशासन को जरूर होगा!
  • बलौदाबाजार में स्वास्थ्य विभाग के कार्यों की हुई समीक्षा

    बलौदाबाजार कलेक्टर  दीपक सोनी ने संयुक्त जिला कार्यालय क़े सभाकक्ष स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग क़े कार्यों की समीक्षा करते हुए आवश्यक दिशा निर्देश जारी किए हैं। उन्होंने आयुष्मान भारत योजना अंतर्गत आयुष्मान कार्डधारी मरीजों को ईलाज में किसी प्रकार की समस्या न हो इस बात को सुनिश्चित  करने क़े निर्देश दिए।

        कलेक्टर ने कहा कि आयुष्मान भारत योजना शासन की महत्वपूर्ण योजना है तथा गरीब परिवार क़े सदस्यों को मुफ्त ईलाज की सुविधा प्रदान करती है। उन्होने कहा कि शासकीय अस्पतालों क़े साथ ही जिले में अनुबंधित कुल 13 निजी अस्पतालों में भी आयुष्मान कार्ड से ईलाज कराने में समस्या न हो। उन्होंने कहा कि जिले में स्वास्थ्य सुविधाओं में कोई बाधा ना आये। किसी क्षेत्र विशेष में कोई समस्या हो तो उसे दूर करने क़े लिए नियमानुसार कार्यवाही की जाएगी। उन्होने कहा कि एसडीएम क़े द्वारा ली जाने वाली बैठको में विकासखंड चिकित्सा अधिकारियों को शामिल होकर स्वास्थ्य विभाग से संबंधित कोई समस्या ही तो जरूर बतायें। उन्होने विगत दिवस जिला मुख्यालय में हुई अप्रिय घटना में पीड़ितों का निःशुल्क ईलाज कि व्यवस्था तथा दस्तावेजों का संधारण करने क़े निर्देश दिए।

        कलेक्टर ने जिले की वर्तमान परिस्थिति के मद्देनजर सभी अस्पतालों में जिला कंट्रोल रूम का मोबाइल नंबर +91-9479190629 तथा एम्बुलेंस  कॉल नंबर  को प्रदर्शित करने क़े निर्देश दिए. इसके साथ ही अस्पताओं से निकलने वाले जैव अपशिष्ट पदार्थों क़े उचित निपटान क़े लिए उपयुक्त व्यवस्था बनाने क़े निर्देश दिए। बरसात क़े मौसम में मौसमी बिमारियों  क़े रोकथाम क़े लिए शहरी एवं  मैदानी क्षेत्रों में बेहतर तैयारी सुनिश्चित करने क़े निर्देश दिए।

  • CG - बीयर की खेप लेकर जा रहा ट्रक पलटा, लूटने के लिए पहुंच गए पियक्कड़, लेकिन उससे पहले हो गया ये कांड

    राजनांदगांव। देर रात सड़क हादसे में एक ट्रक पलट गया। जिसमे बीयर की बोतले लदी थी। ट्रक के पलटते ही बीयर सड़क पर बहने लगी। हालांकि प्रशासन की मुस्तैदी से बीयर सलामत रहा, बावजूद कुछ पियक्कड़ कुछ पेटी पार करने में जरूर जुट गये। मामला छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव का है, जहां जीई रोड नेशनल हाईवे पर बियर से भरा एक ट्रक पलट गया, जिससे हाईवे पर जाम लग गया।

    बताया जा रहा है कि ट्रक महाराष्ट्र के औरंगाबाद से बीयर की पेटियां लेकर आ रहा था, जिसमें करीब 2400 पेटी बियर के डिब्बे थे। जानकारी के मुताबिक बियर ट्रक से ओडिशा जा रही थी, तभी मंगलवार की रात में लगभग 1 बजे जी ई रोड में PWD कार्यालय के पास अचानक से ट्रक पलट गया। ट्रक के पलटने से ड्राइवर क्लीनर बच गए, लेकिन सड़क पर बियर की कई पेटियां टूट कर बिखर गई। इस दौरान सड़क पर शराब बहने लगी। सड़क पर आने जाने वाले लोगों ने बियर की पेटी लेकर भागने की कोशिश की, लेकिन लोगों को पुलिस ने दौड़ाकर पकड़ लिया।

    रात को ही पुलिस बल और आबकारी विभाग की टीम मौके पर पहुंच गई थी। पलटे ट्रक को खाली करा कर दूसरी गाड़ी से बियर की पेटियों को नदई स्थित मोहरा वेयर हाउस में रखवाया गया है। बाद में परमिट जारी होने पर माल को ओडिशा रवाना किया जाएगा।

  • मुख्यमंत्री श्री साय दिखे किसान की भूमिका में

    मुख्यमंत्री  विष्णु देव साय छत्तीसगढ़ राज्य की कमान संभालने के साथ साथ अपने पारिवारिक जिम्मेदारियों को भी बखूबी संभाल रहे हैं। उन्होंने आज अपने गृह ग्राम बगिया में मानसून की आहट को देखते हुए पुश्तैनी खेतों में खेती-किसानी की शुरूआत की। उन्होंने स्वयं एक किसान की तरह धान की बोनीे कर परंपरा का निर्वहन किया।

     

    मुख्यमंत्री ने परंपरा के मुताबिक पांच बार बीजों को अपने हाथों में लेकर खेतों में बिखरा दिया, इसके बाद परिवारजनों ने भी उनका अनुसरण किया। खेती-किसानी को लेकर जशपुर, सरगुजा अंचल के किसानों में ऐसी परंपरा है, जिसमें परिवार के लोग मुखिया के साथ धान की बोनी की रस्म निभाते हैं।

        मुख्यमंत्री खेती-किसानी का पारंपरिक परिधान पहनकर खेतों में नजर आए। उन्होंने पगड़ी लगाई और पारंपरिक वस्त्र पहना इसके बाद टोकरी में धान बीज रखे और इनकी पूजा की गई। उल्लेखनीय है कि फसल की समृद्धि की कामना के लिए बीज छिड़कने के पूर्व यह रस्म जशपुर-सरगुजा क्षेत्र में की जाती है। छत्तीसगढ़ किसानों का प्रदेश है प्रदेश का हर किसान खेती किसानी की तैयारियों में जुट गया है।

        गौरतलब है कि मुख्यमंत्री श्री साय ने प्रदेश में बेहतर खरीफ फसल के लिए बीते दिनों कृषि विभाग के अधिकारियों की समीक्षा बैठक भी की। मुख्यमंत्री किसानों के सरोकार रखते हैं चूकि वे हमेशा खेती-किसानी से जुड़े रहे हैं, इसलिए उन्होंने समय पूर्व ही अधिकारियों को खाद बीज की पर्याप्त व्यवस्था के निर्देश दिए। उन्होंने अधिकारियों को किसानों की जरूरतों के अनुरूप कृषि अदानों की व्यवस्था करने और टेक्नोलॉजी का अधिक प्रयोग करते हुए उत्पादकता बढ़ाने पर जोर दिया था।

  • CG -  एक बार फिर शिक्षा जगत हुआ शर्मसार, स्कूल गेट के सामने नशे में धुत्त मिला प्राचार्य, फिर जो हुआ.....

    बलौदाबाजार। छत्तीसगढ़ में शिक्षकों के शराब पीकर स्कूल आने का सिलसिला खत्म ही नहीं हो रहा है। आज स्कूल गेट के सामने प्राचार्य नशे में धुत्त मिला, जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है। यह मामला शासकीय हाईस्कूल गिंदोला, विकासखंड बलौदाबाजार का है। 

    आज से स्कूल का नया शिक्षा सत्र प्रारंभ होने वाला था। परमेश्वर सेन शासकीय हाईस्कूल गिंदोला में प्राचार्य के पद पर पदस्थ है, जो आज स्कूल गेट के पास नशे में धुत्त मिला। इसका वीडियो बनाकर ग्रामीणों ने सोशल मीडिया में वायरल किया है, जो क्षेत्र में चर्चा का विषय बना हुआ है। लोग शिक्षा व्यवस्था पर सवाल उठाते कह रहे कि जब स्कूल का मुखिया ही ऐसा हो फिर देश केबच्चों का भविष्य कैसा होगा। 

  • बलौदा बाजार हिंसा मामले में कांग्रेस का जोरदार धरना प्रदर्शन, पूर्व CM भूपेश बघेल समेत कई कांग्रेसी नेता शामिल

    बलौदा बाजार :-  बलौदा बाजार हिंसा को लेकर कांग्रेस पार्टी ने प्रदेश भर में जिला स्तरीय धरना प्रदर्शन का आयोजन किया है। वही राजधानी रायपुर में भी कांग्रेस का प्रदर्शन जारी है।
    इस प्रदर्शन में पूर्व मुख्यमंत्री भूपेश बघेल समेत कई अन्य कांग्रेसी नेता शामिल हैं। फायर ब्रिगेड चौक मोती बाग में हो रहे इस प्रदर्शन में बड़ी संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ता जुटे हुए हैं।

  • प्रेमिका की किसी और से हुई सगाई, तो प्रेमी जोड़े को मंजूर नहीं हुई जुदाई, जहर खाकर दोनों ने लगाया मौत को गले

    कांकेर : - एक दिन पहले प्रेमीका कि सगाई किसी और से हुई थी प्रेमी जोड़े को एक दुसरे से जुदाई बर्दाश्त नहीं हुआ तो दोनों ने एक साथ हंसते-हंसते दुनिया को अलविदा कह दिया मामला कोयलीबेड़ा थाना क्षेत्र ग्राम गुड़ाबेड़ा का है जहां रविवार को एक दिल दहला देने वाला सनसनीखेज वारदात सामने आया है, जिस युवती की एक दिन पहले सगाई हुई थी, उसने अपने प्रेमी के साथ मिलकर रात में जहर का सेवन कर लिया, और दोनों ने दुनिया को अलविदा कह दिया। गांव से बाहर खेत में दोनों का शव देखकर ग्रामीणों ने पुलिस को इसकी सूचना दी। सुचना पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टेम के लिए भेज दिया है।

    पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार राजकुमार दर्रो ने थाना में सूचना देते हुए बताया कि उसकी बहन शांती दर्रो (20) पिता सुकदेव दर्रो निवासी पटेलपारा गुड़ाबेड़ा का सगाई कार्यक्रम शनिवार को दिन में संपन्न हुआ था, सगाई के बाद से उसकी बहन खुश नहीं थी, उसका गांव के ही एक युवक सोनू कोमरा (20) पिता बुधराम कोमरा के साथ पिछले कुछ समय से प्रेम प्रसंग चल रहा था। सगाई के बाद सगाई की रात ही प्रेमी ने प्रेमिका को मिलने रात में गांव से बाहर धरमूराम आंचला के खेत में बुलाया, जहां दोनों ने यह फैसला लिया कि अगर दोनों एक साथ इस दुनिया में जी नहीं सकते, एक साथ दुनिया को अलविदा तो कह सकतें हैं, दोनों को एक दूसरे से जूदा होकर जीना मंजूर नहीं हुआ और दोनों ने एक साथ कीटनाशक का सेवन कर लिया। जहर सेवन के बाद दोनों रात भर खेत में तड़पते रहे। इधर परिजन रात में दोनों की तलाश करते रहे लेकिन कहीं पता नहीं चला। 16 जून की सुबह करीब 6 बजे गांव के रामदेव पोया ने बताया कि शांती दर्रो और सोनू कोमरा दोनों खेत में पड़े हुए हैं। सूचना मिलते ही परिजन ग्रामीणों के साथ जब घटना स्थल पहुंचे तो वहां पर दोनों खेत में एक दूसरे से लिपटे पड़े हुए थे। प्रेमिका की मौत हो गई थी, लेकिन प्रेमी की सांस चल रही थी। दोनों को अस्पताल पहुंचाया गया जहां पर डॉक्टरों ने शांति दर्रो को मृत घोषित कर दिया। वहीं पर सोनू कोमरा ने भी उपचार के दौरान दम तोड़ दिया। बताया जा रहा है कि युवती शांति दर्रो सरण्डी की रहने वाली है, वह अपने नाना नानी के घर गुड़ाबेड़ा में रहकर पढ़ाई लिखाई कर रही थी। सगाई कार्यक्रम भी नाना नानी के घर में ही संपन्न किया गया, लेकिन प्यार किसी से और शादी किसी और से यह दोनों को मंजूर नहीं हुआ और दोनों ने मौत को गले लगा लिया। फिलहाल पुलिस मर्ग कायम कर जांच में जूट गई।

  • रेलवे ट्रैक में मिली दो सगे भाईयों की लाश, क्षेत्र में फैली सनसनी...पुलिस जांच में जुटी

    महासमुंद। जिले के कोतवाली थाना क्षेत्र स्थित इमलीभाठा कैनाल रेलवे ट्रैक के रायपुर-विशाखापट्टनम रेलवे लाइन में आज सुबह दो सगे भाइयों की लाश मिली है। एक साथ दो भाइयों की लाश मिलने से आसपास सनसनी फैल गई। वहीं परिवार में मातम का माहौल है। सूचना पर मौके में पहुंची पुलिस ने दोनों के शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

    बता दें कि मृतक सुनील यादव 35 वर्ष और आकाश यादव 22 वर्ष हैं। दोनों महासमुंद शहर के वार्ड नं 11 नयापारा के रहने वाले थे। बताया जाता है कि कल रात दोनों भाई खाना खाने के बाद घर से निकले थे और आज सुबह उनकी इमलीभाठा कैनाल रेलवे ट्रैक के पास इनकी रेलवे ट्रैक पर लाश मिली है। दोनों भाई श्रमिक का काम करते हैं।

    एसडीओपी अजय शंकर त्रिपाठी ने बताया कि मृतक सुनील की पत्नी कुछ दिन पहले कही चली गयी थी। जिसकी वजह से वो डिप्रेशन में रहता था। बहरहाल पुलिस को पीएम रिपोर्ट का इंतजार है, जिससे हत्या या आत्महत्या का कारण का पता चल सके।

  • मुख्यमंत्री साय, बृजमोहन को मंत्री पद से बर्खास्त करें - दीपक बैज

    भाजपा नेता बृजमोहन अग्रवाल के द्वारा मंत्री पद से इस्तीफा नहीं देने पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुये प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष दीपक बैज ने कहा कि मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय, बृजमोहन अग्रवाल को बर्खास्त कब करेंगे? बृजमोहन अग्रवाल सांसद का चुनाव जीतने के बाद विधायक पद से इस्तीफा दिये है। नैतिकता का तकाजा है कि वे विधायक के साथ मंत्री पद से भी इस्तीफा दे देते लेकिन उन्होंने मंत्री पद के लालच में सारी नैतिकताओं को धता बता दिया है।


    प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष दीपक बैज ने कहा कि कोई व्यक्ति बिना विधानमंडल का सदस्य रहते हुये भी 6 माह तक मंत्री पद धारित कर सकता है। उसे 6 माह के अंदर सदन का सदस्य निर्वाचित होना होता है। बृजमोहन के मामले में स्थितियां अलग है। उन्होंने सांसद निर्वाचित होने के बाद विधायक पद से इस्तीफा दिया है। यहां पर 6 माह के अंदर सदस्य के निर्वाचन की अपेक्षा वाली बात नहीं है। अतः संवैधानिक प्रावधानों की आड़ लेकर मंत्री पद पर बने रहना उचित नहीं है।

    प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष दीपक बैज ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी के नेता पद लोलुप है, सत्ता में बने रहना ही उनके लिये सब कुछ है। कोई सांसद पद पर तत्काल निर्वाचित व्यक्ति यह कह कर मंत्री पद नहीं छोड़ रहा कि वह 6 माह तक मंत्री बने रह सकता है यह भाजपा में ही संभव है। भाजपा और मुख्यमंत्री बताये कि क्या वह भी बृजमोहन अग्रवाल के इस निर्णय के साथ है या राजनैतिक सुचिता को देखते हुये मुख्यमंत्री उनको बर्खास्त करेंगे।

    प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष दीपक बैज ने कहा कि कांग्रेस पार्टी राज्यपाल से भी मांग करती है कि यदि बृजमोहन मंत्री पद से स्वयं इस्तीफा नहीं देते है या मुख्यमंत्री उनको नहीं हटाते है तो राज्यपाल स्वयं उनको मंत्री पद से बर्खास्त कर एक नजीर प्रस्तुत करें। राज्य में संवैधानिक नैतिकता की रक्षा का दायित्व राज्यपाल के पास ही है राज्य की जनता उनसे अपेक्षा कर रही है कि वे बृजमोहन को तत्काल बर्खास्त करें।
  • विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा : बृजमोहन और डॉ रमन सिंह हुए भावुक

    जब जिम्मेदारियां बढ़ती हैं तो बहुत कुछ छोड़ना भी पड़ता है। 35 सालों से ज्यादा समय से मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ विधानसभा की कार्यवाही में शामिल रहने और राज्य के विकास और खुशहाली के लिए कार्य करने के बाद भाजपा के   
    वरिष्ठ विधायक श्री बृजमोहन अग्रवाल ने सोमवार को विधायक पद से इस्तीफा दे दिया। 
    बृजमोहन अग्रवाल ने विधानसभा अध्यक्ष डॉ रमन सिंह को उनके आवास पर जाकर अपना इस्तीफा सौंपा। 
    इस अवसर पर पत्रकारों से बातचीत के दौरान बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि, आज विधायक पद से इस्तीफा देना मेरे लिए बहुत ही भावुक क्षण है।
     जनता के प्यार और आशीर्वाद से पिछले 35 सालों से भी ज्यादा समय से विधायक रहा हूं। विधानसभा में मेरे पुराने और नए साथी हैं जो एक परिवार की तरह है। लेकिन नियमतः लोकसभा सदस्य चुने जाने के 14 दिनों के अंदर विधानसभा की सदस्यता से त्यागपत्र देना पड़ता है। इसलिए बड़े भारी मन से इस्तीफा दे रहा हूं।
    उन्होंने कहा कि, केंद्रीय नेतृत्व और रायपुर लोकसभा की जनता ने नई जिम्मेदारी दी है। नई ऊर्जा के साथ रायपुर लोकसभा और छत्तीसगढ़ के लिए काम करूंगा। अपनी जनता के लिए जैसे उनका मोहन था, आगे भी वैसा ही उनका मोहन रहेगा।
    त्यागपत्र लेने के बाद विधानसभा अध्यक्ष डॉ रमन सिंह ने कहा कि, यह उनके लिए बहुत भावुक पल है। पिछले कई दशकों से बृजमोहन अग्रवाल के साथ काम किया। विधानसभा कार्यवाही के कुशल संचालन में बृजमोहन अग्रवाल जी से बहुत कुछ सीखने को मिला है।
    अब सदन में उनकी कमी खलेगी। साथ ही बृजमोहन अग्रवाल जी को सांसद सदस्य के रूप में नई जिम्मेदारी मिली है जिसके लिए वो बृजमोहन अग्रवाल को बधाई एवं शुभकामनाएं देते हैं।
    इस अवसर पर पूर्व विधानसभा अध्यक्ष प्रेम प्रकाश पांडे, विधायक अजय चंद्राकर, पुरंदर मिश्रा, अनुज शर्मा, खुशवंत साहेब, राजेश मूणत, इंद्रजीत साहू, सुनील सोनी भी उपस्थित रहे।