Top Story
  • कांग्रेस ने छत्तीसगढ़ का घोषणा पत्र किया लॉन्च
    भरोसे का घोषणा पत्र के नाम से प्रदेश प्रभारी कुमारी सैलजा ने रायपुर के प्रदेश कांग्रेस कार्यालय से घोषणा पत्र का अनावरण किया | भूमिहीनों को 10 हजार रुपए देगी कांग्रेस सरकार धान का समर्थन मूल्य 3200 सौ बिजली बिल 200 यूनिट तक फ्री गैस सिलेंडर पर 500 सौ रुपए की सब्सिडी देगी कांग्रेस सरकार 17 लाख 50 हजार लोगों को आवास उपलब्ध करवाए जायेंगे 10 लाख रुपए तक का मुफ्त इलाज गरीबों को और 5 लाख रुपए तक का इलाज APL राशन कार्ड धारी लोगों को
  • भाजपाई शास्त्रों से बाहर जाकर काम कर रहे : भूपेश बघेल
    रायपुर ब्रेकिंग, भाजपा के तीन दिवाली वाले बयान पर सीएम ने कसा तंज कहा- ये तो पांचवा कुंभ भी शुरू किए थे, हमारे धर्म ग्रंथो में चार ही कुंभ के उल्लेख हैं, दीपावली एक ही होता है जो हमारे शास्त्रों में लिखा है, ये शास्त्रों से बाहर जाकर काम कर रहे, यह दिवाली नहीं मनाएंगे यह दिवालियापन है, छत्तीसगढ़ के लिए कुछ नहीं किया केवल एक ही टारगेट है भूपेश बघेल को गाली दो, बूथ के कार्यकर्ता से लेकर प्रधानमंत्री तक एक सूत्री कार्यक्रम, भूपेश बघेल को गाली दो,
  • ED की कार्यवाही : भूपेश आए गुस्से में कहा PM का लेन देन
    मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का बयान जो मैं बोलता था वही हो गया यहाँ लोग सीधा लड़ाई नहीं लड़ सकते वह ईडी और आईटी के माध्यम से चुनाव लड़ रहे हैं कल जैसे घोषणा पत्र जारी हुआ, एक घोषणा पत्र हिंदी में था जो भाजपा के लेटर हेड में था दूसरा शाम को जारी हुआ जो अंग्रेजी में था और ईडी के लेटर हेड में था ,दो घोषणाएं हुई अभी प्रधानमंत्री का दुबई के लोगों से क्या संबंध है मैं पूछना चाहता हूं ,क्यों लुक आउट सर्कुलर जारी होने के बाद भी गिरफ्तारी नहीं हुई गिरफ्तारी करने की जिम्मेदारी भारत सरकार की है क्यों गिरफ्तारी नहीं हुई ,क्यों महादेव एप्प बंद नहीं हुआ बंद करने की जिम्मेदारी भारत सरकार की मैं प्रधानमंत्री से पूछता हूं कि क्या आपकी क्या डील हुई है आपके लोगों के साथ क्या डील हुई ,अगर डील नहीं हुई है तो बंद क्यों नहीं करते तभी मेल करते हैं मेल की विश्वशनियता क्या है कोई भी किसी के नाम पर मेल कर देते है मेल में कोई कहता है कि 500 करोड़ दिए हैं , आपने जांच किया बिना जांच के आरोप लगा दिए अमित शाह के शब्द में क्रोनोलॉजी समझी प्रधानमंत्री गृह मंत्री आते हैं उससे पहले ईडी आती है,फिर होटल में पकड़े जाते हैं निर्वाचन आयोग क्या कर रहे हैं ईडी यहां घूम रहे हैं , कैसे पैसे होटल तक पहुंच गए इसका मतलब आपका निकम्मापन है आपने छुपाया और पकड़ ली और कहां बघेल जी को देना बघेल तो बहुत सारे हैं कौन से बघेल मेल आपके पास आ जाता है मतलब आपसी संबंध है संपर्क है ,संपर्क है तो गिरफ्तार क्यों नहीं करते वह सोनी है ,सौरभ चंद्राकर है इसकी गिरफ्तारी क्यों नहीं हो रही महादेव एप्प बंद क्यों नहीं हो रहा है ,लगातार चल रहा है मतलब आपका संबंध है *प्रधानमंत्री का लेनदेन हुआ है इसलिए कार्यवाही नहीं हुई* *भाजपा लड़ नहीं रही है केंद्र जांच एजेंसी लड़ाई लड़ रही है* निर्वाचन आयोग को ध्यान देना चाहिए कि जो बड़ी-बड़ी सन्दूक आ रही है स्पेशल प्लेन से उसकी जांच क्यों नहीं हो रही जब साधारण आदमी की जांच हो रही है इसकी जांच क्यों नहीं होनी चाहिए, पिछले चुनाव में एंबुलेंस रायपुर से कवर्धा की ओर जाती थी बड़े शहर से छोटे शहर जबकि होता यह है कि गांव कस्बे छोटे शहर से राजधानी की ओर आते हैं यहां रायपुर से कवर्धा जा रही है एंबुलेंस जैसी चीज जिसमें लोगों की जान बचाई जाती है सारे वहां उन्हें रास्ता देते हैं उसका भी दुरुपयोग किए हैं *उस बक्से में सेंट्रल सीआरपीएफ आ रही है अपना संसाधन क्यों नहीं भेज सकते जांच करने की मांग की है हमने* *आपके नाम क्यों आया इस पर कहा* इसका मतलब मुझे बदनाम कर रहे भाजपा डरी हुई है जिसके कारण आरोप लगाकर बदनाम करना चाहते हैं *स्मृति ईरानी के हवाला वाले बयान पर कहा* वह भाजपा का काम है वह खुलेआम करती है कोई शर्म हया नहीं है आप हेमंत विश्व शर्मा पर आरोप लगाते थे ,अजीत पवार पर आरोप लगाते थे और जांच भी करवाते हैं *जांच करने के बाद आपके पार्टी में आ जाते हैं तो सारे मोदी वाशिंग पाउडर से धुल जाते हैं और साफ सुथरा हो जाते हैं, सारे दाग धुल जाते हैं*
  • मोदी का भूपेश पर तंज : तीस टका कक्का आपका काम पक्का, बताओं कक्का कहां गया प्लांट मक्का
    *प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का बड़ा एलान, भाजपा करेगी तेंदूपत्ता बेचने वालों की बेहतर व्यवस्था, देगी पारिश्रमिक एवं बोनस* *0 छत्तीसगढ़ को लूटने वाले बच नहीं पाएंगे यह मोदी की गारंटी है* *किसानों को धान का पैसा हम देते है और कांग्रेस झूठ बोलती है कि पैसा वह देती है* *0 छत्तीसगढ़ में जिसके पास मकान नहीं है उन सबको मकान मिलेगा* * तीस टका कक्का आपका काम पक्का, बताओं कक्का कहां गया प्लांट मक्का* रायपुर/कांकेर। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज उत्तर बस्तर कांकेर की धरती से कांग्रेस की सभी गारंटियों को ध्वस्त करते हुए यह गारंटी दी कि जिन्होंने छत्तीसगढ़ को लूटा है वे कितने भी ताकतवर क्यों न हों, बच नहीं पाएंगे। प्रधानमंत्री ने कहा कि 3 दिसंबर को छत्तीसगढ़ में भाजपा की सरकार बन रही है। मैं भाजपा सरकार के शपथ ग्रहण का न्यौता देने आया हूं। प्रधानमंत्री मोदी ने आदिवासी योद्धाओं को नमन करते हुए स्थानीय भाषा में जनता का अभिवादन किया। उन्होंने कहा कि परिवर्तन की आंधी चल रही है। भाजपा की संकल्प रैली में शामिल होने का मुझे सौभाग्य मिला है। भाजपा का संकल्प छत्तीसगढ़ को देश के शीर्ष राज्यों में लाने का है। कांग्रेस और विकास में 36 का आंकड़ा है। जहां कांग्रेस रहेगी, वहां विकास नहीं रह सकता। प्रधानमंत्री मोदी ने नारा देते हुए कहा कि छत्तीसगढ़ ने भरी हुंकार, अबकी बार भाजपा सरकार। उन्होंने कहा कि कल ही छत्तीसगढ़ ने अपना स्थापना दिवस मनाया। छत्तीसगढ़ के लोगों और भाजपा ने साथ मिलकर छत्तीसगढ़ का निर्माण किया। जब तक दिल्ली में कांग्रेस की सरकार रही, यहां की भाजपा सरकार से दुश्मनी निकालती रही। छत्तीसगढ़ 25 साल का होने वाला है। परिवार में बेटे बेटियों के जीवन में भी यह 25 साल बहुत महत्वपूर्ण होता है। यह चुनाव सिर्फ विधायक मंत्री या मुख्यमंत्री बनाने के लिए नहीं है। आपके भविष्य, आपके बच्चों के भविष्य, का फैसला करने वाला चुनाव है। प्रधानमंत्री मोदी ने कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा कि 5 वर्षों में कांग्रेस नेताओं का विकास हुआ है। कांग्रेस के नेताओं के बच्चों और रिश्तेदारों को ही फायदा हुआ है। बस्तर के गरीब दलित पिछड़े आदिवासी परिवारों को क्या मिला? कुछ भी नहीं मिला। छत्तीसगढ़ के लोगों को कांग्रेस ने टूटी-फूटी सड़कें दीं। बीमार स्कूल अस्पताल दिए हैं। कांग्रेस ने सरकारी दफ्तरों में घूसखोरी का नया रिकॉर्ड बनाया है। कांग्रेस शासन में नौकरियों की बंदरबांट, पीएससी घोटाला, हत्या अपराध, हिंसा यही सब मिला है। छत्तीसगढ़ का, बस्तर का एक-एक भाई बहन तंग आ गया है। कांग्रेस की सरकार से कह रहा है अऊ नई सहिबो, बदल के रहिबो। उन्होंने कहा कि गरीब की चिंता भाजपा सरकार की प्राथमिकता है। हम आपके वर्तमान और आपके भविष्य दोनों की चिंता करते हैं। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि बीते 9 वर्षों में केंद्र की भाजपा सरकार ने जो भी योजनाएं बनाई है उनका लक्ष्य एक ही रहा है, गरीब का कल्याण। आदिवासी का कल्याण। झुग्गी झोपड़ी कच्चे मकान के अंदर कितना कष्ट होता है यह मैं भली भांति जानता हूं इसलिए हमने गरीबों को पक्के घर की योजना बनाई। जब गरीब के लिए दिल में दर्द होता है तो काम कैसे होते हैं यह हमने बताया है। छत्तीसगढ़ में सारे गरीब परिवारों के लिए मकान देंगे। यह मोदी की गारंटी है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार गरीब के घर बनने में भी रोने लगती है। उन्हें गरीबों की चिंता नहीं है। उनकी चिंता यह है कि अगर गरीबों को घर मिल जाएगा तो वह मोदी का जय जयकार करेगा। कोरोना संकट में खाने का संकट न हो, इसके लिए अन्न दिया। छत्तीसगढ़ में इसमें भी घोटाला हो गया। आजादी के बाद कई दशक तक कांग्रेस की सरकार देश में रही लेकिन गरीब के घर शौचालय नहीं बने, पानी की सुविधा नहीं पहुंची, गैस कनेक्शन की तो बात ही कहां थी। बैंक के दरवाजे तक गरीब नहीं जाता था। छत्तीसगढ़ में तो परिस्थितियों और भी गंभीर थी। उन्होंने कहा कि मोदी को आपके स्वास्थ्य के इलाज पर होने वाले खर्च की भी उतनी ही चिंता है। बस्तर से ही मैंने आयुष्मान योजना, गांव गांव अच्छे अस्पताल बनाने का अभियान शुरू किया। हमने हेल्थ वैलनेस सेंटर नाम रखा था लोगों ने काम देखा तो उसका नाम बदल कर आयुष्मान आरोग्य मंदिर रख दिया। अस्पताल मैं गरीब को पैसा न देना पड़े इसके लिए आयुष्मान योजना बनाई। छत्तीसगढ़ के 2 करोड़ से अधिक साथी इसके लाभार्थी हैं। लाखों साथी इस योजना के तहत अपना मुफ्त इलाज करा चुके हैं। भाजपा सरकार में हजारों जन औषधि केंद्र खुले हैं। ताकि गरीबों को सस्ती दवाएं मिल सकें। हमने प्रधानमंत्री जीवन ज्योति और बीमा योजना इसलिए बनाई ताकि गरीबों को भी मुश्किल समय में मदद मिल सके। हमने अटल पेंशन योजना बनाई। 60 वर्ष की आयु के बाद के सभी गरीब सुरक्षित हैं। इसमें सबसे बड़े लाभार्थी हैं हमारे एससी, एसटी, ओबीसी वर्ग के लोग। उन्होंने कहा कि मोदी की गारंटी यानी हर गारंटी को पूरा करने की गारंटी। कांग्रेस पर आक्रमण करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि गंगा जी की कसम खा कर झूठी घोषणा करने का काम सिर्फ कांग्रेसी ही कर सकते हैं। हमने महिला आरक्षण दिया। कितने समय से लटका पड़ा था। यह काम भी मोदी ने पूरा किया। हम समाज के उन वर्गों को भी पूछते हैं जिन्हें पहले कभी किसी ने नहीं पूछा। हमारे विश्वकर्मा साथी हर गांव में हैं। कुम्हार हो, लोहार हो, माला बनाने वाले मालाकार हो, खिलौने वाले हो, मूर्तिकार हो, टोकरी बनाने वाले हो, बांस के काम करने वाले हो, जूते बनाने वाले हो, पत्थर तोड़ने वाले हो, इन सब के छोटे-छोटे परिवार बिखरे पड़े थे। कोई सुध नहीं लेता था। मोदी है उसे उनका दर्द भी पता चलता है हमने ऐसे परिवारों के लिए प्रधानमंत्री विश्वकर्मा योजना बनाई। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि सबको सम्मान का जीवन मिले, यही भाजपा की नीति है। विकास से कोई वंचित नहीं रहेगा। देश के इतिहास में भाजपा ने पहली बार एक आदिवासी बेटी को राष्ट्रपति बनाया लेकिन कांग्रेस ने उनका भी विरोध किया। भला बुरा कहा। उनका अपमान किया। यह भाजपा के विरुद्ध नहीं था बल्कि एक आदिवासी बेटी के विरुद्ध था। छत्तीसगढ़ के हर आदिवासी को आदिवासी की बेटी का यह अपमान हमेशा याद रहना है और कांग्रेस को इसकी सजा देनी है। आदिवासी बेटी के अपमान का बदला लेना है। कांग्रेस की इसी मानसिकता के कारण आदिवासी समाज दशकों तक विकास से वंचित रहा। आदिवासी आरक्षण के मामले में कांग्रेस की नकारात्मक भूमिका आदिवासी समाज नहीं भूल सकता। महरा माहरा समाज को एससी का दर्जा देकर हमने उन्हें उनका हक दिया है। 12 समुदायों को अनुसूचित जाति जनजाति में शामिल कर उन्हें एससी एसटी का दर्जा देकर उनके भविष्य को सवारा है। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि हमारी सरकार ने ओबीसी आयोग को संवैधानिक दर्जा दिया। कांग्रेस ने ओबीसी को क्या दिया। सिर्फ धोखा और गाली। मुझे तक नहीं छोड़ा। मेडिकल और इंजीनियरिंग की पढ़ाई मातृभाषा में होगी। इसका सबसे अधिक लाभ गरीब एससी एसटी ओबीसी माता की संतानों को ही होगा। कांग्रेस ने केंद्र में सत्ता में रहते हुए तिजोरी भर ली थी। उनकी तिजोरी खाली हो रही है तो जहां-जहां राज्य में उनकी सरकार है वहां के लोगों को लूट रहे हैं। छत्तीसगढ़ राज्य में लूट चलाई जा रही है। 5 साल यही किया है। छत्तीसगढ़ में कौन सा खेल चल रहा है। यहां के मुख्यमंत्री के बारे में कहा जाता है 30 टका कक्का, आपका काम पक्का। ऐसी कांग्रेस सरकार को अब आपको बाहर का रास्ता दिखा देना है। कोयला हो, लोहा हो, यह अथाह संपदा यहां है लेकिन कांग्रेस ने कभी इसका लाभ जनता को नहीं मिलने दिया। जहां से जो खनिज निकलता है पहला हक वहां की जनता का हो। मोदी ने इसीलिए डिस्ट्रिक मिनिरल फंड बनाया। आपके हक के हजारों करोड़ों रुपए यहां की सरकार को भेजे। कांग्रेस के लोगों ने इस पैसे को भी लूट लिया। कांग्रेस की सरकार सिर्फ भ्रष्टाचार करती है। इससे केवल राज्य का नुकसान नहीं होता बल्कि हर परिवार का भी नुकसान होता है। कांग्रेस को गौ माता से इतनी नफरत है कि गौ माता के नाम पर भी घोटाले किए। केंद्र सरकार ने वेरिफिकेशन कराया तो 300 में से 250 गोबर प्लांट फर्जी निकले। बंद पड़े हैं। यह कांग्रेस की सच्चाई है। यही कांग्रेस का ट्रैक रिकॉर्ड है। कांग्रेस केंद्र सरकार को दिए जाने वाले आंकड़ों में भी हेराफेरी करती है। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि शराबबंदी का वादा किया था लेकिन वादा पूरा करने की बजाय यहां शराब घोटाला कर दिया। इसमें भी फायदा कांग्रेस के नेताओं को हुआ। इसलिए हर दाई दीदी कह रही है अऊ नई सहिबो, बदल के रहिबो। भाई भतीजावाद भ्रष्टाचार यही कांग्रेस की रीति है। छत्तीसगढ़ को लूटने वाला, युवाओं को धोखा देने वाला कितना भी ताकतवर हो, मोदी की गारंटी है कि जिसने छत्तीसगढ़ को लूटा है, उनको सब कुछ लौटाना पड़ेगा। यह मोदी की गारंटी है लूटने वाला एक भी बचने वाला नहीं है। भ्रष्टाचार से लड़ने का काम करने आप लोगों ने मुझे बैठाया है। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार ने छत्तीसगढ़ के किसानों से एक लाख करोड़ का धान खरीदा है। कांग्रेस वाले झूठ बोलते हैं कि खरीदी उन्होंने की है। गरीब का पैसा किसानों का पैसा बैंक अकाउंट में जाए यह प्रबंध भी मोदी ने किया है। छत्तीसगढ़ के धान किसानों की खुशहाली की गारंटी भी मोदी की है। मेरे किसान मेरी गारंटी पर भरोसा करें। किसान सम्मान निधि के 2,60,000 करोड़ भी मोदी सरकार ने दिए हैं। मोटे अनाज को बाजार में पहुंचाने का काम हमने किया है। भाजपा की सरकार बनेगी। मोटे अनाज की अच्छी कीमत आपको मिलने वाली है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के वादे बस्तर के उस मक्का प्लांट की तरह हैं, जिसका सालों पहले कांग्रेस वालों ने शिलान्यास किया था। कांग्रेस के नेता कहते थे प्लांट लगेगा तो मक्का किसानों को ज्यादा पैसा मिलेगा। कहा गया था कि मक्का प्लांट से इथेनॉल बनाया जाएगा लेकिन मक्का प्लांट को भी लटका दिया गया। उन्होंने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से सवाल किया कि बताओ कक्का, कहां गया प्लांट मक्का। तेंदूपत्ता संग्राहकों को भी कांग्रेस की भ्रष्ट सरकार ने जमकर लूटा है। भाजपा सरकार बनते ही तेंदूपत्ता की खरीदी का विस्तार किया जाएगा।बोनस और बेहतर सुविधाएं देंगे। मोदी की गारंटी है। कांग्रेस सरकार 5-6 वनोपज पर ही एमएसपी देती थी आज 90 वनोपज पर भाजपा की सरकार एमएसपी देती है। जगह-जगह वन धन केंद्र खोले। आदिवासी बहनों को रोजगार मिला। *पूरा बस्तर क्षेत्र धर्मांतरण की आग में झुलस रहा - अरुण साव* कांकेर के गोविंदपुर में आयोजित विजय संकल्प रैली को संबोधित करते हुए भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष अरुण साव ने कहा कि आज पूरा बस्तर धर्मांतरण की आग में झुलस रहा है। बस्तर की आदिवासी संस्कृति पर खतरा मंडरा रहा है। यह विधानसभा चुनाव छत्तीसगढ़ को बचाने का चुनाव हैं। छत्तीसगढ़ को हमारे परम आदरणीय श्रद्धेय अटल बिहारी वाजपेयी जी ने बनाया है। कल 1 नवंबर को हम सभी ने 23वां राज्य स्थापना दिवस मनाया है। आज छत्तीसगढ़ सहित बस्तर का हर व्यक्ति बेहाल है। सड़क, शिक्षा, बिजली, पानी सभी व्यवस्था बेहाल है। कांग्रेस ने छत्तीसगढ़ को नशे का गढ़ बना दिया है। आप सभी से अनुरोध है कि छत्तीसगढ़ में डबल इंजन की सरकार बनाएं और अटल जी के सपनों के अनुरूप समृद्ध, खुशहाल, और विकसित राज्य बनाएं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी छत्तीसगढ़ के कांकेर स्थित गोविंदपुर पहुंचे थे। इसी बीच जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जनता को संबोधित कर रहे थे तो एक छोटी बच्ची उनका स्केच लेकर अपार भीड़ के बीच खड़ी थी प्रधानमंत्री की निगाह उस बच्ची पर पड़ी तो उन्होंने उससे कहा कि आपने बहुत अच्छा प्रयास किया है आप यह स्केच मुझे भेजना और अपना पता भी लिखना मैं आपको पत्र लिखकर धन्यवाद दूंगा। मंच संचालन भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष एवं दुर्ग संभाग प्रभारी भूपेन्द्र सवन्नी ने एवं आभार यशवंत जैन ने किया। इस दौरान सभा में बस्तर संभाग प्रभारी सांसद संतोष पांडेय, भाजपा राष्ट्रीय उपाध्यक्ष लता उसेंडी, कांकेर सांसद मोहन मंडावी, विधायक एवं प्रदेश प्रवक्ता रंजना साहू, विक्रम उसेंडी, जगदीश रामू रोहरा, जिलाध्यक्ष सतीष लाठिया, शालिनी राजपूत, शंकरलाल अग्रवाल देवलाल ठाकुर, नीलकंठ टेकाम, आशाराम नेताम, गौतम उइके, मनीराम कश्यप, चैतराम अटामी, विनायक गोयल, सोयम मुक्का सहित बड़ी संख्या में भाजपा पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता मौजूद रहे।
  • सीआरपीएफ के बड़े-बड़े बक्सों में ले जा रहे हैं रुपए : सरकारी गाड़ियों की भी जांच होना चाहिए - भूपेश बघेल
    रायपुर- मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का बयान. स्पेशल प्लेन से सीआरपीएफ की टीम कल आ चुकी है. ईडी के बड़े-बड़े अधिकारी छत्तीसगढ़ में घूम रहे हैं लेकिन सरकारी गाड़ी की चेकिंग नहीं हो रही है. बड़े-बड़े बक्से उतरे हैं साधारण यात्रियों की भी चेकिंग होती है लेकिन सीआरपीएफ के बड़े-बड़े बक्से भर के आए हैं उसकी चेकिंग नहीं हो रही है. ईडी आए जांच करें लेकिन निर्वाचन आयोग से कहना चाहूंगा उनके वाहनों की भी चेकिंग होना चाहिए. अनिवार्य रूप से क्योंकि बीजेपी हार मान चुकी है और यह आखरी दांव है. बक्सों में पैसे भर भर के ले जा रहे हैं और उसका उपयोग मतदाताओं को प्रभावित करने के लिए किया जा रहा है. सभी वाहनों की चेकिंग खासकर ईडी और सीआरपीएफ के वाहनों की चेकिंग होना चाहिए.
  • *प्रदेश के निर्वाचन मे रायपुर रचने जा रहा है इतिहास : इन विधानसभा में निर्वाचन होगा महिला अधिकारियों के जिम्मे*
    *प्रदेश के निर्वाचन मे रायपुर रचने जा रहा है इतिहास* *उत्तर और पश्चिम विधानसभा में निर्वाचन होगा महिला अधिकारियों के जिम्मे* *उत्तर विधानसभा में मुख्य ऑब्जर्वर से लेकर मतदान अधिकारी होेंगी महिला* *उत्तर में कुल 1060 और पश्चिम विधानसभा में 804 महिला अधिकारी कराएंगी चुनाव, अधिक से अधिक महिला सुरक्षा बलों की भी तैनाती* रायपुर 27 अक्टूबर 2023/ मास्टर ट्रेनर ने पूछा मतदान क्रमांक-02 का क्या कार्य है। महिला प्रशिक्षणार्थियों बताया कि अमिट स्याही लगाना, पर्ची देना, रजिस्टर में हस्ताक्षर कराना। उनकेे सटीक एवं सही जवाब से मास्टर ट्रेनर संतुष्ट हुए और सराहना भी की। यह दृष्य एनआईटी में मतदान दलों का प्रशिक्षण के दौरान का था। यहां ट्रेनिंग ले रहीं महिलाएं उत्साह से लबरेज थी, क्योंकि जिले का यह विधानसभा चुनाव प्रदेश के निर्वाचन में एक नया इतिहास रचने जा रहा है। यहां के दो विधानसभा महिलाओं के जिम्मे होगा। यहां टॉप से लेकर यूनिट तक निर्वाचन का कार्य महिलाओं को सौंपा जाएगा। यह विधानसभा में उत्तर और पश्चिम है। वास्तव में यह महिला सशक्तिकरण का परिदृष्य है। राज्य निर्वाचन आयोग महिला मतदाताओं को मतदान के लिए प्रेरित और महिलाओं को प्रोत्साहित करने के लिए विशेष बूथ संगवारी केंद्र बनाए जा रहे है। जिले के उत्तर और पश्चिम विधानसभा में सभी बूथों को संगवारी मतदान केन्द्र बनाया जा रहा हैं। उत्तर विधानसभा में 18 सेक्टर है। इसमें 01 सेक्टर में महिला अधिकारी होंगी। वहीं 265 कुल मतदान केन्द्र 1 हजार 60 महिला अधिकारियों के हवाले होगा। 265 बूथ में पीठासीन अधिकारी, मतदान क्रमांक 01,02,03 में सभी जगहों पर महिला अधिकारी-कर्मचारी को तैनात किया जाएगा। अर्थात् यहां 265 पीठासीन अधिकारी और 7 सौ 95 मतदान अधिकारी रहेंगे। सबसे प्रमुख बात यह है कि इस विधानसभा के मुख्य ऑब्जर्वर 01 महिला आई.ए.एस अधिकारी श्रीमती विमला आर. है साथ ही उनकी लाईजिनिंग ऑफिसर भी महिला है। साथ ही अधिक से अधिक महिला पुलिस बल भी तैनात किए जा रहे है। यहां पर मतदान पर्ची चेक करने से लेकर उंगली में स्याही लगाने और रजिस्टर में हस्ताक्षर के साथ वोटिंग करवाने तक महिलाएं ही नजर आएंगी। पश्चिम विधानसभा को भी पूर्ण रूप से महिला अधिकारियों के जिम्मे सौंपने की तैयारी की जा रही हैं। 15 सेक्टर और 201 मतदान केन्द्र है। यहां भी 01 सेक्टर महिला अधिकारी होंगी। साथ ही बूथों में 804 महिला अधिकारी होंगी, जिनमें 201 पीठासीन अधिकारी और 603 मतदान अधिकारी होंगी। कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी डॉ सर्वेश्वर भुरे ने बताया कि जिले के इस बार 02 विधानसभा उत्तर और पश्चिम में निर्वाचन कार्य में पूर्ण रूप से महिलाओं की तैनाती की जा रही है। उन्होंने कहा कि महिला अधिकारी-कर्मचारी हमेशा अपनी जिम्मेदारियों का गंभीरता से निर्वहन करती हैं यह सराहनीय है। यह प्रयास किया जा रहा है कि उनकी ड्यूटी मतदान केन्द्र सहित जहां भी लगाई जाएगी वहां पर उनके लिए मूलभूत सुविधा मुहैया कराई जाएगी, ताकि उन्हे कोई तकलीफ ना हो। गौरतलब है कि 26 और 27 अक्टूबर को मतदान दलों का प्रशिक्षण हुआ, जिसमें निर्वाचन कार्य मे संलग्न महिला कर्मियों ने प्रशिक्षण लिया। यहां प्रशिक्षणरत शासकीय पूर्व माध्यमिक शाला, चंगोराभाठा की शिक्षिका अनिता वर्मा, शासकीय उच्चतर. माध्यमिक विद्यालय, पंडित रविशंकर यूनिवर्सिटी परिसर की शिक्षिका छाया तिवारी और शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय, लालपुर की शिक्षिका सुमन पंजाबी का कहना है कि यह महिलाओं के लिए गर्व की बात है कि लोकतंत्र के इस महापर्व में हमे ऐसी महती जिम्मेदारी सौंपी जा रही है। हमारे पूरी टीम में अभूतपूर्व उत्साह और प्रसन्नता है। हम इस जिम्मेदारी को बहुत ही अच्छे ढंग और कुशलता पूर्वक परिणाम तक पहुंचाएंगेेे। जिले के सातों विधानसभा में संगवारी मतदान केन्द्र बनाएं जा रहें हैं जिसका विवरण इस प्रकार है- धरसींवा विधानसभा क्रमांक-47 में 10, रायपुर ग्रामीण विधानसभा क्रमांक-48 में 10, रायपुर पश्चिम विधानसभा-49 में 265, रायपुर उत्तर विधानसभा क्रमांक-50 में 201, रायपुर दक्षिण विधानसभा क्रमांक-51 में 10, आरंग विधानसभा क्रमांक-52 में 10, अभनपुर विधानसभा क्रमांक-53 में 10 संगवारी मतदान केन्द्र बनाए गए हैं।
  • भारत रत्न के लिए निमंत्रण आएगा क्या ? : डॉ. रमन सिंह ने ऐसा क्यों कहा ?*
    *ईडी आईटी के छापे को लेकर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के भाजपा पर आरोप लगाने के बाद पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह का करारा जवाब* *कहा, कुत्ते-बिल्ली जैसे शब्दों के साथ अभद्र भाषा का प्रयोग कर स्वयं को सच्चा कांग्रेसी साबित कर रहे मुख्यमंत्री भूपेश बघेल* *छत्तीसगढ़ की जनता का आक्रोश देख मानसिक संतुलन खो बैठी है कांग्रेस: पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह* *कोई भ्रष्टाचार करेगा तो ED नहीं आएगी तो भारत रत्न के लिए निमंत्रण आएगा क्या?:पूर्व सीएम डॉ. रमन सिंह* रायपुर। 27/10/2023 ईडी आईटी के छापे को लेकर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के भाजपा पर आरोप लगाने के बाद पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने करारा जवाब दिया है, उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ में पिछले 5 साल में भ्रष्टाचार के नए-नए कीर्तिमान स्थापित करने के बाद अब सबसे ज्यादा कोई कांग्रेसी डरा हुआ है तो वो मुख्यमंत्री भूपेश बघेल हैं, कोई भ्रष्टाचार करेगा तो ED नहीं आएगी तो भारत रत्न के लिए निमंत्रण आएगा क्या? इस भ्रष्ट कांग्रेस सरकार के कई अधिकारी, कर्मचारी, कलेक्टर महीनों से जेल में बंद हैं, जमानत तक नहीं हो पा रही है तो यह तो कल ये भी कह देंगे कि न्यायालय को भी भाजपा कंट्रोल कर रही है,दरअसल प्रदेशवासियों का भारी आक्रोश और आगामी विधानसभा चुनाव में अपनी हार देखकर कांग्रेस अपना मानसिक संतुलन खो बैठी है। ED और IT यह संवैधानिक संस्थाएं हैं यह किसी व्यक्ति विशेष या सरकार के दबाव में काम नहीं करती हैं। पिछले 5 साल में कांग्रेस सरकार ने इतने घोटाले कर दिए कि गिनना मुश्किल है, भविष्य में भूपेश बघेल सत्ता में तो नहीं आयेंगे लेकिन जब भी हिंदुस्तान के बड़े लुटेरों की चर्चा चलेगी तो उसमें जरुर भूपेश बघेल का नाम आएगा। इन्होंने 700 करोड़ के धान मिलिंग घोटाले के साथ जितने क्षेत्र छत्तीसगढ़ के स्वाभिमान और विकास से जुड़े हैं उन सभी में लूट की है- • धान का कटोरा कहलाता है हमारा छत्तीसगढ़ यहाँ धान की मिलिंग में 700 करोड़ का घोटाला किया। • हमने प्रदेश के 58 लाख गरीब परिवारों 1 रूपए किलों चावल देकर प्रदेश से भुखमरी समाप्त की इन्होंने गरीबों के मुँह का निवाला छीन लिया, 600 करोड़ का पीडीएस घोटाला और पीएम गरीब कल्याण अन्न योजना में 5 हजार करोड़ का घोटाला किया। • ईश्वर ने हमारे छत्तीसगढ़ को संसाधनों से समृद्ध किया है यहाँ कोयले में 540 करोड़ का घोटाला किया। • प्रदेश की लाखों माताओं-बहनों को शराबबंदी का वादा करके शराब में 2 हजार करोड़ से ज्यादा का घोटाला किया। • छत्तीसगढ़ के युवाओं से सीजीपीएससी में धोखा करके कांग्रेसी नेताओं और बड़े अधिकारीयों के बच्चों को नौकरी दे दिए। • हम गौ माता को पूजते हैं, इन्होंने गौठान के नाम पर 1300 करोड़ और तो और गोबर तक में 229 करोड़ का घोटाला किया और जो थोड़े बहुत गौठान बनाये उनमें गायें व्यवस्था के आभाव में मरती रहीं। इन सब काले कारनामों के बाद भी इस तरह कुत्ते, बिल्ली जैसे शब्दों के साथ अभद्र भाषा का प्रयोग करना शायद आज के समय में स्वयं को सच्चा कांग्रेसी साबित करना है और मुझे लगता है कि शायद यही मुख्यमंत्री भूपेश बघेल भी कर रहे हैं। इसके साथ ही पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि यदि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को ED और IT का डर है तो वे भ्रष्टाचार बंद करें, आये दिन एक नया घोटाला सामने आ जाता है तो ED और जाँच एजेंसी हाथ पर हाथ रखकर थोड़ी बैठेगी, देश आज भ्रष्टाचार के प्रति जीरो टॉलरेंस की दिशा में आगे बढ़ रहा है और घोटालेबाजों पर कार्रवाई जारी है। इसके अलावा उन्होंने कांग्रेस सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि 5 साल तक मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सरकार ने छत्तीसगढ़ का भरोसा तोड़ा अब उनके घोषणापत्र या खोखले वादों पर जनता क्यों विश्वास करे? जिनका पिछला घोषणापत्र ही अधूरा पड़ा है उनपर दोबारा विश्वास करने की भूल छत्तीसगढ़ की जनता नहीं करेगी।
  • *दीपावली, छठ पूजा, गुरु पर्व तथा नया वर्ष/क्रिसमस के लिए उच्चतम न्यायालय तथा नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल के निर्देश*
    *राज्य में हरित पटाखों का ही होगा विक्रय एवं उपयोग, दीवाली में 2 घंटे ही फोड़ सकेंगे पटाखे* *दीपावली, छठ पूजा, गुरु पर्व तथा नया वर्ष/क्रिसमस के लिए उच्चतम न्यायालय तथा नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल के निर्देश* *रायपुर, बिलासपुर, भिलाई-दुर्ग, रायगढ़ तथा कोरबा के नगरीय क्षेत्रों में 1 दिसंबर से 31 जनवरी तक की अवधि में पटाखों का जलाना होगा प्रतिबंधित* रायपुर, 26 अक्टूबर, 2023। राज्य में केवल हरित पटाखों का उपयोग एवं विक्रय ही हो सकेगा। साथ ही दीपावली, छठ, गुरू पर्व, नया वर्ष/ क्रिसमस के अवसर पर पटाखों को फोड़ने के लिए दो घंटे की अवधि निर्धारित की गई है। उच्चतम न्यायालय तथा नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल की मार्गदर्शिका के मुताबिक पटाखों के उपयोग के संबंध में निर्देशों का कड़ाई से पालन करने जिला प्रशासन के अधिकारियों को निर्देशित किया है। दीपावली, छठ पूजा, गुरु पर्व, नया वर्ष/क्रिसमस के मौके पर दो घंटे की अवधि पटाखे फोड़ने के लिए निर्धारित की गई है। दीपावली के लिए रात्रि 8 बजे से रात्रि 10 बजे तक, छठ पूजा के लिए सुबह छह बजे से सुबह 8 बजे तक, गुरु पर्व के लिए रात 8 बजे से रात 10 बजे तक समय निर्धारित किया गया है। क्रिसमस/नया वर्ष के लिए रात्रि 11 बजकर 55 मिनट से रात्रि 12 बजकर 30 मिनट का समय निर्धारित किया गया है। शीत ऋतु में प्रदूषण की स्थिति को देखते हुए वायु( प्रदूषण निवारण तथा नियंत्रण) अधिनियम 1981 की धारा 19 की उपधारा 5 के अधीन प्रदत्त शक्तियों का प्रयोग करते हुए राज्य सरकार द्वारा रायपुर, बिलासपुर, भिलाई-दुर्ग, रायगढ़ एवं कोरबा के नगरीय क्षेत्रों में 1 दिसंबर से 31 जनवरी तक की अवधि में पटाखों का जलाया जाना प्रतिबंधित किया गया है। उच्चतम न्यायालय द्वारा 23 नवंबर 2018 को पारित आदेश के मुताबिक पटाखों के उपयोग के संबंध में कुछ अन्य निर्देश भी दिये गये हैं। इनमें कम प्रदूषण उत्पन्न करने वाले इम्प्रूव्ड एवं हरित पटाखों की बिक्री केवल लाइसेंस्ड ट्रेडर द्वारा किये जाने के निर्देश दिये गये हैं। साथ ही केवल उन्हीं पटाखों को उपयोग के लिए बाजार में बेचा जा सकेगा जिनसे उत्पन्न ध्वनि का स्तर निर्धारित सीमा के भीतर हो। सीरीज पटाखे अथवा लड़ियों की बिक्री, उपयोग एवं निर्माण प्रतिबंधित किया गया है। पटाखों के ऐसे निर्माताओं का लाइसेंस भी रद्द करने के निर्देश दिये गये हैं जिनके द्वारा पटाखों में लीथियम, आर्सेनिक, एन्टिमनी, लेड एवं मर्करी का उपयोग किया गया है। आनलाइन अर्थात ई-व्यापारिक वेबसाइटों जैसे फ्लिपकार्ट, अमेजान आदि से पटाखों की बिक्री प्रतिबंधित रहेगी। उक्त निर्देशों के कड़ाई से पालन के निर्देश जिला प्रशासन को दिये गये हैं।
  • शासन की योजनाओं का लाभ लेने हर कोई बन जाएगा किसान
    प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज चुनावी घोषणा के तहत किसानों के फिर एक बार कर्ज माफ करने की बात कही है | मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने मंच से घोषणा की है कि फिर से हमारी सरकार बनाओ किसानों के इस बार भी कर्ज माफ किए जाएंगे | 5 साल पहले किसानों के कर्ज माफ करने वाली कांग्रेस सरकार 5 साल बाद यदि फिर एक बार चुनाव जीतने के लिए कर्ज माफी की घोषणा कर रही है तो यह सही नहीं है | एक तरफ तो किसने की उपज समर्थन मूल्य पर खरीदी जा रही है वहीं दूसरी तरफ उनके कर्ज माफ किया जा रहे हैं तीसरी तरफ केंद्र सरकार हर किसान को प्रति एकड़ 9 हजार रुपए दे रही है | प्रदेश सरकार द्वारा भी किसानों को कई तरह की योजनाओं का लाभ दिया जा रहा है अगर यही सब जारी रहा तो आप मान लीजिए भविष्य में हर व्यक्ति किसान बन जाएगा चाहे वह नकली ही किस क्यों ना हो | जिस तरह गरीबी रेखा के नाम पर हिंदुस्तान में 80 करोड़ से ज्यादा लोग गरीबी रेखा के नीचे की योजनाओं का लाभ ले रहे हैं | जबकि इन्हीं गरीबी रेखा के नीचे की सरकारी योजनाओं का लाभ लेने वाले अधिकांश लोगों के पास अपने पक्के मकान फ्री टीवी पंखा मोटरसाइकिल के साथ-साथ अनेक लोगों के पास वह सब कुछ है जो एक अमीर आदमी के पास होता है | और यह सब कुछ क्यों हो रहा है क्योंकि गरीबी रेखा अर्थात बीपीएल कार्ड धारी लोगों को शासन की अनेक योजनाओं का लाभ अत्यधिक मात्रा में मिलता है जबकि मिडिल क्लास टैक्स पटाने के बावजूद भी इन सुविधाओं से वंचित रहता है | यही कारण है कि लोग गरीब ना होते हुए भी गरीबी रेखा का कार्ड बनवाने अपने आप को गरीब बताने से भी नहीं हिचकते | गरीबी रेखा की योजनाओं का जिस तरह संपन्न लोग भी लाभ उठाते हैं ठीक उसी तरह प्रदेश एवं केंद्र सरकार द्वारा वोट की राजनीति की खातिर किसानों के कर्ज माफी समर्थन मूल्य में बढ़ोतरी प्रति एकड़ हर किसान को प्रदेश एवं केंद्र सरकार द्वारा राशि के भुगतान की घोषणा साधन संपन्न लोगों को किसान बनने पर मजबूर करेगी | किसान ना होते हुए भी अपने आप को किसान दिखाकर केंद्र एवं प्रदेश सरकार के लुभाने ऑफर का लाभ लेने के लिए जो कुछ होगा वह सही नहीं होगा |
  • साइबर ठगों से लोगों को बचाने पुलिस का अनोखा अभियान
    *साइबर जागरूकता ही एकमात्र उपाय है जो साइबर रूपी रावण को खत्म कर सकता है* साइबर क्राइम की बढ़ती घटनाओं को ध्यान में रखकर रायपुर पुलिस ने अनोखा जन जागरूकता अभियान चलाया है, दशहरे के अवसर पर रावण के विशालकाय पुतले को साइबर रावण का प्रतीक बनाकर यह जानकारी देने का प्रयास किया जा रहा है कि जन सामान्य की अज्ञानता और लापरवाही ही रावण रूपी साइबर क्राइम की ताकत है| यातायात विभाग के वाहन पर बनाए गए रावण के विशाल पुतले के माध्यम से रायपुर पुलिस द्वारा यह बताने का प्रयास किया जा रहा है कि साइबर जागरूकता ही एकमात्र उपाय है जो साइबर रावण को खत्म कर सकता है | शासन प्रशासन के साथ साथ पुलिस, इलेक्ट्रॉनिक मीडिया, अखबारों द्वारा हर तरह से लोगों को सचेत करने के बावजूद पढ़े-लिखे लोग भी इन साइबर अपराधियों के झांसे में आकर अपनी मेहनत की कमाई क्यों गवा रहे हैं ? समझ से परे है| रायपुर पुलिस और CG 24 News की अपील है कि किसी भी लिंक, फोन कॉल, मैसेज, फेसबुक अपील या सस्ते दामों के लालच में खरीदी बिक्री ऑनलाइन ना करें साथ ही विशेष ध्यान रखें कि किसी भी अनजान व्यक्ति या महिला के किसी भी काल पर उन्हें अपना ओटीपी कभी भी शेयर ना करें| यहां यह भी ध्यान रखें की कोई भी बैंक अपने किसी भी उपभोक्ता से फोन पर कोई जानकारी नहीं मांगता और ना ही कभी ऑनलाइन अपडेट करने कहता है इसलिए कोई भी अपडेट स्वयं बैंक जाकर करें कोई फोन या मैसेज आने पर या ठगी का शिकार होने पर साइबर पुलिस के साथ बैंक को तुरंत सूचित करें | CG 24 News
  • क्यों था रावण को मारना असंभव ऐसा क्या था रावण के पास जो उसे सर्वशक्तिशाली बनाता था।

    रावण एक सिद्ध ब्राह्मण था और परम तपस्वी. उसने अपनी तपस्या से कई वरदान प्राप्त किए थे। हालांकि रावण अमर तो नहीं था,लेकिन उसे मारना भी असंभव था. इसका कारण था अमृत कलश। रावण ने अमृत कलश अपनी नाभि में छिपा कर रखा था।

    रावण ने कैसे प्राप्त किया अमृत कलश

    पुराणों के अनुसार रावण अमृत कलश प्राप्त करने के लिए अपने भाईयों कुंभकर्ण और विभीषण के साथ गोकुंड नाम के आश्रम में तपस्या के लिए गया था। उसने ब्रह्मदेव को प्रसन्न करने के लिए कठोर तप किया था। उसके लिए उसने दस हजार वर्षों तक तपस्या की थी। वह एक हजार वर्ष पूरा होने के बाद अपना एक सिर हवन कुंड में अर्पित कर देता था। इस प्रकार नौ हजार वर्ष पूर्ण होने के बाद वह अपने नौ सिरों को हवन कुंड में चढ़ा चुका था। जब दस हजार वर्ष पूर्ण होने वाले थे तो रावण अपना दसवां सिर भी हवन कुंड में चढ़ाने लगा,लेकिन उसी समय ब्रह्मा जी  प्रकट हो गए और रावण की तपस्या से प्रसन्न होकर वर मांगने को कहा ।
    रावण ने मांगा अमृत्व का वरदान
    रावण ने ब्रह्म देव से अमृत्व का वरदान मांगा। ब्रह्मा जी ने रावण से कहा कि ऐसा संभव नही है, जो भी इस पृथ्वी पर आया है उसे तो जाना ही पड़ेगा। तब रावण ने यह वर मांगा की मनुष्य जाति को छोड़कर और कोई भी उसका वध न कर सके। ब्रह्मा जी ने रावण को वरदान देते हुए उसके कटे हुए नौ सिर भी वापस कर दिए। ये वरदान ऐसा ही बना रहे इसीलिए ब्रह्मा जी ने रावण की नाभि में अमृत कुंड  स्थापित कर दिया। अब रावण की मृत्यु तभी संभव थी जब उस कलश का अमृत सूख जाता।
    श्रीराम ने ऐसे किया रावण का वध 
    जब प्रभु श्रीराम और रावण के बीच युद्ध हो रहा था तब उसे मारने में बहुत समस्या हो रही थी। तभी विभीषण ने श्रीराम को संकेत दिया कि वह रावण कि नाभि में तीर मारें क्यूंकि वहां रावण ने अमृत कलश छिपा रखा है। इतना कहते ही श्रीराम ने तीर चला दिया और रावण मारा गया।
  • बंगाली समाज के लोग कैसे मनाते हैं दुर्गा पूजा? जानें दुर्गोत्सव के अनुष्ठान और प्रथाओं के बारे में

    दुर्गा पूजा (Durga Puja) को दुर्गोत्सव, या शारोदोत्सव के रूप में भी जाना जाता है। भारतीय हिंदू हर साल हिंदू देवी दुर्गा (मां दुर्गा) के सम्मान में मनाया जाता है। मुख्य रूप से बंगाली कल्चर के लोग दुर्गा पूजा को काफी धूमधाम से मनाते हैं लेकिन धीरे-धीरे इस त्योहार को पूरे भारत के लोग सेलेब्रेट करने लगे हैं।

     

    दुर्गा पूजा (Durga Puja) को दुर्गोत्सव, या शारोदोत्सव के रूप में भी जाना जाता है। भारतीय हिंदू हर साल हिंदू देवी दुर्गा (मां दुर्गा) के सम्मान में मनाया जाता है। मुख्य रूप से बंगाली कल्चर के लोग दुर्गा पूजा को काफी धूमधाम (Durga Puja Celebration) से मनाते हैं लेकिन धीरे-धीरे इस त्योहार को पूरे भारत के लोग सेलेब्रेट करने लगे हैं। दिल्ली, उत्तर प्रदेश, राजस्थान, मुंबई में बंगालियों की संख्या काफी ज्यादा है इस लिए इन शहरों में भी मां दुर्गा की पूजा के लिए पंडाल सजाया जाता है जहां कोने-कोने से लोग आते हैं। 

    बंगाली घर में दुर्गा पूजा कैसे मनाई जाती है

    विषेश रूप से दुर्गा पूजा भारतीय राज्यों बिहार, पश्चिम बंगाल, असम, ओडिशा, त्रिपुरा और बांग्लादेश देश में लोकप्रिय और पारंपरिक रूप से मनाया जाता है। त्योहार अश्विन के भारतीय कैलेंडर महीने में मनाया जाता है, इस त्यौहार की धूम दस दिन तक होती है। दुर्गा मां के पंडाल में 10 दिनों कर भव्य रूप से मां की आरती करके उन्हें खुश करने की कोशिश की जाती है।

     

    10 दिनों की दुर्गा पूजा में आखिरी पांच दिनों का है खास महत्व

    दुर्गा पूजा (Durgotsava) का त्योहार बंगालियों के लिए 10 दिनों के लिए होता है जिसमें घर के मंदिर के साथ साथ सार्वजनिक रूप से पंडाल बना कर मां दुर्गा की आराधना की जाती है। दुर्गा मां के पंडाल में एक अस्थायी मंच तैयार किया जाता है, जिसे बहुत ही खूबसूरत और अनौखी चीजों से सजाया जाता है। 10 दिनों के त्योहार को धर्मग्रंथों के पाठ, प्रदर्शन कला, रहस्योद्घाटन, उपहार देने, परिवार के दौरे, दावत और सार्वजनिक जुलूसों द्वारा भी मनाया जाता है। दुर्गा पूजा हिंदू धर्म की शक्तिवाद परंपरा में एक महत्वपूर्ण त्योहार है।