Top Story
  • डिप्टी सीएम टीएस सिंहदेव का बड़ा बयान, कहा – अब मैं चुनाव नहीं लडूंगा, सीएम पद को लेकर कही यह बात

    छत्तीसगढ़ में कल विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण का मतदान हुआ, मतदान के पहले से ही भाजपा और कांग्रेस अपनी-अपनी सरकार बनने का दावा कर रही है। इसी बीच प्रदेश के डिप्टी सीएम टीएस सिंह देव (Deputy CM TS Singh Deo) का एक बड़ा बयान सामने आया है। डिप्टी सीएम टीएस सिंह देव के इस बयान के सामने आने के बाद से राजनीतिक गलियारों में हलचल मच गई है।

     टीएस सिंह देव ने दिया बड़ा बयान

      बता दें कि, डिप्टी सीएम टीएस सिंह देव ने एक बड़ा बयान देते हुए कहा कि, अब मैं चुनाव नहीं लडूंगा। पार्टी जो भी जिम्मेदारी देगी उसका निर्वहन करते रहूंगा। कांग्रेस की सरकार बनने के बाद प्रदेश का सीएम कौन होगा इस सवाल के जवाब पर टीएस सिंह देव ने कहा कि, प्रदेश का अगला सीएम कौन होगा यह हाईकमान तय करेगा। इसके साथ ही डिप्टी सीएम टीएस सिंह देव ने कहा कि, प्रदेश में दो तिहाई बहुमत के साथ कांग्रेस की सरकार बनेगी।

  • मतदान के बारे में युवक - युवतियों सहित परिवारों से अपील
    आज का युवा मतदान को महत्व नहीं देता, छुट्टी का मजा जरूर लेता है परंतु मतदान करने का समय उनके पास नहीं है| कल 17 नवंबर को छत्तीसगढ़ की 70 विधानसभा सीटों के लिए मतदान होना है जिसमें राजधानी रायपुर न्यायधानी बिलासपुर भी शामिल है | अधिकांश युवक एवं युवतियां मतदान करने की बजाय मॉल में घूमते नजर आएंगे सिनेमा देखे नजर आएंगे और बाग बगीचों में इनकी भीड़ एंजॉय करती नजर आएगी | मतदान के लिए मिली छुट्टी उनके लिए एंजॉय का पिकनिक का मौका बन जाती है | सीजी 24 न्यूज़ की अपील है कि आप इंजॉय अवश्य करें छुट्टी का आनंद जरूर लें परिवार के साथ घूमने जरूर जाएं अपने फ्रेंड के साथ छुट्टी का आनंद जरूर ले परंतु यह सब करने से पहले मतदान जरूर करें |
  • *छत्तीसगढ़ में भारतीय जनता पार्टी की हार का कारण बनेंगे निष्ठावान पुराने वरिष्ठ निस्वार्थ कार्यकर्ता*
    *छत्तीसगढ़ में भारतीय जनता पार्टी की हार का कारण बनेंगे निष्ठावान पुराने वरिष्ठ निस्वार्थ कार्यकर्ता* छत्तीसगढ़ में भाजपा के 15 साल के शासन के समय कार्यकर्ताओं की उपेक्षा बाहरी व्यक्तियों को बढ़ावा संगठन और शासन में ताल मेल का अभाव, अधिकारियों के भरोसे शासन की नीतियों में परिवर्तन, शराब का शासकीय कारण भाजपा की हार के कारण बने थे | 2018 में भाजपा के सत्ता से बाहर होने के बाद पूरे 5 सालों तक भाजपा के पूर्व मुख्यमंत्री पूर्व मंत्रियों के साथ-साथ भारतीय जनता पार्टी संगठन ने कोई आत्म मंथन नहीं किया, सत्ता जाने के बाद के कारणों पर कहीं चर्चा नही की और ना ही कार्यकर्ताओं से हारने का फीडबैक लिया | 2003 से 2018 तक के सभी मंत्रियों, नेताओं, लाल बत्ती वाले मंडल, आयोगों के अध्यक्षों सहित सभी पूर्व विधायकों एवं जो 15 विधायक जीते वह सभी करोड़ों के बंगलों में बैठकर अपनी अवैध कमाई और अपने अवैध व्यापार की देखरेख करने और आराम का जीवन जीने में मस्त हो गए | उन्होंने 15 साल शाही जीवन जिया और इस दौरान अर्जित की गई करोड़ों, अरबों, खरबों की अवैध संपत्ति जो उनकी हार के बाद उनके राजशाही ठाट बाठ के जीवन जीने के लिए काफी थी के कारण मुड़कर पीछे कार्यकर्ताओं की तरफ ध्यान देने को जरूरी नहीं समझा, और अब चुनाव के समय कार्यकर्ताओं को भारतीय जनता पार्टी के लिए सक्रिय हो जाने की अपील करते फिर रहे हैं | *यहां यह बताना भी जरूरी है कि भारतीय जनता पार्टी ने कार्यकर्ताओं से काम करवाने के बदले सभी काम दिल्ली, मुंबई जैसे बड़े शहरों की बड़ी कंपनियों को ठेके पर दिए हैं |* भाजपा का राष्ट्रीय संगठन हो या प्रदेश का किसी ने भी यह नहीं सोचा की पार्टी के लिए चुनावों का जो काम एजेंसियों के माध्यम से ठेके पर दिया जा रहा है अगर वही राशि कार्यकर्ताओं को दी जाती तो कार्यकर्ताओं की आय का साधन बनता और साथ ही साथ पार्टी के वोट और सपोर्टरों में बढ़ोतरी होती | भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री को चाहिए था कि पार्टी को अपनी कड़ी मेहनत और अपने घर से खर्च कर भाजपा का प्रचार प्रसार कर सत्ता में लाने वाले निष्ठावान, निस्वार्थ कार्यकर्ताओं की लिस्ट बनाकर उनसे इन 5 सालों के दौरान कम से कम 10 बार अलग-अलग मिलकर या विधानसभा स्तर पर मीटिंग कर उनके सुझाव लेकर पुन सक्रिय होने का आग्रह कर पार्टी में कार्य करने की अपील करते परंतु ऐसा हुआ नहीं | भारतीय जनता पार्टी के अधिकांश पुराने कार्यकर्ता पूर्व मंत्रियों पूर्व विधायकों सहित भाजपा संगठन की अवहेलना से नाराज होकर सक्रिय राजनीति से किनारा कर चुके हैं, भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय संगठन द्वारा समय-समय पर छत्तीसगढ़ भेजे गए अलग-अलग प्रदेश प्रभारी ने भी यहां पुराने कार्यकर्ताओं की सुध नहीं ली वह सिर्फ प्रथम पंक्ति के नेताओं मंत्रियों से चर्चा कर वापस चले जाते रहे | प्रदेश में समय-समय पर प्रदेश अध्यक्ष भी बदले परंतु किसी भी प्रदेश अध्यक्ष के पास पुराने निस्वार्थ निष्ठावान कार्यकर्ताओं की कोई लिस्ट नहीं है, प्रदेश प्रभारी एवं प्रदेश अध्यक्षों ने कभी भी पुराने कार्यकर्ताओं की लिस्ट नहीं बनाई और ना ही किसी पुराने कार्यकर्ताओं से संपर्क किया जो प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी के लिए नुकसान देह साबित हो सकता है | मंत्रियों, नेताओं के भ्रष्टाचार और मनमानियां से तंग अनेक पुराने वरिष्ठ कार्यकर्ताओं ने इन प्रदेश प्रभारी एवं प्रदेश अध्यक्षों से मिलकर अपनी बात भी रखी परंतु उन्हें सुना नहीं गया और दुत्कार दिया गया | छत्तीसगढ़ में होने जा रहे 2023 के विधानसभा चुनाव में लगभग सभी पुराने निष्ठावान, निस्वार्थ कार्यकर्ता भारतीय जनता पार्टी के लिए कोई काम नहीं कर रहे हैं | ऐसे सभी कार्यकर्ता अपने-अपने व्यापार को ठीक करने में लगे हैं जो पार्टी के प्रति निष्ठा और सक्रियता के कारण उनकी आय के साधन नुकसान में चले गए थे | पुराने वरिष्ठ निष्ठावान निस्वार्थ कार्यकर्ता की निष्क्रियता भारतीय जनता पार्टी की जीत में बाधक साबित सकती है, इन कार्यकर्ताओं और उनके परिवार के लोग सहित आस पड़ोस और उनके घनिष्ट परिचित भी भाजपा के लिए नुकसान का कारण बन सकते हैं ! ऐसे पुराने निष्ठावान, पार्टी के प्रति निस्वार्थ भाव से काम करने वाले, पार्टी को सत्ता के शिखर तक पहुंचने वाले कार्यकर्ता अपने-अपने घरों दुकानों में बैठे देखे जा सकते हैं | CG 24 News
  • गरंटियों पर अनुराग ठाकुर भूपेश बघेल पर भड़के : लगाए कई आरोप
    राजधानी रायपुर में केन्द्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर की पत्रकार वार्ता झूठे वादे जूठे इरादे कांग्रेस के नही नेक इरादे बहुत हुआ सट्टे का खेल बाय-बाय भूपेश बघेल ₹500 महिलाओं को देंगे नहीं दिया गारंटी फेल कांग्रेस फेल अभिषेक परिवार को गैस सिलेंडर मुफ्त देंगे नहीं दिए, घर-घर शराब पहुंचाई, बेरोजगारी भत्ता देने की बात कही नहीं दे पाए, पीएससी घोटाला किया, प्रत्येक ग्रामीण भूमि परिवारों को जमीन घर देंगे नहीं दिया, गोटन घोटाला हुआ गौ माता को शराब कांग्रेस साफ़, महादेव घोटाला, रोजगार देने की बात की लेकिन नहीं मिला रोजगार, पुराना बकाया देने की बात कही लेकिन नहीं दिया | पहला राज्य नहीं जिसमें कांग्रेस झूठे वादे किया नहीं हिमाचल प्रदेश से आता हूं दोनों भाई-बहन वहां भी झूठे वादे करके गए अब वहां मुंह दिखाने लायक नहीं है रोजगार देने की बात की थी 1000 लोग कभी रोजगार नहीं दिया हिमाचल प्रदेश में 8 ऐसी गारंटी किया लोगों को भरोसा दिलाया लेकिन लोगों कोठागा और अपनी गारंटी ऊपर फेल हुए
  • भाजपा का आना और 30 टका वाले कक्का का जाना तय  - मोदी*
    *भाजपा का आना और 30 टका वाले कक्का का जाना तय - मोदी* महासमुंद/ रायपुर। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सोमवार को महासमुंद में विशाल आमसभा को संबोधित करते हुए कहा कि छत्तीसगढ़ में भाजपा की सरकार का आना और 30 टका वाले कक्का का जाना तय है। कांग्रेस ने ढाई ढाई साल का एग्रीमेंट किया था। भूपेश बघेल ने लूट के पैसों से आलाकमान से सौदा कर ढाई साल और खरीद लिया। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि भूपेश बघेल के नाते रिश्तेदार ने सुपर सीएम बनकर छत्तीसगढ़ को बर्बाद कर दिया। छत्तीसगढ़ के लोग ऐसे भ्रष्टाचारियों को सबक सिखाएंगे। *गरीबों का आवास छीन लिया* प्रधानमंत्री ने कहा कि गरीब विरोधी कांग्रेस सरकार ने गरीबों का पक्का मकान छीन लिया। भाजपा ने देश के गरीबों को 4 करोड़ मकान दिए। कांग्रेस की सरकार ने छत्तीसगढ़ के गरीबों को मकान नहीं मिलने दिए। उन्होंने कहा कि भ्रष्ट कांग्रेस सरकार के भ्रष्टाचारी अफ़सर जेल में बंद हैं और उन्हें जमानत तक नहीं मिल रही है। ये सिर्फ भ्रष्टाचार का मामला नहीं है। बहुत बड़ा अपराध है। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि यहां मौजूद लोगों से कहना चाहूंगा कि 508 करोड़ टाइप कीजिए महादेव सट्टा एप दिख जाएगा।पूरी दुनिया आज जान चुकी हैं। इन्होंने छत्तीसगढ़ को बदनाम कर दिया। 17 तारीख को कमल फूल पर बटन दबाकर भाजपा की सरकार बनाएं और भ्रष्टाचारियों की सरकार को उखाड़ कर फेंक दें। आप सभी को भाजपा सरकार के शपथ ग्रहण समारोह का न्यौता देने आया हूं। *युवाओं के भविष्य से खिलवाड़* प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि कांग्रेस की सरकार ने पीएससी में घोटाला करके युवाओं के भविष्य के साथ खिलवाड़ किया। अगर कांग्रेस को रोका नहीं गया तो इनके हौसले और बढ़ जायेंगे। पीएससी को कांग्रेस का अड्डा बना देंगे। लोग कहने लगे हैं कि इन्होंने छत्तीसगढ़ से लूटकर दिल्ली में अपने आकाओं को भेजा है। *कांग्रेस ने सबको ठगा* प्रधानमंत्री ने कहा कि कांग्रेस ने सभी को ठगा है। ओबीसी समाज को कभी भी सैवैधानिक दर्जा नहीं दिया। आदिवासी क्षेत्रों में स्वास्थ सेवाओं का बुरा हाल था। भाजपा ने पोषण आहार अभियान चलाया और राशन, चना मुफ्त में दे रहे हैं। *भूपेश का हारना तय* प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल खुद चुनाव हार रहे हैं। पहले चरण के मतदान में कांग्रेस का जाना तय हो गया है। उन्होंने कहा कि भाजपा ने छत्तीसगढ़ बनाया है, भाजपा ही संवारेगी। केंद्र की योजनाओं को कांग्रेस की सरकार ने रोका और छत्तीसगढ़ की जनता को केंद्र की योजनाओं का पूरा लाभ नहीं मिलने दिया। उन्होंने कहा कि देश में कोई भी गरीब झोपड़ी में नहीं रहेगा। राज्य की जनता को भाजपा ने जो गारंटी दी है वो पूरी होगी। ये मोदी की गारंटी है। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि छत्तीसगढ़ में लोकल फॉर वोकल का असर दिखा। लोग आज स्थानीय दुकानदारों से सामान खरीद रहे हैं। गांव , राज्य और देश का पैसा देश में ही रह रहा है।कांग्रेस के एक भी नेता ने इस बारे में एक शब्द भी नहीं कहा होगा। प्रधानमंत्री ने कहा कि मेरा साथ दीजिए। मैं छत्तीसगढ़ को ऊंचाइयों पर ले जाना चाहता हूं। घर घर जाकर मेरा प्रणाम, जोहार और राम राम कहना। इस दौरान भाजपा राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष सुश्री लता उसेंडी, रायपुर सांसद सुनील सोनी, महासमुंद सांसद चुन्नीलाल साहू, पूर्व मंत्री एवं भाजपा मुख्य प्रवक्ता अजय चंद्राकर, भाजपा खल्लारी प्रत्याशी अलका चंद्राकर, सरायपाली प्रत्याशी सरला कोसरिया, बसना प्रत्याशी संपत अग्रवाल एवं महासमुंद प्रत्याशी योगेश्वर राजू सिन्हा, आरंग प्रत्याशी खुशवंत साहेब, राजिम प्रत्याशी रोहित साहू, चिकित्सा प्रकोष्ठ के प्रदेश संयोजक डॉ. विमल चोपड़ा, पूनम चंद्राकर सहित भाजपा पदाधिकारी मौजूद रहे। मंच संचालन जिला अध्यक्ष श्रीमती रूप कुमारी चौधरी ने किया।
  •  रमन सिंह की खुद की सीट नहीं बच रही, फेंकना है तो और ज्यादा फेक लेते :  भूपेश बघेल
    मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने रमन सिंह को लेकर कहीं यह बात कही यह बात पहले चरण में 14 सीट जीतने की रमन सिंह के वादा को लेकर कहां* फेंकना है तो ज्यादा फेक लेते हैं उसकी खुद की सीट नहीं बच रही है पिछले समय हम 17 सीट जीते थे इस समय उसे भी ज्यादा जीतेंगे शांतिपूर्वक मतदान हो रहे हैं हमने ऋण माफी किया है, हमने फिर से घोषणा किया है ₹3200 आन और 200 यूनिट बिजली घोषणा से लोग प्रभावित है इसीलिए मतदान का प्रतिशत भी बढ़ेगा फर्स्ट टाइम वोटर भी बढ़ चढ़कर हिस्सा ले रहे | *हमारी सीट 18 या 19 धोखे से बीजेपी की एक आध सीट आ सकती है * *15 साल मौका मिला था आदिवासियों की जमीन छीनकर उद्योगपतियों को दे दिया* आदिवासियों को नक्सली बताकर जेल के अंदर ठूस दिया, एनकाउंटर कर मार दिए , यह बात आदिवासी भूल नहीं है | हमारे कार्यकाल में आदिवासी निश्चित होकर विचरण कर रहे हैं, नक्सली सिमट गए हैं, इनके राज में नक्सलियों का राज था अब बस्तर शांति की ओर लौट रहा है | *नक्सली हमले को लेकर कहां* पहले ज्यादा हमले होते थे अभी कम हुआ है या भी नहीं होना चाहिए | *अंदरूनी इलाकों में पहली बार मतदान केंद्र को लेकर कहां* निर्वाचन आयोग में अंदरूनी क्षेत्र में मतदान केंद्र बनाया है सबसे बड़ा प्रमाण है कि हमने बस्तर में शांति बहाली की | *उद्धव ठाकरे के बीजेपी पर तंज को लेकर कहां* जो भजापा में शामिल होते , मोदी वाशिंग पाउडर से धुलने के बाद सब दाग साफ हो जाते हैं *रमन सिंह के भूपेश बघेल पर इस्तीफा की मांग पर कहां* जो पैसे पड़े हैं ,वह रमन सिंह के साथ फोटो है ,जो गाड़ी है वह भाजपा नेता के हैं परसों तक कोई नहीं जानता था, शुभम वह अचानक महादेव का मालिक बन गया उसके पहले ईडी उसे अधिकारी बता रहे थे, ऐसा मालिक है जो अपने नौकर की शादी में ढाई सौ करोड रुपए खर्च करता हैं, रमन सिंह के कार्यकाल में दो अधिकारी थे वह ऐसे ही स्टोरी बनाते थे, यह पूरा प्लांटेड है बीजेपी हार मान चुकी है आखिरी दांव है | *रमन सिंह का ही पैसा तो नहीं है* जिसके पास इतना पैसा होता है वह कोटे का चावल नहीं खाता ऐसा तो नहीं की रमन सिंह का पैसा है, जांच करना चाहिए, ईडी ने अभी तक जांच क्यों नहीं की , वह पैसा किसका है, बिलासपुर में ईडी के छापे पर कहा, जो चंदा नहीं दिए होंगे तो बिलासपुर में फिर छापा मारे हैं | विधानसभा के बाद ईडी ब्रेक लेगी उसके बाद फिर से आएंगे |
  • महादेव ऐप: रायपुर पुलिस ने जारी किया कार्यवाही का पत्र
    महादेव बेटिंग ऐप्प पर कार्यवाही करते हुए वर्ष 2022 में Google को correspondence किया गया था कि playstore से Mahadev Book App को हटाया जाये, जिसके पश्चात् playstore से यह App हट गया था। दुबई से ऑपरेट कर रहे महादेव ऐप्प के मुख्य दोनों संचालकों, सौरभ चंद्राकर और रवि उप्पल को रायपुर पुलिस ने अपने यहाँ दर्ज प्रकरण में आरोपी बनाया और जून महीने में ही इन दोनों आरोपियों के विरुद्ध लुक आउट सर्कुलर भी रायपुर पुलिस द्वारा जारी करवाया गया है। महादेव ऐप्प के विरुद्ध रायपुर पुलिस द्वारा लगातार कार्यवाही की गई है। महादेव ऐप के विरुद्ध रायपुर पुलिस ने 36 FIRs की हैं। रायपुर पुलिस ने छत्तीसगढ़ के अलावा कटनी, अनूपपुर, विशाखापटनम, उड़ीसा, दिल्ली, गोवा, महाराष्ट्र इत्यादि प्रदेशों/शहरों में भी रेड कार्यवाही करते हुए वहाँ के पैनल ऑपरेटर्स को भी पकड़ा है। 235 आरोपियों को अरेस्ट किया गया है। सैकड़ों मोबाइल लैपटॉप जप्त किए हैं, 500 से अधिक एकाउंट्स फ्रीज़ कराये हैं।
  • राजधानी की पुलिस ने महादेव ऐप के खिलाफ अब तक की गई कार्रवाई का दिया ब्यौरा, 36 FIR, 235 आरोपी गिरफ्तार, सौरभ चंद्राकर-रवि उप्पल प्रमुख आरोपी

    रायपुर। छत्तीसगढ़ में चल रहे विधानसभा चुनाव के दौरान ED की महादेव सट्टे के खिलाफ की गई कार्रवाई, सूत्रधार के बयान और भाजपा द्वारा लगाए जा रहे आरोपों के बीच अब छत्तीसगढ़ की पुलिस ने भी अपना पक्ष रखा है। राजधानी की पुलिस ने इस संबंध में प्रेस नोट जारी करते हुए कहा है कि महादेव एप्प के विरुद्ध रायपुर पुलिस द्वारा लगातार कार्यवाही की गई है। महादेव ऐप संचालित करने वालों के विरुद्ध रायपुर पुलिस ने 36 FIRs की हैं। रायपुर पुलिस ने छत्तीसगढ़ के अलावा कटनी, अनूपपुर, विशाखापटनम, उड़ीसा, दिल्ली, गोवा, महाराष्ट्र इत्यादि प्रदेशों/शहरों में भी रेड कार्यवाही करते हुए वहां के पैनल ऑपरेटर्स को भी पकड़ा है। इन मामलों में 235 आरोपियों को अरेस्ट किया गया है।

    पुलिस ने बताया है कि सट्टा एप्प के खिलाफ दर्ज मामलों में सैकड़ों मोबाइल लैपटॉप जप्त किए हैं, 500 से अधिक एकाउंट्स फ्रीज़ कराये गए हैं।

    महादेव एप्प के ऑपरटरों के खिलाफ लुक आउट नोटिस

    इस दौरान दुबई से ऑपरेट कर रहे महादेव ऐप्प के मुख्य दोनों संचालकों, सौरभ चंद्राकर और रवि उप्पल को रायपुर पुलिस ने अपने यहां दर्ज प्रकरण में आरोपी बनाया और जून महीने में ही इन दोनों आरोपियों के विरुद्ध लुक आउट सर्कुलर भी रायपुर पुलिस द्वारा जारी करवा दिया गया है।

    PLAY STORE से एप्प को हटवाया

    पुलिस द्वारा लगभग साल भर पहले Google से पत्राचार किया गया, और कहा गया कि playstore से Mahadev Book App को हटाया जाये, जिसके बाद playstore से यह App हटा दिया गया।

  • *महादेव एप्प में कांग्रेस का नया खुलासाः बृजमोहन अग्रवाल की गाड़ी से ईडी ने रकम जप्त किया*
    *महादेव एप्प में कांग्रेस का नया खुलासाः बृजमोहन अग्रवाल की गाड़ी से ईडी ने रकम जप्त किया* *भाजपा कार्यकर्ता के बयान, भाजपा नेता की गाड़ी, भाजपा की पीसी में वीडियो जारी मिला जुला षड़यंत्र* *ईडी ही भाजपा है और भाजपा ही ईडी है* राजीव भवन में पत्रकारों से चर्चा करते हुये प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि ईडी ही भाजपा है और भाजपा ही ईडी है। भाजपा की केंद्र सरकार और छत्तीसगढ़ के भाजपा के नेता तथा ईडी ने मिलकर छत्तीसगढ़ के चुनावों से जनता का ध्यान भटकाने प्रदेश के मुख्यमंत्री की छवि खराब करने का षड़यंत्र रचा है। भाजपा के कार्यकर्ता के बयान पर ईडी आरोप लगाती है भाजपा नेता के भाई की गाड़ी से कैश जप्त होता है, भाजपा अपने दफ्तर से वीडियो जारी करती है यह रिश्ता क्या कहलाता है? *क्रोनोलॉजी समझिये* ईडी एक ड्राइवर (कैश कुरियर) को पकड़ती है उसके बयान के आधार पर प्रेस नोट जारी करके मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के ऊपर महादेव एप्प से 508 करोड़ रू. लेने का आरोप लगाती है। फिर इसी के संदर्भ में ईडी महादेव एप्प के एक कर्मचारी शुभम सोनी का एक सपोर्टिंग मेल का हवाला देकर इस आरोप की पुष्टि करवाती है। दूसरे दिन भाजपा के कार्यालय से एक वीडियो जारी होता है जिसमें एक शुभम सोनी नाम का व्यक्ति खुद को महादेव एप्प का मालिक घोषित करता है तथा अभी तक महादेव एप्प के चर्चित मालिक सौरभ चंद्राकर, रवि उप्पल को कर्मचारी बताता है। *सवाल यह खड़ा होता है-* शुभम सोनी के इस वीडियो को भारतीय जनता पार्टी ने क्यों रिलीज किया? भाजपा के पास कहां से आया? यदि यह वीडियो शुभम सोनी ने भाजपा को भेजा है तो उसने भाजपा को ही क्यों भेजा, इनके क्या संबंध है? ईडी इसकी जांच करें भाजपा के पास यह कहां से आया? ऽ अगर ईडी के पास साक्ष्य आया तो एजेंसी को उसकी पुष्टि करना चाहिये या उसकी जांच किये बिना सार्वजनिक करके किसी की छवि खराब करने का प्रयास करना चाहिये। ऽ ईडी ने ड्राइवर असीम दास के बयान की बिना जांच किये मुख्यमंत्री की छवि खराब करने के उद्देश्य से प्रेस नोट जारी किया यह सब इसलिये किया गया ताकि चुनाव में बुरी तरह पराजित हो रही भाजपा की मदद की जा सके। जबकि प्रेस नोट में ही लिखा है कि ‘‘अभी जांच होनी है।’’ ऽ एक सटोरिया वीडियो बना कर कुछ भी बोल देगा भाजपा, ईडी उसको प्रचारित कर रही है यह इनकी नीयत को बताती है। ऽ यह सारी साजिश चुनाव के मुख्य मुद्दे से ध्यान भटकाया जा सके। ऽ ईडी महीनों से ‘महादेव एप्प’ की जांच कर रही है। वह दो दिन पहले तक शुभम सोनी को मैनेजर बता रही थी जबकि सोनी खुद को मालिक बता रहा है। तो सच क्या है? ऽ ईडी के वकील सौरभ पांडे ने एक टीवी चैनल से कहा है कि कूरियर दुबई से सीधे पैसे लेकर आया तो सवाल है कि दुबई में भारतीय मुद्रा कैसे हासिल हुई? दूसरा अगर वह दुबई से लेकर आया है तो रास्ते में कहीं जांच क्यों नहीं हुई? छत्तीसगढ़ में जगह-जगह जांच हो रही है। वह किस रास्ते से आया और रास्ते में उसे पकड़ा क्यों नहीं गया? ऽ एक समाचार वेबसाइट ने पड़ोसियों के बयान के आधार पर विस्तार से बताया है कैसे एक सूने घर में कुछ लोग पैसा रखकर गए। ये कुछ लोग कौन थे? *भाजपा नेता की इनोवा से कैश जप्त हुआ* ईडी ने एक काले कलर की इनोवा कार से भी कैश जप्त किया था जो होटल के बेसमेंट में खड़ी थी। इस ब्लैक कार का नंबर CG 12 AR 6300 है इसका रजिस्ट्रेशन कोरबा जिले का है। आरटीओ में यह कार सनफ्लावर हाउसिंग प्राइवेट लिमिटेड (बृजमोहन अग्रवाल) के नाम पर रजिस्टर्ड है, (इस कंपनी के मालिक बृजमोहन अग्रवाल है जो बिलासपुर के पूर्व विधायक और भाजपा शासन में मंत्री रहे अमर अग्रवाल के भाई है। बृजमोहन अग्रवाल बिलासपुर में बिल्डर है।) ईडी ने एक काले कलर की इनोवा कार से कैश जप्त किया था जो होटल के बेसमेंट में खड़ी थी। लेकिन अभी तक इस गाड़ी की डिटेल ईडी ने नहीं दी है। सूत्रों से जानकारी मिली है यह गाड़ी एक बड़े बिल्डर की है जो बीजेपी नेता का रिश्तेदार बताया जा रहा है। हालांकि गाड़ी का रजिस्ट्रेशन कोरबा जिले का है। अब सवाल उठ रहे है कि आखिर बीजेपी नेता के रिश्तेदार बिल्डर की कार से जप्त कैश किसके लिए लाया गया था और इस रकम को कहां और किसे बांटा जाना था? लेकिन इस पूरे मामले में ईडी ने कार ड्राइवर असीम को आरोपी बना लिया पर कार मालिक से मामले में अभी तक कोई पूछताछ नहीं हुई है। सवाल यह भी है कि बिना मालिक के जानकारी के इतनी बड़ी रकम ड्राइवर कैसे ला सकता है? आखिर कार मालिक की इस मामले में क्या भूमिका है? कार का असली मालिक कौन है? भाजपा के कार्यकर्ता असीम दास से रकम जप्त होती है, और भाजपा नेता के रिश्तेदार की गाड़ी से पैसा जप्त होता है, आरोप कांग्रेस पर लगाया जाता है, सीधा मतलब यह सब चुनावी साजिश है। वरिष्ठ प्रवक्ता आर.पी. सिंह, धनंजय सिंह ठाकुर, घनश्याम राजू तिवारी, सुरेंद्र वर्मा, महेंद्र छाबड़ा, अजय साहू, प्रवक्ता अजय गंगवानी, मणि वैष्णव उपस्थित थे।
  • कांग्रेस के भरोसे के घोषणा पत्र में कौन हुआ वंचित ? किसे मिला फायदा ?
    भरोसे के घोषणा पत्र में घरेलू महिलाओं के साथ साथ कामकाजी महिलाओं के लिए कोई योजना नहीं स्व सहायता समूह की महिलाओं का किया गया कर्ज माफ कांग्रेस का घोषणा पत्र जारी करते हुए छत्तीसगढ़ की प्रदेश प्रभारी कुमारी शैलजा ने कांग्रेस के भरोसे का घोषणा पत्र जारी किया जिसमें कहा गया की वादा है फिर निभाएंगे 20 वादों के साथ कांग्रेस छत्तीसगढ़ में दोबारा सरकार बनाने का दावा कर रही है जिसमें पहले नंबर पर किसानों को रखा गया है 1. घोषणा पत्र के अनुसार किसानों का इस बार भी कर्ज माफ किया जाएगा 2.कांग्रेस की घोषणा पत्र के अनुसार सरकार अब धान 3200 रूपये प्रति क्विंटल में खरीदेगी 3. किसानों से 20 क्विंटल प्रति एकड़ के हिसाब से धान खरीदी 4. दोबारा सरकार बनने पर प्रदेश में सभी को 200 यूनिट तक बिजली फ्री दी जाएगी 5. घोषणा पत्र के अनुसार प्रदेश के सभी सरकारी स्कूलों और कॉलेज में क से ग तक निशुल्क शिक्षा का प्रावधान रखा गया है 6. प्रदेश में कांग्रेस की फिर से सरकार बनने पर महतारी न्याय योजना के तहत प्रत्येक गैस सिलेंडर की रिफिलिंग पर₹500 की सब्सिडी दी जाएगी 7. तेंदूपत्ता संग्रह को को प्रति मानक बोरा 4000 की जगह अब ₹6000 मिलेंगे और सालाना ₹4000 का बोनस अतिरिक्त दिया जाएगा 8. कांग्रेस ने अपने भरोसे के घोषणा पत्र में यह ऐलान किया है की 17 लाख गरीब परिवारों को मुख्यमंत्री आवास न्याय योजना के तहत आवास उपलब्ध कराया जाएगा 9. भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना के अंतर्गत आने वाले सभी हितग्राहियों को मिलने वाली ₹7000 प्रतिवर्ष की राशि को बढ़ाकर ₹10000 किया जाएगा 10. गरीब परिवारों को 10 लाख रुपए तक का मुफ्त इलाज की सुविधा का प्रावधान रखा गया है और गरीबी रेखा से ऊपर के लोगों को अब 50 हजार रुपए की जगह 5 लाख रूपए तक निशुल्क इलाज की सुविधा प्रदान की जाएगी 11. प्रदेश के सभी सरकारी स्कूलों को अब स्वामी आत्मानंद इंग्लिश एवं हिंदी मीडियम स्कूलों में अपग्रेड किया जाएगा 12. घोषणा पत्र के अनुसार मुख्यमंत्री विशेष स्वास्थ्य सहायता योजना के तहत सड़क दुर्घटनाओं में तथा अन्य आकस्मिक दुर्घटनाओं में छत्तीसगढ़ के निवासियों को निशुल्क स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी 13. भरोसे की घोषणा पत्र में फिर से कांग्रेस की सरकार बनते ही महिला स्वास्थ सहायता समूहों तथा महिलाओं द्वारा सक्षम योजना अंतर्गत लिए गए ऋण माफ किए जाएंगे 14. अगली बार कांग्रेस की सरकार बनते ही घोषणा पत्र के अनुसार तीव्र को भी समर्थन मूल्य पर खरीदा जाएगा 15. जिसकी जितनी आबादी उसका उतना हक को ध्यान में रखते हुए घोषणा पत्र के अनुसार प्रदेश में जातिगत जनगणना करवाने का वादा कांग्रेस ने किया है 16. छत्तीसगढ़ में परिवहन व्यवसाय से जुड़े 66 हजार से अधिक वाहन मालिकों के वर्ष 2018 तक के 726 करोड़ के बकाया मोटरयान कर शास्त्री और ब्याज के कर्ज माफ किए जाएंगे 17. युवाओं को उद्योग व्यवसाय के लिए ऋण पर 40% की जगह अब 50% सब्सिडी के साथ रन की सुविधा दी जाएगी 18. प्रदेश में कांग्रेस की दोबारा सरकार बनते ही आगामी वर्षों में 709 ग्रामीण औद्योगिक पार्कों की स्थापना करने की घोषणा की गई है | 19. कांग्रेस ने अपने घोषणा पत्र में लघु वन उपज की एसपी पर अतिरिक्त ₹10 किलो देने का ऐलान किया है | 20. कांग्रेस ने इस बार के अपने भरोसे के घोषणा पत्र में एक विशेष घोषणा की है जिसके अनुसार छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की दोबारा सरकार बनते ही शहरी निकाय क्षेत्रों में अंत्येष्टि के लिए लकड़ी का प्रबंध सरकार की ओर से किया जाएगा इस प्रकार छत्तीसगढ़ विधानसभा 2023 के चुनाव में कांग्रेस द्वारा जारी भरोसे के घोषणा पत्र में 20 घोषणाओं का उल्लेख किया गया है | कांग्रेस के आज जारी इस चुनावी घोषणा पत्र में महिलाओं के लिए किसी भी तरह की कोई भी योजना का उल्लेख नहीं है चाहे वह कामकाजी महिला हो या घरेलू महिला स्कूल की छात्राएं हो या कॉलेज जाने वाली युवतियां , इसके साथ ही मध्यम वर्ग की परिवारों को बिजली में छठ के अलावा किसी तरह का शासन की योजनाओं का इस घोषणा पत्र में कोई उल्लेख नहीं है देखने वाली बात यह है कि मध्यम वर्ग की परिवार ही नियमानुसार शासन को राजस्व देने में सबसे आगे रहता है और इस माध्यम वर्गी परिवार के लिए कभी भी कोई भी पार्टी उनके हित के लिए कोई योजना की घोषणा नहीं करती ?
  • कांग्रेस के भरोसे के घोषणा पत्र में कौन हुआ वंचित ?
    भरोसे के घोषणा पत्र में घरेलू महिलाओं के साथ साथ कामकाजी महिलाओं के लिए कोई योजना नहीं स्व सहायता समूह की महिलाओं का किया गया कर्ज माफ कांग्रेस का घोषणा पत्र जारी करते हुए छत्तीसगढ़ की प्रदेश प्रभारी कुमारी शैलजा ने कांग्रेस के भरोसे का घोषणा पत्र जारी किया जिसमें कहा गया की वादा है फिर निभाएंगे 20 वादों के साथ कांग्रेस छत्तीसगढ़ में दोबारा सरकार बनाने का दावा कर रही है जिसमें पहले नंबर पर किसानों को रखा गया है 1. घोषणा पत्र के अनुसार किसानों का इस बार भी कर्ज माफ किया जाएगा 2.कांग्रेस की घोषणा पत्र के अनुसार सरकार अब धान 3200 रूपये प्रति क्विंटल में खरीदेगी 3. किसानों से 20 क्विंटल प्रति एकड़ के हिसाब से धान खरीदी 4. दोबारा सरकार बनने पर प्रदेश में सभी को 200 यूनिट तक बिजली फ्री दी जाएगी 5. घोषणा पत्र के अनुसार प्रदेश के सभी सरकारी स्कूलों और कॉलेज में क से ग तक निशुल्क शिक्षा का प्रावधान रखा गया है 6. प्रदेश में कांग्रेस की फिर से सरकार बनने पर महतारी न्याय योजना के तहत प्रत्येक गैस सिलेंडर की रिफिलिंग पर₹500 की सब्सिडी दी जाएगी 7. तेंदूपत्ता संग्रह को को प्रति मानक बोरा 4000 की जगह अब ₹6000 मिलेंगे और सालाना ₹4000 का बोनस अतिरिक्त दिया जाएगा 8. कांग्रेस ने अपने भरोसे के घोषणा पत्र में यह ऐलान किया है की 17 लाख गरीब परिवारों को मुख्यमंत्री आवास न्याय योजना के तहत आवास उपलब्ध कराया जाएगा 9. भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना के अंतर्गत आने वाले सभी हितग्राहियों को मिलने वाली ₹7000 प्रतिवर्ष की राशि को बढ़ाकर ₹10000 किया जाएगा 10. गरीब परिवारों को 10 लाख रुपए तक का मुफ्त इलाज की सुविधा का प्रावधान रखा गया है और गरीबी रेखा से ऊपर के लोगों को अब 50 हजार रुपए की जगह 5 लाख रूपए तक निशुल्क इलाज की सुविधा प्रदान की जाएगी 11. प्रदेश के सभी सरकारी स्कूलों को अब स्वामी आत्मानंद इंग्लिश एवं हिंदी मीडियम स्कूलों में अपग्रेड किया जाएगा 12. घोषणा पत्र के अनुसार मुख्यमंत्री विशेष स्वास्थ्य सहायता योजना के तहत सड़क दुर्घटनाओं में तथा अन्य आकस्मिक दुर्घटनाओं में छत्तीसगढ़ के निवासियों को निशुल्क स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी 13. भरोसे की घोषणा पत्र में फिर से कांग्रेस की सरकार बनते ही महिला स्वास्थ सहायता समूहों तथा महिलाओं द्वारा सक्षम योजना अंतर्गत लिए गए ऋण माफ किए जाएंगे 14. अगली बार कांग्रेस की सरकार बनते ही घोषणा पत्र के अनुसार तीव्र को भी समर्थन मूल्य पर खरीदा जाएगा 15. जिसकी जितनी आबादी उसका उतना हक को ध्यान में रखते हुए घोषणा पत्र के अनुसार प्रदेश में जातिगत जनगणना करवाने का वादा कांग्रेस ने किया है 16. छत्तीसगढ़ में परिवहन व्यवसाय से जुड़े 66 हजार से अधिक वाहन मालिकों के वर्ष 2018 तक के 726 करोड़ के बकाया मोटरयान कर शास्त्री और ब्याज के कर्ज माफ किए जाएंगे 17. युवाओं को उद्योग व्यवसाय के लिए ऋण पर 40% की जगह अब 50% सब्सिडी के साथ रन की सुविधा दी जाएगी 18. प्रदेश में कांग्रेस की दोबारा सरकार बनते ही आगामी वर्षों में 709 ग्रामीण औद्योगिक पार्कों की स्थापना करने की घोषणा की गई है | 19. कांग्रेस ने अपने घोषणा पत्र में लघु वन उपज की एसपी पर अतिरिक्त ₹10 किलो देने का ऐलान किया है | 20. कांग्रेस ने इस बार के अपने भरोसे के घोषणा पत्र में एक विशेष घोषणा की है जिसके अनुसार छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की दोबारा सरकार बनते ही शहरी निकाय क्षेत्रों में अंत्येष्टि के लिए लकड़ी का प्रबंध सरकार की ओर से किया जाएगा इस प्रकार छत्तीसगढ़ विधानसभा 2023 के चुनाव में कांग्रेस द्वारा जारी भरोसे के घोषणा पत्र में 20 घोषणाओं का उल्लेख किया गया है | कांग्रेस के आज जारी इस चुनावी घोषणा पत्र में महिलाओं के लिए किसी भी तरह की कोई भी योजना का उल्लेख नहीं है चाहे वह कामकाजी महिला हो या घरेलू महिला स्कूल की छात्राएं हो या कॉलेज जाने वाली युवतियां , इसके साथ ही मध्यम वर्ग की परिवारों को बिजली में छठ के अलावा किसी तरह का शासन की योजनाओं का इस घोषणा पत्र में कोई उल्लेख नहीं है देखने वाली बात यह है कि मध्यम वर्ग की परिवार ही नियमानुसार शासन को राजस्व देने में सबसे आगे रहता है और इस माध्यम वर्गी परिवार के लिए कभी भी कोई भी पार्टी उनके हित के लिए कोई योजना की घोषणा नहीं करती ?
  • कांग्रेस ने छत्तीसगढ़ का घोषणा पत्र किया लॉन्च
    भरोसे का घोषणा पत्र के नाम से प्रदेश प्रभारी कुमारी सैलजा ने रायपुर के प्रदेश कांग्रेस कार्यालय से घोषणा पत्र का अनावरण किया | भूमिहीनों को 10 हजार रुपए देगी कांग्रेस सरकार धान का समर्थन मूल्य 3200 सौ बिजली बिल 200 यूनिट तक फ्री गैस सिलेंडर पर 500 सौ रुपए की सब्सिडी देगी कांग्रेस सरकार 17 लाख 50 हजार लोगों को आवास उपलब्ध करवाए जायेंगे 10 लाख रुपए तक का मुफ्त इलाज गरीबों को और 5 लाख रुपए तक का इलाज APL राशन कार्ड धारी लोगों को